रेल मंत्री पियूष गोयल ने दिया बड़ा तोहफा, रेलयात्रियों को अब नहीं देने होंगे एक्स्ट्रा पैसे।

225

पिछले महीने हुए रेल दुर्घटनाओं के बाद रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने इस्तीफा दे दिया। जिसके बाद पियूष गोयल नए रेल मंत्री बने। रेल मंत्रालय की जिम्मेदारी संभालते ही पियूष गोयल ने रेलयात्रियों को एक बड़ा तोहफा दिया है। अगर आप भी ट्रेन से सफर करते हैं तो आपके लिए ये बड़ी खबर है। ट्रेन में सफर कर रहे यात्रियों को सफर के दौरान अब एक्सट्रा पैसे नहीं देने होंगे।


रेलमंत्री पीयूष गोयल ने रेलकर्मियों को चेतावनी दी है कि 48 घंटों के अंदर यात्रियों से टिप और खाने के ज्यादा पैसे लेना बंद कर दें और अगर ऐसा नहीं हुआ तो दोषि‍यों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। गोयल ने देश के सभी जोनल रेल इकाइयों को भेजे अपने इस पत्र को तुरंत प्रभाव से यह सब रोकने को कहा है। हालांकि, ऐसा पहली बार नहीं है जब रेलवे में खाने के ज्यादा पैसे वसूलने के मामलों से निपटने की कोशिश न की गई है लेकिन किसी रेल मंत्री द्वारा भेजा गया इस तरह का अल्‍टीमेटम पहली बार है।

रेलमंत्री और मंत्रालय के निर्देशों के बाद IRCTC हरकत में आ गया है। उसने अपने कैटरिंग कॉन्ट्रैक्टर्स से अल्टीमेटम पर अमल करने को कहा है। साथ ही कहा गया है कि जो इसका उल्लंघन करेगा, उस पर भारी पेनाल्टी लगाई जायेगी। इसे लेकर रेलवे कैटरिंग इंस्पेक्टर्स ट्रेन में इस बात का निरीक्षण करेंगे कि क्या यात्रियों से ज्यादा पैसे तो नहीं वसूले जा रहे।


इसके अलावा टिप वसूलने की शिकायतों को मॉनिटर करने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स भी खंगाले जाएंगे। आपको बता दें कि शताब्‍दी एक्सप्रेस में लंबे समय से यात्रियों से टिप्स की मांग करना सौदे का हिस्सा बन गया। ट्रेनों में ‘नो टिप’ का स्टीकर लगा होता है लेकिन यह सरकार की चेतावनी को सिर्फ मुंह चिढ़ाने का काम करते हैं क्योंकि जैसे ही आपकी यात्रा खत्म होती है स्टॉफ एक ट्रे लेकर टिप के लिए खड़ा हो जाता है।

बताया जाता है कि साल 2015-16 में रेल से यात्रा कर रहे एक केंद्रीय मंत्री ने कैटरिंग स्टाफ की टिप्स लेने की तस्वीर लेकर पूर्व रेलमंत्री सुरेश प्रभु को भेजी थी जिसके बाद रेलवे में हड़कंप मच गया था। इसके बाद उन्होंने अवैध वसूली रोकने की कवायद शुरू की लेकिन, बाद में अधिकारी इसे भूल गए।