सीरीज़ डिसाइडर में टीम इंडिया का एकमात्र लक्ष्य है जीत

वनडे श्रृंखला में आस्ट्रेलिया पर धमाकेदार जीत के बाद भारत ने रांची में पहला टी20 मैच भी नौ विकेट से जीता लेकिन गुवाहाटी में उसे पराजय झेलनी पड़ी.

आस्ट्रेलिया के खिलाफ हालिया सफलता के बावजूद कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि उसे हराना हमेशा कठिन होता है. गुवाहाटी में आठ विकेटसे जीत के बाद आस्ट्रेलिया निर्णायक मैच में बुलंद हौसलों के साथ उतरेगा.

भारत बारसापारा स्टेडियम में खेल के हर विभाग में उन्नीस साबित हुआ. आस्ट्रेलिया के नये तेज गेंदबाज जासन बेहरेंडोर्फ के सामने भारत का मजबूत बल्लेबाजी क्रम टिक नहीं सका. कप्तान कोहली खाता भी नहीं खोल सके और बाकी बल्लेबाजों का भी उल्लेखनीय योगदान नहीं रहा. अब वे अपनी गलतियों से सबक लेकर उतरेंगे.

गुवाहाटी में भारत के स्ट्राइक गेंदबाजों का प्रदर्शन अच्छा रहा लेकिन स्पिनर युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव की मोइजेस हेनरिक्स और ट्रेविस हेड ने जमकर धुनाई की. दोनों ने निर्णायक 109 रन की साझेदारी की.

यादव ने या तो बहुत शार्ट गेंदें डाली या फुल गेंद फेंकी और बल्लेबाजों को उसे भांपने में कोई दिक्कत नहीं हुई. इसके अलावा ओस की भूमिका भी अहम रही क्योंकि आस्ट्रेलियाई पारी में गेंद अधिक टर्न नहीं ले रही थी.

स्पिनरों के नाकाम रहने के बावजूद कप्तान कोहली बदलाव करके अक्षर पटेल को उतारेंगे, इसकी संभावना नहीं दिखती. तेज गेंदबाजी में भी आशीष नेहरा का बाहर रहना तय है जो अगली श्रृंखला में क्रिकेट से संन्यास का ऐलान करने जा रहे हैं.

आस्ट्रेलिया ने वनडे श्रृंखला में एक मैच जीता था लेकिन गुवाहाटी में जिस तरह का खेल उसने दिखाया, उससे लगता है कि टीम ने खोई लय हासिल कर ली है.

नियमित कप्तान स्टीव स्मिथ की गैर मौजूदगी में डेविड वार्नर ने अच्छा प्रदर्शन किया. बेहरेंडोर्फ ने उम्दा गेंदबाजी करके उनका काम आसान कर दिया और बल्लेबाजी में उपर भेजे गए हेनरिक्स भी कप्तान के भरोसे पर खरे उतरे.

लेग स्पिनर एडम जाम्पा ने बीच के ओवरों में दो विकेट लिये और उनसे कल भी ऐसे ही प्रदर्शन की उम्मीद होगी.

राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम की पिच बल्लेबाजों के लिये अच्छी है और दर्शकों को इस पर काफी रन बनने की उम्मीद होगी. यहां आईपीएल मैच नियमित खेले जाते हैं लेकिन टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच पहली बार हो रहा है. यहां कल बारिश गिरने के भी आसान नजर आ रहे हैं.