Monday, May 27, 2019
Gorakhpur

अब बिना ईंट-सरिया के गोरखपुर में बन रहे मकान….

आलीशान घर देखते ही हम उसके निर्माण में आने वाली लागत का आंकलन लगाना शुरू कर देते हैं। लेकिन अगर कोई यह कहे कि ऐसा ही घर बिना ईंट-सरिया के इस्तेमाल से काफी कम खर्च में तैयार हो जाएगा और वह भी 50 डिग्री तक कर तापमान में भी एक पंखे भर एसी का मजा देगा तो आपकी आंखें फटीं रह जायेगीं।

बावजूद इसके यह सोलह आने सच है। गोरखपुर के रानीडीहा में स्टील से घर तैयार हो चुका है। और भी मकान ,कॉम्प्लेक्स ,हॉस्पिटल गोरखपुर के आस पास के क्षेत्र में बन रहे है

यह घर देखने में साधारण घर जैसा ही दिखेगा, लेकिन इसकी खूबियों के बारे में जानते ही अपने सपनों का घर बनवाना आपकी मजबूरी बन सकती है।

बता दें कि इस घर का निर्माण का काम काँटेक्सस रिसोर्स मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड कंपनी कर रही। यह गोरखपुर में पहला मकान बना चुकी है जो रानी डीहा में है।

गर्मियों में रहता है ठंडा

कंपनी के दावे के मुताबिक स्टील के इस घर की सबसे बड़ी खूबी गर्मी के दिनों में मकान के अंदर ठंडई बनाये रखना है। है। यहां तक कि घर में एयर कंडीशनर लगवाने की भी जरूरत नहीं है। यही नहीं यह घर सर्दी के दिनों में भी गर्मी का एहसास दिलाने में सक्षम है।

भूकंपरोधी है मकान

इस घर की एक ख़ासियत इसका भूकंपरोधी होना भी है। इसमें रहने वालों को भूकंप का खतरा बिल्कुल भी नहीं होता है। दरअसल स्टील से बना होने की वजह से इसकी दीवारों में ज्यादा वजन नहीं होता। ऐसे में यह घर भूकंप से पूरी तरह से सुरक्षित है।

निर्माण में कम खर्च है विशेषता

कंपनी के मुताबिक ईंट वाले एक सामान्य घर को बनवाने में 18 से 20 लाख का खर्च आता है, लेकिन स्टील वाले इस घर को बनवाने में कम लागत है। महज 90 दिनों में बनाकर तैयार होने वाले इस घर के निर्माण में महज 12 से 15 लाख का खर्च आएगा।

जीडीए के अधिशासी अभियंता अवनींद्र सिंह का कहना है कि लोग सस्ती और जल्दी वाले तकनीक की तरफ बढ़ रहे है। मदन मोहन मालवीय यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर गोविंद पांडेय का कहना है कि ईंट को लेकर एनजीटी की बंदीशों में और दिक्कतें को देखते हुए आर्किटेक्ट दूसरे विकल्पों के तरफ बढ़ रहे है।

कंपनी मोबाइल नंबर 7905289440,6202791537

Advertisements
%d bloggers like this: