Friday, July 23, 2021

कहीं आप भी गरीब तो नहीं ?

पुलिस अधीक्षक द्वारा की गयी मासिक अपराध गोष्ठी में अपराधों की समीक्षा व रोकथाम हेतु दिये गये आवश्यक दिशा-निर्देश

Maharajganj: पुलिस अधीक्षक महराजगंज प्रदीप गुप्ता द्वारा आज दिनांक 17.07.2021 को पुलिस लाइन्स स्थित सभागार में मासिक अपराध गोष्ठी में कानून-व्यवस्था की...

शायर मुनव्वर राना के बोल, ‘दोबारा सीएम बने योगी तो यूपी छोड़ दूंगा’

लखनऊ: मशहूर शायर मुनव्वर राना एक बार फिर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं।उन्होंने कहा कि अगर योगी आदित्यनाथ दोबारा...

Maharajganj: CO सुनील दत्त दूबे द्वारा कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस महानिदेशक जोन गोरखपुर ने प्रशस्ति पत्र से नवाजा।

Maharajganj/Farenda: सीओ फरेन्दा सुनील दत्त दूबे को थाना पुरन्दरपुर में नवीन बीट प्रणाली के क्रियान्वयन में कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस...

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...

महराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतर्गत SBI कृषि विकास शाखा के सामने से मोटरसाइकिल चोरी

Maharajganj: महाराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतगर्त मंगलवार को बृजमनगंज रोड पर भारतीय स्टेट बैंक कृषि विकास शाखा के ठीक...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

अमीरी और गरीबी दोनों की अपनी अलग-अलग पहचान है एक जिंदगी की मूलभूत सुविधाओं के लिए संघर्ष कर रहा होता है तो दूसरे वर्ग को समझ मे ही नहीं आता की पैसे कहा खर्च करें | पर इन दोनों के बीच मे कई तरह के लोग है जिनकी आमदनी से उनका वर्ग निर्धारित होता है | एक ही भारत मे कई तरह की आय वाले लोग रहते है | जब भी सरकार द्वारा कोई घोषणा होती है तो कई तरह की बाते कई वर्गों के लिए की जाती है जिन्हे अलग-अलग नामों से पहचान मिलती है | आज श्रमिकों के पलायन का मुद्दा अपने चरम पर | 10 करोड़ से अधिक प्रवासी है जो एक राज्य से दूसरे राज्यों मे काम की तलाश मे जाते है | देश के लोगों की कई रूपों मे अलग-अलग पहचान है | आज उन्ही पहचानो मे से एक को यहाँ पर प्रदर्शित करेगे जिसे हम वर्ग/श्रेणी या यूँ कहें की आप की क्लास क्या है | आय के अनुरूप क्रमवार इसे हम समझते है यह क्रम सबसे ऊपर से नीचे की तरफ है :-

  1. सबसे अमीर वर्ग (Richest Out Of Rich) (Billionaire’s) : देश मे इस श्रेणी मे वो लोग आते है जिनकी संपत्ति हजार करोड़ या उससे अधिक है | एक अनुमान के मुताबिक भारत मे इस वर्ग के लोगों की संख्या मात्र 114 के आस-पास है | यानि की 130 करोड़ से अधिक की आबादी मे मात्र 114 लोग | ये लोग आपनी आय पर कोई बिचार नहीं रखतें | ये न केवल स्वयं सबसे अमीर होते है बल्कि अपनी कई पीढ़ी को अमीरी की सौगात दे जातें है |
  2. बहुत अमीर (Super Rich) : इन्हे हम सुपर रिच के नाम से भी जानते है | इस वर्ग के लोगों की संख्या मात्र हजारों की है | इस तरह के अधिकांश लोग आपको मेट्रोपॉलिटन शहरों मे ही मिलेगे | इनके पास आधुनिक सुख-सुविधाओं की भरमार है | इनकी पहचान आप आसानी से कर सकते है क्योंकि हमेशा ये समाज के सभी कार्यक्रमों मे चीफ गेस्ट के रूप मे होते है | इनकी आमदनी मे 12 करोड़ की वार्षिक आय और 100 करोड़ से अधिक की कुल संपत्ति हो ऐसा सम्भव है |
  3. कुलीन वर्ग (Elite Class) : तीसरे क्रम पर ये लोग आते है | इस वर्ग मे लाखों लोग होते है | इनके पास पैसा पावर सब होता है | ऐसे लोग अपने क्षेत्र या शहर के सबसे अमीर व्यक्तियों मे से होते है | बड़ी गड़िया, बड़े मकान, कई क्लबों की सदस्यता, बच्चों को पढ़ने के लिए विदेश भेजना, इनकी पहचान है | इनकी आय प्रतिवर्ष 1 करोड़ से अधिक होती है और इनकी कुल संपत्ति 25 करोड़ के आस-पास हो यह सम्भव है | इस वर्ग मे बड़े सर्जन, इंजीनियर, कम्पनी के प्रमुख, बड़ी कम्पनियों के कुछ कर्मचारी या व्यावसायिक कम्पनियों के मालिक संभवतः इस वर्ग मे आते है |
  4. उच्च वर्ग (Upper Class) : देश मे इस वर्ग का स्थान आय और कुल संपत्ति के आधार पर चौथा है | इस श्रेणी मे वो लोग शामिल है जिनकी कुल संपत्ति 1 करोड़ या उससे अधिक है | यह वर्ग कम से कम इस लिए स्वतंत्र होता है की अपनी जरूरतों को तुरंत पूरा कर सकता है | देश मे कुल आबादी का मात्र 1 प्रतिशत लोग इस श्रेणी मे आते है | इनकी वार्षिक आमदनी 18 से 36 लाख रुपये हो सकती है | ये लोग अपने दो से तीन नौकरों, ड्राइवर, बड़े निजी इंजीनियरिंग कॉलेज, मेडिकल कॉलेज, का खर्च आसानी से वहन कर लेते है | इनमे शामिल हो सकते है डाक्टर्स, इंजीनियर्सऔर सरकारी कर्मचारी |
  5. मध्यम वर्ग (Middle क्लास) : देश की कुल आबादी का 50 प्रतिशत आबादी मे इस वर्ग के लोग शामिल है | इस वर्ग की विडंबना यह है की यह अमीर होने के साथ साथ ये गरीब भी है | इनका अधिकांश कार्य कर्ज से होता है | बड़ी मुश्किल से रहने को घर कर पाते है | इनकी वार्षिक आय 6 से 8 लाख के बीच हो सकती है | कुल संपत्ति 50 लाख से 1 करोड़ के मध्य हो सकती है | अपनी सामाजिक और पारिवारिक जिम्मेदारी औसत ठंग से इस वर्ग के लोग पूरा कर पाते है |
  6. निम्न वर्ग / गरीब वर्ग (lower class) : यह एक ऐसा वर्ग है जिनमे 4 लोगों की जीविका की जिम्मेदारी 1 लोगों पर होती है | यानि के एक कमाने वाला 4 खाने वाले | इनकी अधिकतम वार्षिक आय 2.5 लाख तक ही होती है | इनकी कुल संपत्ति 25 लाख तक होती है | जिंदगी की कई मूलभूत आवश्यकताओं को टालना, एक कार्य पर दूसरे कार्य को प्राथमिकता देना इनकी मजबूरी भी होती है और समय की जरूरत | पर सर्वाधिक आशावान, संतुष्ट होने का सुख इनके पास रहता है |
  7. गरीबी रेखा से नीचे (below Poerty Line, BPL) : इस वर्ग के लोगों की अनेकों समस्याएं है अशिक्षा इनकी प्राथमिक कमी है बड़ी मुश्किल से छत पाने का इंतेजाम कर पाते है | गरीबी और गरीब क्या होता है इनसे समझा जा सकता है | इनमे कई भुखमरी के भी शिकार है | इनकी कोई संपत्ति नहीं होती बल्कि बड़ी मुश्किल से 50 हजार तक आमदनी साल भर मे अर्जित कर पातें है |
ये भी पढ़े :  अभिभावक परिषदीय विद्यालयों में कराये शतप्रतिशत नामांकनःहौसिला शिक्षा का बेहतर माहौल देने के लिए विभाग संकल्पितःअमित फोटो- रैली को झंडी दिखाते हौसिल प्रसाद पाठक व बीएसए
ये भी पढ़े :  ब्रेकिंग::-गोरखपुर के गगहा में छह कोरोना पॉजिटिव मरीज,मचा हड़कम्प

आजादी के दशकों बाद भी विभिन्न वर्गों मे कोई विशेष परिवर्तन नहीं हुआ है | अमीर और अमीर हुआ है जबकि गरीब और गरीब | कागजों मे इनकी परिभाषा अलग-अलग हो सकती है पर व्यावहारिक और अनुभव के आधार पर इनकी परिभाषा सिर्फ आय पर निर्धारित हो सकती है | कोरोना वायरस की इस महामारी ने सभी को प्रभावित किया है पर सर्वाधिक प्रभावित मध्यम, निम्न और गरीब वर्ग है | शिक्षा के प्रचार प्रसार से ही इन सभी वर्गों के बीच की खाई को समाप्त किया जा सकता |

डॉ. अजय कुमार मिश्रा (लखनऊ)
drajaykrmishra@gmail.com

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

पालघर में नौसेना के नाविक को अगवा कर जिंदा जलाया,मौत…

तमिलनाडु: चेन्नई से 30 जनवरी को अगवा किए गए नौसेना के 26 वर्षीय नाविक को महाराष्ट्र के पालघर...

यूपी: पंचायत चुनावों का बजा बिगुल इलाहाबाद हाईकोर्ट ने किया तारीखों का ऐलान जाने कब होगा पंचायत चुनाव…

हाईकोर्ट ने यूपी सरकार को निर्देश दिया है कि 17 मार्च तक आरक्षण का कार्य पूरा कर...

पूर्वांचल: रामपुर जा रही प्रियंका गांधी के काफिले की कई गाड़ियां आपस में टकराई, बाल-बाल बची

हापुड़: रामपुर दौरे पर निकलीं कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी के काफिले में चल रहीं कई गाड़ियां...
%d bloggers like this: