Sunday, June 16, 2019
Gorakhpur

अच्छी खबर: गोरखपुर में दो हफ्ते में शुरू होगा 100 बेड का मैटरनिटी विंग, सीएम करेंगे उद्घाटन…

गोरखपुरवालों के लिए अच्छी खबर है। महिला अस्पताल में बने 100 बेड के मैटरनिटी विंग का संचालन दो हफ्ते में शुरू हो जाएगा। इसका उद्घाटन सीएम कर सकते हैं। यह कहना है प्रमुख सचिव स्वास्थ्य प्रशांत त्रिवेदी का।

उन्होंने शुक्रवार को मेटरनिटी विंग का निरीक्षण किया। उनके साथ सीडीओ अनुज कुमार सिंह, सीएमओ डॉ. श्रीकांत तिवारी, महिला अस्पताल के एसआईसी डॉ. डीके सोनकर और जिला अस्पताल के एसआईसी डॉ. राजकुमार गुप्ता मौजूद रहे। इस दौरान उन्होंने नव निर्मित का निर्माण करने वाली कार्यदायी संस्था उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम के अधिकारियों से बात की। अधिकारियों ने बताया कि मेटरनिटी विंग का निर्माण लगभग पूरा हो गया है। इसमें अस्पताल का संचालन किया जा सकता है।

दूसरे जिले से भेजे जाएंगे संविदाकर्मी

उन्होंने बताया कि सूबे में ऐसे 40 मेटरनिटी विंग बनाए गए हैं। इनमें से गोरखपुर समेत 15 को पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप(पीपीपी) माडल पर संचालित होना था। इसके लिए हिन्दुस्तान लेटेक्स फैमिली प्लानिंग प्रमोशन ट्रस्ट(एचएलएफपीपीटी) से समझौता हुआ। दूसरे 25 जिलो में बने मेटरनिटी विंग का संचालन स्वास्थ्य विभाग करने जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग ने 25 के संचालन की तैयारी शुरू कर दी। संविदा पर कर्मचारियों की भर्ती कर ली गई। अब पीपीपी माडल पर संचालित करने वाली फर्म ने हाथ खींच लिए हैं। ऐसे में एक जिले के मेटरनिटी विंग में तैनात कर्मचारियों का तबादला गोरखपुर किया जाएगा। फर्म ने करीब दो करोड़ रुपये के उपकरण खरीदे हैं। जो मेटरनिटी विंग में रखे हैं। इसका उपयोग अस्पताल संचालन में किया जाएगा। प्रमुख सचिव ने जिला अस्पताल में संचालित हो रहे डायलिसिस केंद्र का भी निरीक्षण किया।

जिला अस्पताल को मिले बेहोशी के डॉक्टर

जिला अस्पताल में ऑपरेशन कराने के लिए अब मरीजों को लंबा इंतजार नहीं करना होगा। प्रमुख सचिव की पहल पर अस्पताल को सीएमओ ने बेहोशक तैनात कर दिया है। पीपराइच सीएचसी के प्रभारी रहे डॉ. आरपी गौतम को तत्काल प्रभाव से सीएमओ ने जिला अस्पताल से संबद्ध किया है।

Advertisements
%d bloggers like this: