Tuesday, August 3, 2021

किसान की बेटी ने आईपीएस बनकर साबित कर दिया कि मेहनत करने वालों की कभी हार नहीं होती….

गोरखपुर के नवोदित कलाकारो से सजी फ़िल्म ‘ऑक्सीजन ‘के अभिनव प्रयास की खूब हो रही चर्चा

नवोदित कलाकारों को लेकर डॉ. सौरभ पाण्डेय की फ़िल्म 'ऑक्सीजन 'के अभिनव प्रयास ने रचा इतिहास

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण।

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण। ...

Maharajganj: प्राथमिक विद्यालय हो रहे मरम्मत कार्य में घटिया तरीके का किया जा रहा है प्रयोग

Maharajganj/Dhani: प्राथमिक विद्यालय हो रहें मरम्मत कार्य में अत्यन्त घटिया किस्म के मसाले व देशी बालू का अधिकता और सिमेन्ट नाम मात्र...

Maharajganj: नालियों के टूट जाने और समय से सफाई न होने से लोग हो रहे परेशान, जांच कर सम्बन्धित कर्मचारियों पर होगी कार्रवाई –...

महाराजगंज/धानी: महाराजगंज जनपद के धानी ब्लाक के अधिकारी भूल चूके हैं अपनी जिम्मेदारी। ग्राम सभा पुरंदरपुर के टोला केवटलिया में नाली टूट...

Maharajganj: दबंग पंचायत मित्र द्वारा किया जा रहा है अवैध नाली का निर्माण।

महराजगंज- फरेंदा ब्लॉक के अंतर्गत ग्राम सभा पिपरा तहसीलदार में पंचायत मित्र द्वारा अपने व्यक्तिगत नाली का निर्माण ग्राम सभा के मुख्य...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

चौदह साल की उम्र में जिंदगी उस पायदान पर रहती है, जहाँ आप अपने भविष्य को लेकर सुनहरे सपने देखते हो। और तभी अगर जिंदगी में कोई बड़ा हादसा हो जाए तो फिर सारे सपनों पर पानी फिर जाता है। ऑल इंडिया सिविल सर्विसेज में 217वीं रैंक हासिल करने वाली इल्मा अफ़रोज़ की जिंदगी में भी कुछ ऐसा ही हुआ, लेकिन उनकी मजबूत इच्छाशक्ति के आगे परिस्थितियों को घुटने टेकने पड़े। और वह देश की करोड़ों बेटियों के लिए मिसाल बन गईं।

इल्मा महज चौदह वर्ष की थी, जब उसके सिर से पिता का साया उठ गया। परिवार के लिए खेती-किसानी ही आय का एकमात्र स्रोत था, ऐसे में इल्मा ने अपनी माँ के साथ खेतों में काम करना शुरू कर दिया। परिस्थितियों चाहे कितनी भी कठिन थी, लेकिन इल्मा की दृढ़-इच्छाशक्ति के सामने वह कुछ भी थी। अपने सपने को साकार रूप देने के लिए वह दिन-रात मेहनत करती। खेतों में माँ के साथ करती और साथ में ट्यूशन पढ़ाकर अपनी पढ़ाई के लिए पैसे जुटाती। डॉ कलाम को आदर्श मानने वाली इल्मा कहती हैं कि “मेरे सपने ने मुझे कभी सोने नहीं दिया”।

ये भी पढ़े :  पंचायत चुनाव से पहले योगी सरकार का बड़ा फैसला, मनरेगा के तहत होगी 46 हजार कर्मियों की तैनाती
ये भी पढ़े :  Maharajganj: पीयूष अपहरणकांड का हुआ खुलासा, मिला शव मचा हड़कंप।।

p8if8x8ah7b5t8jxypcjvrdzwqn45ch9.jpg

मुरादाबाद से 12वीं की पढ़ाई पूरी करने के बाद उनका दाख़िला सेंट स्टीफेंस कॉलेज दिल्ली में हो गया। इल्मा इतनी मेधावी छात्रा थी कि कॉलेज में पढ़ाई के दौरान ही उन्हें विदेशों से स्कॉलरशिप मिलने शुरू हो गए। उन्हें प्रतिष्ठित पेरिस स्कूल ऑफ इंटरनेशनल और ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी में भी पढ़ने का मौका मिला। इतना ही नहीं उन्हें विश्व की बड़ी संस्थाओं में से एक क्लिंटन फाउंडेशन के साथ भी काम करने का मौका मिला। इन तमाम उपलब्धियों के बावजूद उनके ज़हन में कहीं न कहीं देश सेवा की भावना इस कदर परवान चढ़ गई कि उन्होंने वापस स्वदेश लौटने का फैसला किया। भारत लौटकर उन्होंने सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी। कोचिंग और किताबों की अनिवार्यता को नज़रअंदाज करते हुए उन्होंने परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी।

वो कहते हैं ना मेहनत करने वालों की कभी हार नहीं होती, इल्मा के साथ भी ऐसा ही हुआ। उनकी मेहनत रंग लाई और अपने पहले प्रयास में ही उन्होंने 217वीं रैंक हासिल कर सफलता का परचम लहरा दिया। एक सामान्य परिवार से ताल्लुक रखने वाली इल्मा बतौर आईपीएस अपनी जिम्मेदारी को भली-भांति समझती हैं। उनका कहना है कि महिलाओं को न्याय दिलाना हमेशा मेरी प्राथमिकता में शामिल रहेगा।

ये भी पढ़े :  महज छह मिनट में हैक हो रही फेसबुक आईडी, रहे सावधान....

जब एक किसान की बेटी बिना किसी कोचिंग के देश के सबसे कठिन परीक्षा को फतह करती है तो जाहिर तौर पर यह सिर्फ उनके परिवार के लिए ही नहीं बल्कि पूरे देश के लिए गर्व की बात है। इल्मा जैसी देश की बेटियों पर हमें फख्र है, जो सच में हिन्दुस्तान को महाशक्ति बनाने की काबिलियत रखते हैं।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

Maharajganj: प्राथमिक विद्यालय हो रहे मरम्मत कार्य में घटिया तरीके का किया जा रहा है प्रयोग

Maharajganj/Dhani: प्राथमिक विद्यालय हो रहें मरम्मत कार्य में अत्यन्त घटिया किस्म के मसाले व देशी बालू का अधिकता और सिमेन्ट नाम मात्र...

शायर मुनव्वर राना के बोल, ‘दोबारा सीएम बने योगी तो यूपी छोड़ दूंगा’

लखनऊ: मशहूर शायर मुनव्वर राना एक बार फिर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं।उन्होंने कहा कि अगर योगी आदित्यनाथ दोबारा...

Maharajganj: CO सुनील दत्त दूबे द्वारा कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस महानिदेशक जोन गोरखपुर ने प्रशस्ति पत्र से नवाजा।

Maharajganj/Farenda: सीओ फरेन्दा सुनील दत्त दूबे को थाना पुरन्दरपुर में नवीन बीट प्रणाली के क्रियान्वयन में कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस...
%d bloggers like this: