Friday, September 17, 2021

इंजीनियर से IPS और फिर IAS ऑफिसर, कुछ ऐसा रहा निधि का सफर

गोरखपुर:- बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार गोरखपुर। दिल्ली...

Maharajganj: औकात में रहना सिखो बेटा नहीं तो तुम्हारे घर में घुस कर मारेंगे-भाजपा आईटी सेल मंडल संयोजक, भद्दी भद्दी गालियां फेसबुक पर वायरल।

Maharajganj: महाराजगंज जनपद में भाजपा द्वारा नियुक्त धानी मंडल संयोजक का फेसबुक पर गाली-गलौज और धमकी वायरल। फेसबुक पर धानी मंडल संयोजक...

खुशखबरी:-सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक को मंजूरी 1320 करोड़ स्वीकृत

गोरखपुर के लिहाज़ से एक बड़ी ख़बर प्राप्त हो रही है जिसमे यह बताया जा रहा है कि सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक...

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद कमलेश पासवान

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद बांसगांव लोकसभा के सांसद कमलेश पासवान ने कास्त मिश्रौली निवासी भाजपा नेता...

पूर्वांचल में मदद की परिभाषा बदलने का ऐतिहासिक कार्य कर रहे हैं युवा नेता पवन सिंह….

युवा नेता पवन सिंह ने मदद करने की परिभाषा पूरी तरह बदल दी है. उन्होंने मदद का दायरा इतना ज्यादा बढ़ा दिया...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

मध्य प्रदेश के एक छोटे से जिले मुरैना की निधि बंसल के जज्बे को देखकर यकीन करना थोड़ा मुश्किल है कि कोई इतना दृढ़ प्रतिज्ञ कैसे हो सकता है. इतनी हिम्मत, इतनी मेहनत और कभी हार न मानने का ऐसा जज्बा जिसे सलाम करने का दिल चाहे. यूपीएससी जैसी परीक्षा को इतनी बार देने का संयम और हर बार फिर से कोशिश क्योंकि आईएएस पद नहीं मिल रहा था, आसान नहीं होता. हर कोई डिमोटिवेट हो जाता है, परेशान हो जाता है. निधि के सफर में भी ऐसे पल आए पर उन्होंने कभी हिम्मत नहीं हारी. आज जानते हैं निधि के सफर के बारे में विस्तार से.

कैलारस कस्बे, मुरैना की निधि की शुरआती पढ़ाई लिखाई यहीं से हुई. उसके बाद उन्होंने एनआईटी त्रिचि से बीटेक किया. बीटेक के बाद निधि ने एक साल नौकरी की और इसी दौरान उन्हें लगा कि वे सिविल सर्विस के क्षेत्र में जाना चाहती हैं और वे जुट गईं तैयारी में. पहले अटेम्पट में निधि का नहीं हुआ. दूसरे में निधि का सेलेक्शन हुआ और रैंक आयी 219. इस रैंक के तहत उन्हें आईपीएस सेवा त्रिपुरा एलॉट हुई. निधि खुश थी पर संतुष्ट नहीं. उन्होंने फिर से प्रयास किया. इस बार भी निधि सेलेक्ट हुईं और रैंक आयी 226 और फिर से आईपीएस सेवा मिली लेकिन झारखंड में. इस बार निधि ने ज्वॉइनिंग कर ली लेकिन उनके मन में अभी भी आईएएस ही घूम रहा था. उन्होंने एक साल की छुट्टी ली और फिर से तैयारी में लग गईं. अंततः अपने पांचवें और अंतिम प्रयास में निधि को साल 2019 में 23वीं रैंक प्राप्त हुई और उनकी सालों की तपस्या का फल आखिरकार उन्हें मिला.

ये भी पढ़े :  पीसीएस में चुने गए महराजगंज के होनहार फजल हुसैन, क्षेत्र का बढ़ाया मान।
ये भी पढ़े :  विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने शुरू किए 100 से अधिक ऑनलाइन कोर्स, UG और PG छात्र ऐसे उठा सकेंगे फायदा।।

निधि एक साक्षात्कार में बात करते हुए कहती हैं कि जब वे अपनी गलतियां देख रही थी तो उन्हें समझ आया कि उन्होंने ऑप्शनल गलत चुना था. पहले तीन प्रयासों में उनका ऑप्शनल सोशियोलॉजी थी. वे कहती हैं मुझे मैथ्स पसंद है और मेरी गलती थी दूसरा विषय चुनना. चौथे प्रयास से निधि ने ऑप्शनल बदला और मैथ्स ले ली. मैथ्स का कोर्स इतना ज्यादा और इतना लंबा है कि इस अटेम्पट में वे मैथ्स में ही लगी रह गईं. इससे उनके ऑप्शनल में तो अंक बहुत अच्छे आए 300 के ऊपर पर बाकी विषय रह गए. इसके पहले के प्रयासों में निधि के ऑप्शनल में ही अंक कम रह जाते थे. आखिरकार उन्होंने पांचवे प्रयास में सभी विषयों पर बराबर ध्यान दिया और जमकर मेहनत की. वे जानती थी के ये आखिरी मौका है और उनकी मेहनत रंग लाई जब उनका चयन आईएएस पद के लिए हो गया. इस बार भी ऑप्शनल में उनके अंक सबसे अधिक 300 से ऊपर आए हैं.

निधि तैयारी के टिप्स देते हुए कहती हैं कि रिवीजन इज द की. अगर आप रिवाइज़ नहीं करेंगे तो परीक्षा में इतना कम समय होता है कि सोचते ही रह जाएंगे. आपके उत्तर लगभग तैयार होने चाहिए. वे एनसीईआरटी की सभी किताबें पढ़ने पर जोर देती हैं, उनके अनुसार यहीं से बेस मजबूत होता है. करेंट अफेयर्स के लिए निधि न्यूज पेपर और मंथ्ली कंपाइलेशन वाली किताबें पढ़ती थी. इसके लिए वे अखबार से नोट्स भी बनाती थी. वे कहती हैं नोट्स बनाने से एक तो आपकी राइटिंग प्रैक्टिस होती है दूसरा वोकेबुलेरी भी इंप्रूव होती है. एथिक्स के पेपर में भी उन्हें अखबार के मोटिवेशनल कॉलम्स या ऐसे ही दूसरे कॉलम्स से मदद मिली. अगर बात करें ऐस्से की तो निधि को लगता है कि विषय के आसपास के जरूरी बिंदु कवर करते हुए ऐस्से लिखना लाभ देता है. वे आगे बताती हैं कि उन्होंने कभी शेड्यूल बनाकर तैयारी नहीं की. बस एक दिन का टारगेट सेट करती थी और उसे खत्म करके ही सोती थी.

ये भी पढ़े :  विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने शुरू किए 100 से अधिक ऑनलाइन कोर्स, UG और PG छात्र ऐसे उठा सकेंगे फायदा।।

इस बारे में अपनी बात रखते हुए निधि कहती हैं कि इसे इंटरव्यू की जगह पर्सनेलिटी टेस्ट कहें तो बेहतर होगा. यहां फैक्चुअल नॉलेज का टेस्ट नहीं होता बल्कि आपकी पर्सनेलिटी का टेस्ट होता है. जैसे आप एक इंसान के तौर पर कैसे हो, आपकी सोच क्या है, आपका कांफिडेंस लेवल कैसा है आदि बिंदुओं को परखा जाता है. इसके लिए निधि किसी अच्छी जगह के कुछ मॉक टेस्ट देने की सलाह देती हैं. वे कहती हैं इन मॉक टेस्ट्स से आपकी एनालिटिकल थिंकिंग इम्प्रूव होती है. बिल्कुल यूपीएससी जैसे माहौल में साक्षात्कार दें.

ये भी पढ़े :  रेप के आरोप में माहिम दरगाह के ट्रस्टी डॉ. मुदस्सिर नासिर गिरफ्तार, पीड़िता बोली- बेहोशी का इंजेक्शन लगाकर लूटी इज्जत।।

अंत में निधि यही सलाह देती हैं कि यूपीएससी के साथ ही अगर कैंडिडेट अपने लिए ऑप्शन तैयार रखकर तैयारी करेगा तो ज्यादा अच्छा रहेगा. इससे उसके ऊपर सफलता का दबाव कम हो जाता है. साथ ही साथ दूसरी परीक्षाएं भी दें ताकि कहीं सेलेक्शन हो जाएगा तो आपको यह नहीं लगेगा कि साल दर साल निकलते जा रहे हैं और आपके कैरियर को कोई दिशा तक नहीं मिली है. निधि खुद पहले एसएससी और उसके बाद दो बार आईपीएस सेवा पा चुकी थी इसलिए उनके मन में समय लगने का प्रेशर नहीं था.

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

सिद्धार्थ पांडेय बने भाजपा मीडिया सम्‍पर्क विभाग के क्षेत्रीय संयोजक…

उत्‍तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों की तैयारी में जुटी भाजपा संगठन को नए स्‍तर से मजबूत बनाने में...

भाजपा युवा मोर्चा गोरखपुर क्षेत्र के क्षेत्रीय कार्यकारिणी की हुई घोषणा,सूरज राय बने क्षेत्रीय उपाध्यक्ष

Gorakhpur: आज भारतीय जनता युवा मोर्चा गोरखपुर क्षेत्र की क्षेत्रीय कार्यकारिणी की घोषणा हुई।।युवा मोर्चा के क्षेत्रीय अध्यक्ष पुरुषार्थ सिंह ने आज...

शहीद के बेटे नीतीश 15 अगस्त को यूरोप महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी माउंट एलब्रुस पर फहराएंगे तिरंगा, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सौपा...

Gorakhpur: गोरखपुर के राजेन्द्र नगर के रहने वाले युवा पर्वतारोही नीतीश सिंह 15 अगस्त को यूरोप महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी माउंट...
%d bloggers like this: