Monday, May 27, 2019
Sports

अंपायर की ‘जल्दबाजी’ से आउट हुए ‘अनलकी’ विराट कोहली ….

भारतीय कप्तान विराट कोहली ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ रविवार (16 दिसंबर) को बेहतरीन पारी खेल रहे थे. वे शतक बना चुके थे और अब टीम इंडिया को दूसरे टेस्ट में मजबूती की ओर ले जा रहे थे, लेकिन तभी वे अंपायर की जल्दबाजी का शिकार हो गए. विराट कोहली जब 123 के स्कोर पर थे, तब पैट कमिंस की गेंद उनके बल्ले का किनारा लेकर दूसरी स्लिप पर पहुंची. पीटर ने इसे पकड़ने के बाद कैच का दावा किया, जिसे अंपायर ने सही मानकर उंगली ऊपर उठा दी. अंपायर की यही जल्दबाजी कोहली पर भारी पड़ी और उन्हें पैवेलियन लौटना पड़ा.

तो क्या विराट कोहली आउट नहीं थे
भारतीय कप्तान विराट आउट होकर पैवेलियन लौट चुके हैं. इसलिए इस सवाल का अब ज्यादा मतलब नहीं रह गया है. लेकिन यह सच है कि अगर अंपायर ने जल्दबाजी में उंगली उठाने की बजाय तीसरे अंपायर से मदद ली होती तो कोहली नॉटआउट करार दिए जाते. टीवी रिप्ले में साफ दिखा कि गेंद पीटर हैंड्सकॉम्ब के हाथों में समाने के पहले जमीन को छू चुकी थी.

तीसरे अंपायर ने कोहली को नॉटआउट क्यों नहीं दिया
क्रिकेट के सभी नियम स्पष्ट हैं. बल्लेबाज के आउट होने के तरीके से लेकर अंपायरों की भूमिका तक सभी स्पष्ट हैं. ऐसे ही एक नियम में कहा गया है कि विवादित कैच होने की स्थिति में तीसरे अंपायर से मदद लेने से पहले मैदानी अंपायर को अपना निर्णय देना होगा. यानी, वह निर्णय रेफर करने से पहले यह बताएगा कि खिलाड़ी आउट है या नहीं. तीसरा अंपायर उस निर्णय को तभी पलटेगा, जब उसके पास ऐसा करने के लिए 100% सबूत हो. विराट कोहली के मामले में मैदानी अंपायर ने उन्हें आउट दे दिया था. विवादित स्थिति होने के कारण ही तीसरे अंपायर ने फैसला नहीं बदला.

तो तीसरा अंपायर भी कोहली को नॉटआउट देता
पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर और ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क इस बात पर सहमत थे कि अगर मैदानी अंपायर ने कोहली को आउट नहीं दिया होता, तो तीसरा अंपायर भी उन्हें नॉटआउट ही करार देता. सुनील गावस्कर ने तो यह भी कहा कि तीसरे अंपायर के पास इस बात के पूरे सबूत थे कि गेंद हैंड्सकॉम्ब की हाथों में जाने से पहले जमीन को छू चुकी थी, पर शायद तीसरे अंपायर को नहीं लगा कि उनके पास निर्णय पलटने के लिए पर्याप्त सबूत थे. इस तरह विराट कोहली का होना एक तरह से ‘अनलकी’ कहा जाएगा.

Advertisements
%d bloggers like this: