Saturday, June 12, 2021

अपराधियो को अपनी गोली का निशाना बनाने वाले गोरखपुर के सिंघम एनकाउंटर स्पेशलिस्ट सत्य प्रकाश सिंह को मिला राष्ट्रपति का वीरता पुरस्कार व शौर्य चक्र…….

69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण के नियमों का बड़े पैमाने पर अव्हेलना को लेकर आज़ाद समाज पार्टी के जिलाध्यक्ष ने एसडीएम को सौंपा...

Maharajganj: 69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण के नियमों की बड़े पैमाने पर अवहेलना की गयी है जिसमें OBC वर्ग...

तेज रफ्तार कार से ऑटो की भिड़ंत, घायलों को पहुंचाया गया अस्पताल।

फरेंदा (महराजगंज): जनपद में हर रोज हो रहे सड़क हादसे चिंता का बड़ा सबब बनते जा रहे हैं। फरेंदा कस्बे के उत्तरी...

दूसरों की मदद करने से जो खुशी मिलती है वही असली आनंद :- पवन सिंह

कुछ करने से अगर खुशी की अनुभूति होती है तो उससे बढ़कर आनंद किसी में नहीं है। आनंद को शब्दों में व्यक्त...

फिल्‍मी स्‍टायल में कुछ इस तरह लाल जोड़े में दुल्हन का रूप धारण कर प्रेमिका की शादी में पहुंच गया प्रेमी और खुल गयी...

भदोही. जिले में एक युवक ने प्रेमिका से मिलने का ऐसा प्लान बनाया कि मामला खुलने के बाद लोगों ने दांतो तले...

शहीद नवीन सिंह के परिवार को पवन सिंह ने दिया सहयोग।

जम्मू कश्मीर में शहीद हुए गोरखपुर निवासी...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

अपराधियो को नाको चने चबवाने वाले और अपनी गोली का निशाना बनाने वाले गोरखपुर एसटीएफ के गांधी कहे जाने वाले प्रभारी निरीक्षक सत्य प्रकाश सिंह को राष्ट्रपति का पुलिस पदक व शौर्य चक्र सम्मान प्राप्त हुआ है।।2008 में गोरखपुर एसटीएफ में तैनाती के बाद उन्होंने अब तक 13 एनकाउंटर किये जिससे अपराधियो के मन मे पुलिस का ख़ौफ़ बैठ गया।।शांत स्वभाव के सत्य प्रकाश सिंह ने पहला एनकाउंटर डकैत धनश्याम केवट का किया यह मुठभेड़ 55 घँटे चला जिसमे कई सौ राउंड गोलियां चली पर अंततः घनश्याम केवट समेत तीन डकैत को मार गिराया।।पूर्वांचल के डकैत रूदल यादव और विजय हरजन का एनकाउंटर किया जिसके बाद वर्तमान मुख्यमंत्री तब सांसद रहे योगी आदित्यनाथ ने सत्यप्रकाश सिंह और उनके टीम की पीठ थपथपाई और राष्ट्रपति पदक के लिए पत्र लिखा।।

ये भी पढ़े :  क्या आप जानते है ..... ?

सरकारी नौकरी में जुगाड़ लगाकर साल्वर गिरोह का भंडाफोड़ करने वाले सत्यप्रकाश सिंह उस समय चर्चित हुए जब उन्होंने 2016 में धर्मेंद्र सिंह व उनके गिरोह के साथ कडजहा में अपनी टीम के साथ उसे घेर लिया जिसमे एनकाउंटर में धर्मेंद्र सिंह घायल हो गया पर इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।।इस टीम की अगुवाई एडिशनल एसपी विकास चन्द्र त्रिपाठी कर रहे थे।।एसटीएफ टीम ने सुमित सिंह उर्फ मोनू चवन्नी,चर्चित माफिया राकेश राय और सोनू रॉक,महेश राय जैसे कई इनामी अपराधियो को गिरफ्तार भी किया।।

ये भी पढ़े :  क्या आप जानते है ..... ?

मूलतः आजमगढ़ के रहने वाले सत्यप्रकाश सिंह की पुलिस विभाग में इलाहाबाद जिला पुलिस में नियुक्ति हुई।।जिसके बाद उन्हें सक्रिय देखते हुए इलाहाबाद एसटीएफ में भेज दिया गया फिर 2008 में उन्हें गोरखपुर में पोस्टिंग मिली और वर्तमान में वो गोरखपुर एसटीएफ के प्रभारी निरीक्षक है।।गोरखपुर टाइम्स न्यूज़ नेटवर्क गोरखपुर वासियो के तरफ से उन्हें सम्मान मिलने पर शुभकामनाए देता है।।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

दूसरों की मदद करने से जो खुशी मिलती है वही असली आनंद :- पवन सिंह

कुछ करने से अगर खुशी की अनुभूति होती है तो उससे बढ़कर आनंद किसी में नहीं है। आनंद को शब्दों में व्यक्त...

शहीद नवीन सिंह के परिवार को पवन सिंह ने दिया सहयोग।

जम्मू कश्मीर में शहीद हुए गोरखपुर निवासी...

ब्रेकिंग:- गोरखपुर, देवरिया समेत इन जिलों में जारी रहेगा कर्फ़्यू

-कोरोना कर्फ्यू को लेकर नई गाइडलाइन-कुल 20 जिलों में फिलहाल कोई छूट नहीं-लखनऊ समेत 20 जिलों में कोई छूट नहीं-लखनऊ, मेरठ, सहारनपुर...
%d bloggers like this: