- Advertisement -
n
n
Friday, June 5, 2020

कोरोना के बाद अब मौसम भी करेगा परेशान, पारा जा सकता है 40 पार …

Views
Gorakhpur Times | गोरखपुर टाइम्स

बीते सर्दियों में दिल्‍ली का तापमान शिमला से भी कम हो गया था। जिस तरह दिल्‍ली ने सर्दी में सारे रिकॉर्ड तोड़े थे उसी तरह इस बार गर्मी में भी सारे रिकॉर्ड तोड़ने की तरफ बढ़ रही है। अभी अप्रैल का पहला सप्‍ताह बीतने को है और तेज धूप ने दिल्‍ली-एनसीआर में दस्‍तक दे दी है। माना जा रहा है कि आने वाले 15 दिनों के अंदर दिल्ली-एनसीआर का तापमान 40 डिग्री के आसपास पहुंच जाएगा, संभव है अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस को भी पार कर जाए।

20 अप्रैल तक पारा पहुंच सकता है 40 डिग्री के पार

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के मुताबिक, पश्चिमी विक्षोभ के चलते मौसम में थोड़ा बदलाव जरूर आएगा, लेकिन गर्मी का दौर जारी रहेगा। तेज धूप और गर्मी के बीच न्यूनतम और अधिकतम तापमान में भी इजाफा होगा। वहीं, स्काईमेट वेदर के मुख्य मौसम विज्ञानी महेश पलावत की मानें तो आने वाले समय में तेज धूप और गर्मी का दौर तेज होगा। इसी के साथ आगामी 20 अप्रैल तक अधिकतम पारा 40 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाएगा।

NOTE:  गोरखपुर टाइम्स का एप्प जरुर डाउनलोड करें  और बने रहे ख़बरों के साथ << Click

Subscribe Gorakhpur Times "YOUTUBE" channel !

The Photo Bank | अच्छे फोटो के मिलते है पैसे, देर किस बात की आज ही DOWNLOAD करें और दिखाए अपना हुनर!

 

ये भी पढ़े :  शिक्षा मंत्री ने किया गोरखपुर के इस प्राथमिक विद्यालय का औचक निरीक्षण,बच्चो से पूछा-मैम रोज पढ़ाने आती है....??

इस बार पहाड़ी इलाकों में भी पड़ेगी गर्मी

विभाग की क्षेत्रीय पूर्वानुमान इकाई के प्रमुख डा. कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि इस साल गर्मी का असर मैदानी क्षेत्रों के अलावा पहाड़ी इलाकों में भी तुलनात्मक रूप से अधिक रहने की संभावना है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश के पर्वतीय इलाकों के अलावा पश्चिमी राजस्थान में तीन महीने के दौरान औसत अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री सेल्सियस से भी अधिक जा सकता है।

इन राज्‍यों में पड़ेगी अधिक गर्मी

विभाग ने पूर्वी राजस्थान, पश्चिमी मध्य प्रदेश, गुजरात, कोंकण, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, उत्तरी और दक्षिणी कर्नाटक, गोवा, रायलसीमा और केरल तक इस अवधि में अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री सेल्सियस तक अधिक रहने का अनुमान व्यक्त किया है। देश के बाकी इलाकों में गर्मी के दौरान औसत अधिकतम तापमान सामान्य से 0.5 डिग्री सेल्सियस तक अधिक रह सकता है। विभाग ने ग्रीष्म लहर की आशंका वाले इलाकों में उत्तर के मैदानी राज्यों के अलावा गुजरात, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, ओडिशा और तेलंगाना के भी कुछ इलाकों को शामिल किया है।

Advertisements
%d bloggers like this: