Tuesday, July 27, 2021

आपना गोरखपुर बदल रहा:- स्वच्छ सर्वेक्षण में गोरखपुर ने 54 रैंक की छलांग लगाई….

पुलिस अधीक्षक द्वारा की गयी मासिक अपराध गोष्ठी में अपराधों की समीक्षा व रोकथाम हेतु दिये गये आवश्यक दिशा-निर्देश

Maharajganj: पुलिस अधीक्षक महराजगंज प्रदीप गुप्ता द्वारा आज दिनांक 17.07.2021 को पुलिस लाइन्स स्थित सभागार में मासिक अपराध गोष्ठी में कानून-व्यवस्था की...

शायर मुनव्वर राना के बोल, ‘दोबारा सीएम बने योगी तो यूपी छोड़ दूंगा’

लखनऊ: मशहूर शायर मुनव्वर राना एक बार फिर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं।उन्होंने कहा कि अगर योगी आदित्यनाथ दोबारा...

Maharajganj: CO सुनील दत्त दूबे द्वारा कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस महानिदेशक जोन गोरखपुर ने प्रशस्ति पत्र से नवाजा।

Maharajganj/Farenda: सीओ फरेन्दा सुनील दत्त दूबे को थाना पुरन्दरपुर में नवीन बीट प्रणाली के क्रियान्वयन में कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस...

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...

महराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतर्गत SBI कृषि विकास शाखा के सामने से मोटरसाइकिल चोरी

Maharajganj: महाराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतगर्त मंगलवार को बृजमनगंज रोड पर भारतीय स्टेट बैंक कृषि विकास शाखा के ठीक...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

इंटर वार्ड प्रतियोगिता में प्रदेश में चौथा स्थान हासिल करने वाले गोरखपुर नगर निगम ने स्वच्छ सर्वेक्षण-2019 में 54 रैंक की छलांग लगाई है। गोरखपुर को देश भर के 425 शहरों में 226वीं रैंक मिली है। चार कटेगरी में हुए सर्वे में नगर निगम को 5000 में से 2157.65 अंक मिले हैं।

बुधवार को नई दिल्ली में बेहतर रैंक हासिल करने वाले शहरों के महापौर और अधिकारियों के सम्मान समारोह के बाद नगर निगमों की रैंकिंग जारी कर दी गई। 5 से 10 लाख की आबादी वाले 425 शहरों में 226 वीं रैंक मिली है। प्रदेश के 64 शहरों में गोरखपुर को 28 वें स्थान पर संतोष करना पड़ा। पिछली वर्ष की तुलना में 54 रैंक का सुधार हुआ है। 2018 में गोरखपुर को जहां 280वीं रैंक मिली थी, वहीं 2017 में उसे 314 वीं रैंक पर संतोष करना पड़ा था। शहरियों को सुविधा मुहैया कराने के मामले में निगम का प्रदर्शन सबसे खराब रहा है। सर्विस लेवल प्रोग्राम में निगम को 1250 अंक में से सिर्फ 174 अंक ही मिले हैं। बता दें कि स्वच्छ सर्वेक्षण को लेकर बीते 4 जनवरी से 31 जनवरी के बीच केन्द्रीय टीम ने सर्वे किया था।

ये भी पढ़े :  रहायशी मकान में अनियंत्रित ट्रक घूसने से दो की मौत।

पिछली बार मिली थी 280वीं रैंक

स्वच्छता सर्वे-2018 में गोरखपुर को 280 वीं रैंक मिली है। 4000 अंकों पर हुए सर्वे में नगर निगम को महज 1766 अंक हासिल हुए थे। स्वच्छता संबंधी सुविधाएं पहुंचाने संबंधी श्रेणी (सर्विस लेवल श्रेणी) में 1400 अंक में निगम को मात्र 255 अंक हासिल हो सका है। सर्वे में 1400 अंक म्युनिसिपल डाक्यूमेंटेशन तो 1600 अंक सिटीजन फीडबैक पर था। निगम को दोनों बिंदुओं पर 1000 अंक भी नहीं मिले थे। 1000 अंकों के डायरेक्ट ऑब्जरवेशन में निगम 50 फीसदी भी अंक नहीं मिला था।

ये भी पढ़े :  कोरोना योद्धा जिलाधिकारी के0 विजयेंद्र पांड्यन को गोरखपुर करता है सलाम,आपके अथक प्रयास से कोरोना फ्री है गोरखपुर,सड़क पर उतर कर संभाल रहे मोर्चा......

लोग जागरूक हुए पर नगर निगम की कार्यप्रणाली नहीं सुधरी

सिटीजन फीडबैक

नगर निगम गोरखपुर को 5000 अंक में से 2157.65 अंक मिले हैं। सिटीजन फीडबैक में 1250 में से मिले 828.76 अंक से साफ है कि शहर को लोग सफाई को लेकर जागरूक हुए हैं लेकिन निगम की कार्यप्रणाली में कोई सुधार नहीं हुआ है।

डायरेक्ट आब्जर्वेशन

डायरेक्ट आब्जर्वेशन में 1250 में 804 अंक मिले हैं। दरअसल, डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन अभी भी सभी वार्डों में नहीं शुरू हो सका है। बमुश्किल 40 वार्डों में डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन होने से निगम अभी तक कलेक्शन चार्ज नागरिकों से नहीं वसूल सका है। जलकल द्वारा घरों में पानी की खपत पर अंकुश के लिए वाटर मीटर लगाया जाना था, जो अभी तक नहीं लगाया जा सका है। सालिड वेस्ट मैनेजमेंट की व्यवस्था नहीं होना एक बार फिर नगर निगम को भारी पड़ सकता है। निगम ने कूड़े को कम्प्रेस करने के लिए मशीन तो मंगाई है लेकिन उसका उपयोग अभी नहीं हो सका है।

सर्विस लेबल प्रोग्राम

सबसे बुरी स्थिति सर्विस लेवल प्रोग्राम में है। जहां 1250 अंकों में 174 अंक मिला है। इसमें डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन का नियमित होना, ऑनलाइन शिकायतों के निस्तारण की स्थिति को लेकर टीम ने हकीकत जांची थी। इसमें यह भी देखा गया था कि पब्लिक और कम्यूनिटी टॉयलेट समय से साफ हो रहे हैं या नहीं। टीम ने यह भी देखा था कि प्रमुख बाजार में डस्टबिन रखे हैं या नहीं। दिन से लेकर रात्रिकालीन सेवा की क्या स्थिति है। दरअसल, नगर निगम ने यूरिनल से लेकर पब्लिक टॉयलेट के बाहर नियमित सफाई को लेकर चार्ट तो बना रखा है लेकिन उनकी गंदगी खुद हकीकत को बयां करती है। सुखे और गीले कूड़े को लेकर अलग-अलग के रंग के डस्टबिन को लेकर भी निगम टीम को संतुष्ट नहीं किया जा सका।

ये भी पढ़े :  ब्रेकिंग न्यूज़ :- गोरखपुर में बढ़ते करोना मरीज को लेकर गोरखपुर जिला अधिकारी ने लिया बड़ा एक्शन....
ये भी पढ़े :  जेल बाईपास गोड़धोइया नाला चोक होने के बाद कई कॉलोनियों में जलभराव, शिकायत करने के बाद भी कोई सुनवाई नहीं....

सर्टिफिकेशन

सर्टिफिकेशन में भी महज 350 अंक मिले हैं। इसमें केन्द्रीय टीम द्वारा ऑनलाइन नगर निगम के डाक्यूमेंट को देखा गया था। पिछली मर्तबा डाक्यूमेंट को लेकर नगर निगम का प्रदर्शन अच्छा था। पिछली बार 1600 अंकों में 1400 अंक मिले थे।

रैंक में 54 पायदान का सुधार सुखद है। इसके लिए शहर के नागरिकों का साधुवाद है। सफाई व्यवस्था ठीक हो इसके लिए प्रत्येक वार्डों में अफसरों की ड्यूटी लगाई जा रही है। जो भी खामियां रह गई हैं, उन्हें प्राथमिकता के आधार पर दूर किया जाएगा। ताकि अगली बार शहर को प्रथम स्थान हासिल हो सके। इसके साथ ही नागरिकों को बदलाव महसूस हो सके।

अंजनी कुमार सिंह, नगर आयुक्त

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...

ब्लॉक प्रमुख बड़हलगंज आशीष राय के जीत की गूंज सात समंदर पार भी…

बड़हलगंज से आशीष राय के विजयी घोषित होने पर विदेशों में भी बंटी मिठाइयां गोरखपुर। शनिवार को तीन ब्लॉक...

भाजपा ने ब्लॉक प्रमुख के लिए विधायक विपिन सिंह की पत्नी नीता सिंह,विधायक संत प्रसाद की बहू पर खेला दाँव, देखें गोरखपुर की सूची…

जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव संपन्न होने के उपरांत त्रिस्तरीय पंचायत को और सुदृढ़ बनाने के लिए भारतीय जनता पार्टी के द्वारा...
%d bloggers like this: