Saturday, July 31, 2021

अपनी पढ़ाई के लिए पंचर दुकान पर काम करते थे,कड़ी मेहनत से बन गए IAS अधिकारी

गोरखपुर के नवोदित कलाकारो से सजी फ़िल्म ‘ऑक्सीजन ‘के अभिनव प्रयास की खूब हो रही चर्चा

नवोदित कलाकारों को लेकर डॉ. सौरभ पाण्डेय की फ़िल्म 'ऑक्सीजन 'के अभिनव प्रयास ने रचा इतिहास

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण।

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण। ...

Maharajganj: प्राथमिक विद्यालय हो रहे मरम्मत कार्य में घटिया तरीके का किया जा रहा है प्रयोग

Maharajganj/Dhani: प्राथमिक विद्यालय हो रहें मरम्मत कार्य में अत्यन्त घटिया किस्म के मसाले व देशी बालू का अधिकता और सिमेन्ट नाम मात्र...

Maharajganj: नालियों के टूट जाने और समय से सफाई न होने से लोग हो रहे परेशान, जांच कर सम्बन्धित कर्मचारियों पर होगी कार्रवाई –...

महाराजगंज/धानी: महाराजगंज जनपद के धानी ब्लाक के अधिकारी भूल चूके हैं अपनी जिम्मेदारी। ग्राम सभा पुरंदरपुर के टोला केवटलिया में नाली टूट...

Maharajganj: दबंग पंचायत मित्र द्वारा किया जा रहा है अवैध नाली का निर्माण।

महराजगंज- फरेंदा ब्लॉक के अंतर्गत ग्राम सभा पिपरा तहसीलदार में पंचायत मित्र द्वारा अपने व्यक्तिगत नाली का निर्माण ग्राम सभा के मुख्य...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

परीक्षा में उत्तीर्ण हुए छात्रों ने इस कामयाबी तक पहुंचने के लिए जी तोड़ मेहनत की है। अपनी जिंदगी में बहुत से संघर्षों का सामना कर यह मुकाम हासिल किया है। कामयाबी के लिए अपने पथ पर अचल और अडिग रहने की ज़रूरत है। अगर आप रास्ते में आने वाले मुश्किलों से हार मान गए तो असफलता हाथ लगेेगी। आज की हमारी यह कहानी महारास्ट्र के “वरुण बरनवाल” की है जिन्होंने साइकिल रिपेयरिंग का काम करके IAS की उपाधि हासिल की है।

IAS वरुण बरनवाल

आईएएस (IAS) वरुण बरनवाल (Varun baranwal) का जन्म महारास्ट्र (Maharastra) के पालघर में हुआ। वरुण साल 2013 में UPSC की परीक्षा में 26वां रैंक हासिल कर गुजरात (Gujrat) में “डिप्टी कलेक्टर” के रूप में नियुक्त हुए। इन्हें अपने जीवन में बहुत ही संघर्ष करने के बाद कामयाबी हासिल हुई।

ये भी पढ़े :  दुष्कर्म के बाद महिला की हत्या, गांव के ही व्‍यक्ति पर आरोप...

पिता साइकिल रेपयेरिंग का काम करते थे

वरुण (Varun) के घर की आर्थिक स्थिति बहुत दयनीय थी जिसके कारण इनका बचपन बहुत ही कठिनाईयों से व्यतित हुआ। इनके पिता साइकिल रिपेयरिंग का कार्य कर घर की ज़रूरतें पूरी करते थें। कुछ वर्षों बाद इनके पिता का देहांत हो गया जिससे घर की पूरी जिम्मेदारी वरुण (Varun) के उपर आ गई।

ये भी पढ़े :  दो बच्चों को छोड़कर महिला देवर संग हुई फरार.…

वरुण की स्कूलिंग

वरुण पढ़ने में तेज़ – तरार थे और हमेशा क्लास में अव्वल अंक प्राप्त करते थे। वरुण जब 10वीं की परीक्षा दिए उस समय इनके पिता का साया इनके ऊपर से हट गया। जिससे इन्हें अपनी जिंदगी में बहुत बड़ा झटका लगा। पिता की मौत के बाद इन्होंने उनके कार्य को अपनाया और घर खर्चा चलाने लगे।

10वीं के रिजल्ट के बाद बढ़ा हौसला

कुछ महीनों बाद जब दसवीं का रिजल्ट घोषित हुआ उसमें वरुण ने टॉप किया था। रिजल्ट आने के बाद इनका हौसला अपने बुलंदी पर पहुंच गया और इन्होंने IAS बनने का मन बना लिया लेकिन इस समय सबसे बड़ी समस्या थी- पढ़ाई की तैयारी के लिए पैसे का इंतजाम करना।

डॉक्टर ने की मदद

वरुण (Varun) के पिता की जब तबीयत खराब थी, उस समय वह जिस डॉक्टर से अपने पिता का इलाज करा रहे थे वह डॉक्टर मदद के लिए आगे आये। डॉक्टर ने वरुण की फीस, फॉर्म, किताबों के साथ पढ़ाई का पूरा खर्च उठाया। वरुण ने अपनी पढ़ाई के लिए साइकिल रिपेयरिंग का काम करने के साथ-साथ ट्यूशन पढ़ाना भी शुरू किया।

ये भी पढ़े :  Maharajganj: थाना समाधान दिवस पर मंडलायुक्त, जिलाधिकारी, एसपी प्रदीप गुप्ता ने सुनी फरियाद।।

शिक्षक नें की फीस माफ़

कुछ समय पढ़ने के बाद वरुण ने अपने स्कूल के प्रिंसिपल से अपनी फीस माफ करने की बात कही। इनके घर की आर्थिक स्थिति देखकर प्रिंसिपल ने 2 साल की स्कूल की फीस माफ़ कर दी। इसके बाद की पढ़ाई ट्यूशन फीस और स्कॉलरशिप की मदद से पूरी हुई। इन्होंने बिना कोचिंग के IAS की परीक्षा में 26वीं रैंक हासिल कर यह साबित किया कि किसी भी सपने को पूरा करने के लिए मेहनत बहुत ज़रूरी है। वरूण देश के सभी युवाओं के लिए प्रेरणा हैं।

ये भी पढ़े :  बिग बॉस के कंटेस्टेंट रहे स्वामी ओम का निधन।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

Maharajganj: प्राथमिक विद्यालय हो रहे मरम्मत कार्य में घटिया तरीके का किया जा रहा है प्रयोग

Maharajganj/Dhani: प्राथमिक विद्यालय हो रहें मरम्मत कार्य में अत्यन्त घटिया किस्म के मसाले व देशी बालू का अधिकता और सिमेन्ट नाम मात्र...

शायर मुनव्वर राना के बोल, ‘दोबारा सीएम बने योगी तो यूपी छोड़ दूंगा’

लखनऊ: मशहूर शायर मुनव्वर राना एक बार फिर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं।उन्होंने कहा कि अगर योगी आदित्यनाथ दोबारा...

Maharajganj: CO सुनील दत्त दूबे द्वारा कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस महानिदेशक जोन गोरखपुर ने प्रशस्ति पत्र से नवाजा।

Maharajganj/Farenda: सीओ फरेन्दा सुनील दत्त दूबे को थाना पुरन्दरपुर में नवीन बीट प्रणाली के क्रियान्वयन में कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस...
%d bloggers like this: