आर्थिक तंगी से तंग आकर माँ ने अपने चार बच्चो का गला घोंट खुद लगा ली फांसी।।

20

थाना फरह की रिपोर्टिंग पुलिस चौकी ओल के गांव बिरौनाकलां में रविवार की शाम विवाहिता ने अपने चार बच्चों को मौत की नींद सुलाकर खुदकुशी कर ली। इसकी जानकारी होने पर गांव में कोहराम मच गया। मौत के पीछे आर्थिक तंगी की चर्चा है।
ओल की भदेरुआ पंचायत के गांव विरौनाकलां निवासी देवकी नंदन मजदूरी करके अपने परिवार का पालन करता था। बताते हैं कि रविवार को शाम करीब साढ़े पांच बजे संदिग्ध परिस्थिति में उसकी पत्नी शारदा (35) ने अपनी बेटी अंजलि (9), रौनक (7), प्रिया (5) व ढाई वर्षीय बेटे विनीत की गला दबा कर हत्या करने के बाद खुद ने गले में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। इसकी जानकारी परिजनों को होते ही हाहाकार मच गया।
कुछ ही देर में गांव में खबर फैली और भीड़ उमड़ पड़ी। इलाका पुलिस के अलावा एसएसपी स्वप्निल ममगाई, एसपी सिटी श्रवण कुमार सिंह ने मौका मुआयना कर शवों को कब्जे में लिया। मौत के कारणों के पीछे चर्चा है कि शारदा के पेट में पथरी थी। फरह के प्रभारी निरीक्षक इंद्रेश भदौरिया ने बताया कि पति मजूदरी करके बमुश्किल बच्चों का भरण-पोषण कर पाता था। इसके चलते उसकी बीमारी का उपचार नहीं हो रहा था।
वह काफी व्यथित थी। चर्चा है कि शारदा ने आर्थिक तंगी से तंग आकर बच्चों को मारने के बाद आत्महत्या की है। वहीं गृह क्लेश भी कारण बताया जा रहा है। एसएसपी स्वप्निल ममगाई ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। उसके बाद कोई कार्रवाई की जाएगी।