Monday, September 20, 2021

आर्मी अफसर बनकर दारोगा पुत्र करता था जालसाजी, साइबर क्राइम ने किया अरेस्ट….

गोरखपुर:- बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार गोरखपुर। दिल्ली...

Maharajganj: औकात में रहना सिखो बेटा नहीं तो तुम्हारे घर में घुस कर मारेंगे-भाजपा आईटी सेल मंडल संयोजक, भद्दी भद्दी गालियां फेसबुक पर वायरल।

Maharajganj: महाराजगंज जनपद में भाजपा द्वारा नियुक्त धानी मंडल संयोजक का फेसबुक पर गाली-गलौज और धमकी वायरल। फेसबुक पर धानी मंडल संयोजक...

खुशखबरी:-सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक को मंजूरी 1320 करोड़ स्वीकृत

गोरखपुर के लिहाज़ से एक बड़ी ख़बर प्राप्त हो रही है जिसमे यह बताया जा रहा है कि सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक...

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद कमलेश पासवान

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद बांसगांव लोकसभा के सांसद कमलेश पासवान ने कास्त मिश्रौली निवासी भाजपा नेता...

पूर्वांचल में मदद की परिभाषा बदलने का ऐतिहासिक कार्य कर रहे हैं युवा नेता पवन सिंह….

युवा नेता पवन सिंह ने मदद करने की परिभाषा पूरी तरह बदल दी है. उन्होंने मदद का दायरा इतना ज्यादा बढ़ा दिया...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

राजधानी में फर्जी आर्मी अफसर बनकर लोगों से जालसाजी करने वाले दारोगा के बेटे को साइबर क्राइम सेल और विभूति खंड थाने की सम्मिलत टीम ने गिरफ्तार किया है। आरोपित बेरोजगारों को सेना, आईबी और रॉ में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करता था। पुलिस के मुताबिक, आरोपित को गिरफ्तार कर उससे पूछताछ की जा रही है।

ये है पूरा मामला

दरअसल, मूल रूप से अंबेडकरनगर निवासी आरोपित हर्ष विक्रम सिंह के पिता वजीरगंज थाने में दारोगा के पद पर तैनात हैं। बताया जा रहा है कि वह बेरोजगारों को सेना, आईबी और रॉ में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करता था। पुलिस आरोपी को गिरफ्तार कर विभूतिखंड थाने लेकर गई है। जहां उससे पूछताछ कर रही है। वहीं, सीओ हजरतगंज अभय कुमार मिश्र के मुताबिक, आरोपित हर्ष विक्रम लोगों को सेना और सुरक्षा एजेंसियों में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगता था। गिरफ्तार कर उससे पूछताछ की जा रही है।
लड़कियों को लुभाने के लिए बना फर्जी लेफ्टीनेंट कर्नल

24 अक्टूबर 2018 को साइबर क्राइम सेल और हजरतगंज पुलिस ने एक फर्जी लेफ्टीनेंट कर्नल को गिरफ्तार किया था। आरोपित अरविंद मिश्र लड़कियों को लुभाने के लिए फर्जी लेफ्टीनेंट कर्नल बना था। यह सेना की वर्दी में गाड़ी से टहलता था और लोगों पर रौब झाड़ता था। आरोपित ने पूछताछ में बताया था कि वर्ष 1997 से 2003 तक उसने लगातार एनडीए और सीडीएस की परीक्षा दी थी। वह पास भी हुआ था और इलाहाबाद तथा भोपाल में कांफ्रेस में भी शामिल हुआ था। हालांकि उसका चयन नहीं हो सका था। इसके बाद वह फर्जी आर्मी अफसर बन गया था।
सेना की वर्दी पहन फिल्म देखने पहुंचा था फर्जी कैप्टन

ये भी पढ़े :  JEE और NEET परीक्षा को स्थगति कराने के लिए बड़ा प्रदर्शन, पुलिस ने किया गिरफ्तार....
ये भी पढ़े :  देश की सभी दिशाओं में वोटर्स में जबरदस्त उत्साह, 91 सीटों पर हो रहा है मतदान....

13 अप्रैल 2019 को बलिया निवासी अभिषेक यादव सेना के कैप्टन की वर्दी पहने सहारागंज में फिल्म देखने आया था। शक होने पर इसकी सूचना किसी ने सेना को दे दी। सेना की एक टीम सहारागंज पहुंची। युवक की सैन्य वर्दी में सितारे और साजो सामान को सही तरीके से न देख यह समझते देर न लगी कि वह फर्जी है। सेना की टीम ने युवक से पूछताछ की। इस पर उसने बताया था कि उसने शौक में सेना की वर्दी पहन ली थी। वह फिल्म देखने आया हुआ था। पूछताछ के बाद जब युवक को हजरतगंज थाना ले जाया गया तो बहुत देर तक एफआइआर दर्ज कराने को लेकर पेच फंसा रहा। देर रात एसएसपी के आदेश के बाद हजरतगंज थाना में एफआइआर दर्ज करायी गई।

पहले यह भी पकड़े गए मामले

26 अक्टूबर 2018 : फर्जी ले. कर्नल अरविंद मिश्र सुलतानपुर रोड से पकड़ा गया

25 जून 2017 : चारबाग स्टेशन से फर्जी तरीके से मेजर बनकर घूम रहे सौमित्र को पकड़ा गया

ये भी पढ़े :  मोदी सरकार ने चीनी कंपनी को दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे का ठेका, स्वदेशी जागरण मंच विरोध में....

वर्ष 2009 : आठ साल तक यूपी सैनिक कल्याण निगम में तैनात एमडी व फर्जी कर्नल एके वाजपेयी गिरफ्तार।

ये है नियम

ये भी पढ़े :  शहीद जवान की पत्नी रोते हुए बोलीं, 'हे भगवान मेरे राम को मेरे पास भेज दो'...

सदर बाजार व तोपखाना सहित कई इलाकों में सेना की वर्दी खुलेआम बिक रही है। यहां वर्दी के साथ उसपर सजने वाले बैज, रिबन, बेल्ट सहित अन्य साजो सामान भी मिल रहा है। जबकि, नियम है कि वर्दी और साजो सामान सैन्य यूनिटों में ही उपलब्ध हों। तोपखाना में वर्दी बेचते समय दुकानदार को जवान की आइडी लेना जरूरी होता है। हालांकि, समय-समय पर इस पर कार्रवाई की जाती है।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

पूर्वांचल में मदद की परिभाषा बदलने का ऐतिहासिक कार्य कर रहे हैं युवा नेता पवन सिंह….

युवा नेता पवन सिंह ने मदद करने की परिभाषा पूरी तरह बदल दी है. उन्होंने मदद का दायरा इतना ज्यादा बढ़ा दिया...

स्वर्णकार समाज ने लोकसभा , विधानसभा में अपने प्रतिनिधित्व के लिए भरी हुँकार,जल्द प्रदेश व्यापी होगी सभा

स्वर्णकार समाज का स्वर लोकसभा एवं विधानसभाओं में मुखरित हो प्रतिनिधित्व सभी पंचायतों में हो इस विचार के साथ स्वर्णकार समाज...

यूपी में कई IPS बदले गए,दिनेश कुमार गोरखपुर के नए एसएसपी.

कई IPS के तबादले हुए जिसमे गोरखपुर के एसएसपी जोगेंद्र कुमार को झाँसी का नया डीआईजी बनाया...
%d bloggers like this: