Thursday, February 27, 2020
Uttar Pradesh

अखिलेश यादव को प्रदेश का अगला मुख्यमन्त्री बनाकर लिया जाएगा ब्राह्मणो की हत्याये और उत्पीड़न का बदला :- डॉ के सी पाण्डेय

लखनऊ–अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा के “केन्द्रीय मार्गदर्शक मण्डल”ने आज फैसला लिया है कि भाजपा सरकार में निरन्तर हो रही ब्राह्मणो की हत्याये और उत्पीड़न का बदला 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में सपा सुप्रीमो श्री अखिलेश यादव को प्रदेश का अगला मुख्यमन्त्री बनाकर लिया जाएगा, इसके लिए 2020 तथा2021 में गाँव-गॉव में ब्राह्मण समाज को लामबंद किया जायेगा ।

आज दारुलशफा(विधायक निवास) 141 नई बी ब्लॉक के सभागार में”केन्द्रीय मार्गदर्शक मण्डल” की महत्वपूर्ण बैठक के बाद उक्त जानकारी देते हुए अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश सरकार के पूर्व राज्यमन्त्री डॉ के सी पाण्डेय ने बताया कि प्रदेश के कुल मतदाताओं का 17.8% ब्राह्मण मतदाता है और जब विशाल ब्राह्मण समाज ने 2012 में अपने मतदाताओं का 40%मतदान पहली बार सपा के समर्थन में किया था तो सपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनी थी। आज यू पी में भाजपा की नही अपितु”एक जाति विशेष की सरकार चल रही है।” बाकि जातियां भयंकर दुर्दशा की शिकार है। हम महर्षि चाणक्य के सन्तान है और हमने संकल्प ले लिया है कि भाजपा को हटाना है।

डॉ पाण्डेय ने कहा कि भाजपा की सरकार ने स्वर्ण आयोग का गठन नही किया और न तो हमारे ईष्ट भगवान श्री परशुराम जयन्ती को सार्वजनिक अवकाश घोषित किया। इतना ही नही पंडितों-पुरोहितों को मासिक पेन्शन नही घोषित किया गया जबकि साधु संतों को यू पी सरकार पेंशन दे रही है।यह ब्राह्मणो के साथ घनघोर अन्याय है।

बैठक में केन्द्रीय मार्गदर्शक मण्डल के सदस्य सर्वश्री कृष्ण गोपाल पाण्डेय एडवोकेट, पण्डित आर के मिश्र, अभिमन्यु पाण्डेय एडवोकेट, महन्थ हरिशंकर दास, आचार्या बंशीधर पाण्डेय, चंद्र किशोर पाण्डेय, परशुराम सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनूप पाण्डेय, महिला ब्राह्मण सभा की अध्यक्ष वन्दना चतुर्वेदी, वेद प्रकाश शर्मा, आशुतोष मिश्र एडवोकेट, आचार्य जगदीश नारायण पाण्डेय, अरविंद मिश्रा सहित सभी 75 सदस्यों ने उपस्थित होकर भाजपा को घोर ब्राह्मण विरोधी बताया ।

Advertisements
%d bloggers like this: