Friday, August 6, 2021

आज बजट , मध्यम वर्ग और किसानों पर मेहरबान हो सकती है मोदी सरकार….

शहीद के बेटे नीतीश 15 अगस्त को यूरोप महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी माउंट एलब्रुस पर फहराएंगे तिरंगा, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सौपा...

Gorakhpur: गोरखपुर के राजेन्द्र नगर के रहने वाले युवा पर्वतारोही नीतीश सिंह 15 अगस्त को यूरोप महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी माउंट...

Maharajganj: सपा नेता राम प्रकश सिंह के नेतृत्व में निकाली गई साईकिल रैली

Maharajganj: समाजवादी पार्टी महाराजगंज के कार्यकर्ताओं ने स्वर्गीय जनेश्वर मिस्र के जयंती के शुभ अवसर पर समाजवादी साईकिल यात्रा का आयोजन फरेंदा...

Maharajganj: पत्रकारों के ऊपर हमले और मुकदमे की धमकियां बढ़ गई हैं, इसी तरह का घटना गोरखपुर टाइम्स के एक पत्रकार के साथ हों...

Maharajganj/Dhani: प्राथमिक विद्यालय कमनाहा (पुरंदरपुर) विकास खण्ड धानी, जनपद महाराजगंज में ऑपरेशन कायाकल्प योजना से हो रहे मरम्मत कार्य को घटिया तरीके...

गोरखपुर के नवोदित कलाकारो से सजी फ़िल्म ‘ऑक्सीजन ‘के अभिनव प्रयास की खूब हो रही चर्चा

नवोदित कलाकारों को लेकर डॉ. सौरभ पाण्डेय की फ़िल्म 'ऑक्सीजन 'के अभिनव प्रयास ने रचा इतिहास

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण।

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण। ...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

वित्त मंत्री पीयूष गोयल शुक्रवार को जब लोकसभा में वित्त वर्ष 2019-20 के लिए अंतरिम बजट पेश करेंगे, तो उनके लिए लोकलुभावन घोषणाओं की आस और राजकोषीय अनुशासन के बीच संतुलन साधना रस्सी पर चलने जैसा होगा। मोदी सरकार का यह अंतिम बजट है। इसलिए गोयल इस मौके का इस्तेमाल लोकसभा चुनाव से पहले मध्यम वर्ग, किसान और नौजवानों को रिझाने और सरकार की उपलब्धियों का बखान करने के लिए कर सकते हैं। व्यक्तिगत करदाताओं को टैक्स राहत और किसानों और गरीबों को न्यूनतम आय (यूनिवर्सल बेसिक इनकम) के विकल्प सरकार की मेज पर हैं। अंतरिम बजट में इस आशय की घोषणा के आसार हैं। हालांकि, इन लोकलुभावन घोषणाओं का स्वरूप खजाने की स्थिति से तय होगा।

यह पहला मौका होगा जब गोयल बजट पेश करेंगे। उन्होंने 23 जनवरी को ही अंतरिम वित्त मंत्री के तौर पर वित्त मंत्रालय का पदभार संभाला है। सूत्रों के मुताबिक, अंतरिम बजट 2019-20 का आकार लगभग 27 लाख करोड़ रुपये का हो सकता है। इसमें व्यक्तिगत करदाताओं को आयकर में छूट, कृषि क्षेत्र को संकट से उबारने के लिए राहत पैकेज और छोटे व्यापारियों के लिए विशेष सुविधाओं की घोषणा की जा सकती है। वैसे तो यह अंतरिम बजट होगा, क्योंकि पूरे वित्त वर्ष के लिए नियमित बजट अगली सरकार पेश करेगी। लेकिन, माना जा रहा है कि गोयल लीक से हटकर कुछ घोषणाएं कर सकते हैं। वह ग्रामीण क्षेत्रों का संकट दूर करने के लिए किसानों के बैंक खाते में सीधे नकदी डालने की योजना का एलान कर सकते हैं। हालांकि, यह इस बात पर निर्भर करेगा कि इससे सरकार के खजाने पर कितना बोझ पड़ेगा। एक अनुमान के मुताबिक, कृषि पैकेज से सरकार के खजाने पर 70 हजार से एक लाख करोड़ रुपये तक बोझ पड़ सकता है। इस संबंध में सरकार तेलंगाना के रायथू बंधु और ओडिशा के कलिया मॉडल पर विचार कर रही है।

्याज मुक्त ऋण और जीरो प्रीमियम पर फसल बीमा की सुविधा देने पर भी विचार किया जा रहा है। इसी तरह व्यापारियों के लिए भी सस्ते ऋण की सुविधा देने की संभावनाओं पर विचार किया गया है।

राजकोषीय स्थिति पर निर्भर करेंगी लोकलुभावन घोषणाएं

ये भी पढ़े :  बड़ी खबर:-सीएम योगी ने यूपी में लागू करने के दिए आदेश, पुलिस को मिली पावर....
ये भी पढ़े :  दावा: योगी सरकार ने इस तकनीक से बनाई सड़क, बचाए 942 करोड़ रुपये....

सरकार की लोकलुभावन घोषणाएं राजकोषीय स्थिति पर निर्भर करेंगी। चालू वित्त वर्ष में सरकार ने राजकोषीय घाटे का लक्ष्य 3.3 प्रतिशत रखा है और माना जा रहा है कि संशोधित अनुमानों में यह लक्ष्य से ऊपर जा सकता है। इसी तरह अगले वित्त वर्ष में भी यह अनुमान से कहीं अधिक हो सकता है।
पहली बार जीएसटी का मासिक संग्रह एक लाख करोड़ रुपये

जीएसटी के मोर्चे पर सरकार के लिए राहत की एक खबर यह है कि कई महीने बाद जनवरी 2019 में पहली बार जीएसटी का मासिक संग्रह एक लाख करोड़ रुपये से अधिक रहा है। इस बात की संभावना है कि सरकार रिजर्व बैंक से अधिक अंतरिम डिविडेंड की मांग कर सकती है।

आयकर छूट की सीमा बढ़ाने का हो सकता है एलान

-उम्मीद की जा रही है कि गोयल आयकर से छूट की मौजूदा सीमा ढाई लाख रुपये को बढ़ाकर तीन लाख रुपये कर सकते हैं।

ये भी पढ़े :  लॉकडाउन में बीजेपी विधायक का पेट्रोल पंप लूट लिया बदमाशों ने.. मरी गोली
ये भी पढ़े :  सीएम योगी का निर्देश- यूपी में चरणबद्ध तरीके से लॉक डाउन खोलने की बनाएं योजना ....

-60 से 80 वर्ष के करदाताओं के लिए आयकर छूट की सीमा तीन लाख से बढ़ाकर साढ़े तीन लाख रुपये की जा सकती है।

-महिला करदाताओं के लिए आयकर से छूट की सीमा भी सवा तीन लाख रुपये करने का एलान किया जा सकता है।

-आयकर कानून की धारा 80-सी के तहत कर छूट की सीमा भी मौजूदा डेढ़ लाख रुपये से बढ़ाकर दो लाख रुपये की जा सकती है।

-काउंसिल लोन के ब्याज के संबंध में मिलने वाली टैक्स छूट की सीमा को दो लाख रुपये से बढ़ाकर ढाई लाख रुपये किया जा सकता है।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

यूपी में कई IPS बदले गए,दिनेश कुमार गोरखपुर के नए एसएसपी.

कई IPS के तबादले हुए जिसमे गोरखपुर के एसएसपी जोगेंद्र कुमार को झाँसी का नया डीआईजी बनाया...

बड़े पैमाने पर हुआ सीओ का तबादला,125 सीओ किये गए इधर से उधर….

उत्तर प्रदेश में बड़े पैमाने पर सीओ यानी उपाधीक्षकों के तबादले किये गए।।125 उपाधीक्षकों का तबादला किया...

तंत्र-मंत्र के चक्कर में फंसी बहू, सिद्धि के लिए दे दी अपने ही ससुर की बलि

उत्तर प्रदेश के कौशांबी में तंत्र-मंत्र के चक्कर में फंस कर एक बहू ने अपने ही ससुर...
%d bloggers like this: