Friday, September 17, 2021

कोविड-19 के कारण छात्रों का विदेश में पढ़ाई करने का सपना टूटा….

गोरखपुर:- बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार गोरखपुर। दिल्ली...

Maharajganj: औकात में रहना सिखो बेटा नहीं तो तुम्हारे घर में घुस कर मारेंगे-भाजपा आईटी सेल मंडल संयोजक, भद्दी भद्दी गालियां फेसबुक पर वायरल।

Maharajganj: महाराजगंज जनपद में भाजपा द्वारा नियुक्त धानी मंडल संयोजक का फेसबुक पर गाली-गलौज और धमकी वायरल। फेसबुक पर धानी मंडल संयोजक...

खुशखबरी:-सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक को मंजूरी 1320 करोड़ स्वीकृत

गोरखपुर के लिहाज़ से एक बड़ी ख़बर प्राप्त हो रही है जिसमे यह बताया जा रहा है कि सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक...

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद कमलेश पासवान

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद बांसगांव लोकसभा के सांसद कमलेश पासवान ने कास्त मिश्रौली निवासी भाजपा नेता...

पूर्वांचल में मदद की परिभाषा बदलने का ऐतिहासिक कार्य कर रहे हैं युवा नेता पवन सिंह….

युवा नेता पवन सिंह ने मदद करने की परिभाषा पूरी तरह बदल दी है. उन्होंने मदद का दायरा इतना ज्यादा बढ़ा दिया...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

ऑस्ट्रेलिया के डीकिन विश्वविद्यालय से स्वीकृति पत्र मिलने के बाद 21 वर्षीय तृप्ति लूथरा एक महीने पहले सातवें आसमान पर थीं लेकिन अब कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के बारे में दुनियाभर से आ रही ताजा खबरों को जानने के लिए पूरे दिन टीवी से चिपकी रहती हैं क्योंकि इस संक्रामक रोग के कारण विदेश में पढ़ने के उसके सपने पर अनिश्चितता के बादल मंडराने लगे हैं. सितंबर से शुरू हो रहे सत्र के लिए न्यूयॉर्क में पढ़ने की तैयारी करने वाली अनुष्का रे के लिए ताजा घटनाक्रम मनोबल तोड़ने वाले हैं लेकिन इससे उसकी योजना नहीं डगमगाई है.

बहरहाल, कनाडा तथा इटली के कई कॉलेजों से स्वीकृति पत्र प्राप्त करने वाली तारा ओसान का मानना है कि अब यह वक्त ‘प्लान बी’ तैयार करने और भारत के कॉलेजों में आवेदन देने का है. ऐसे कई छात्र हैं जिनकी विदेश में पढ़ाई करने की योजना विभिन्न देशों में लागू किए गए लॉकडाउन के कारण या तो टूट गई है या उसमें देरी हो गई है. कोविड-19 से पैदा हुई स्थिति के कारण दुनियाभर में कक्षाएं और वीजा प्रक्रिया निलंबित कर दी गई हैं.

ये भी पढ़े :  UPSC सिविल सर्विसेज परीक्षा का रिजल्ट घोषित,प्रदीप सिंह बने टॉपर...

लूथरा ने कहा, ‘‘मेरी ऑस्ट्रेलिया में डीकिन विश्वविद्यालय से वास्तुकला में मास्टर्स करने की योजना थी. मुझे जल्द ही वहां जाना था और मैं अपनी स्नातक की परीक्षाएं खत्म होने का इंतजार कर रही थीं. मैं अपने लिए घर ढूंढने के साथ इंटर्नशिप तलाशने के लिए कक्षाएं शुरू होने से पहले वहां जाना चाहती थी. लेकिन अब लगता है कि वक्त ठहर गया है.’’

ये भी पढ़े :  UPSC सिविल सर्विसेज परीक्षा का रिजल्ट घोषित,प्रदीप सिंह बने टॉपर...

उसने कहा, ‘‘मैंने भारत के किसी कॉलेज में आवेदन नहीं किया था और आर्थिक मंदी के कारण यहां नौकरी या इंटर्नशिप करने का विकल्प भी दूर की कौड़ी लग रहा है.’’ श्री राम स्कूल की छात्रा तारा ओसान इटली या कनाडा में विज्ञापन की पढ़ाई करना चाहती है. उसका मानना है कि आईबी सिलेबस चुनने वाले छात्र पहले ही विदेश में पढ़ने की योजना बना लेते हैं.

उसने कहा, ‘‘विदेश में पढ़ना इस साल संभव नहीं लग रहा है और अब मैं प्लान बी तैयार करुंगी और यहां कॉलेजों में आवेदन करना शुरू करुंगी.’’

हालांकि, न्यूयॉर्क में लिबरल आर्ट्स की पढ़ाई करने की इच्छा रखने वाली अनुष्का रे के लिए यह योजना अभी टली है लेकिन रद्द नहीं हुई है. ‘स्टडी अब्रॉड’ परामर्शकों के अनुसार, हालात गंभीर दिखते हैं और इसका कई लोगों की दीर्घकालीन योजनाओं पर असर पड़ सकता है.

दिल्ली में स्टडी अब्रॉड कंसल्टेंसी चलाने वाले अनुपम सिन्हा ने बताया, ‘‘कई छात्रों को पहले ही दाखिला मिल गया है लेकिन अब कक्षाएं ऑनलाइन होने और स्थिति के बारे में कोई स्पष्टता न होने से वे पुन: विचार कर रहे हैं. अभी तक जो छात्र विदेश में रहना चाहते थे उन्हें सिर्फ ऑनलाइन कक्षाएं लेने के लिए भारी भरकम फीस देना आकर्षक विकल्प नहीं लग रहा है.’’

ये भी पढ़े :  यूपी ग्राम पंचायत चुनाव: होली मिलन के बहाने 'प्रधान' साध रहे वोट बैंक

बता दें कि कोरोना वायरस का असर न केवल लोगों की सेहत पर देखने को म‍िल रहा है. बल्‍क‍ि वैश्‍व‍िक बाजार और अर्थव्‍यवस्‍था पर भी इसका असर द‍िखना शुरू हो गया है. जहां एक ओर कंपन‍ियां अपने कर्मचार‍ियों को वर्क फ्रॉम होम दे चुकी हैं, वहीं दूसरी ओर बाजार सुस्‍त होने के कारण नई नौकर‍ियों के ऑफर देने वाली कंपन‍ियां अपने हाथ पीछे खींच रही हैं. IIT द‍िल्‍ली से लेक‍र इंद्रप्रस्‍थ इंस्टीट्यूट ऑफ इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी (IIIT) दिल्ली में छात्रों को नौकरी का ऑफर देने वाली कंपनियों में से कई पीछे हट गई हैं. IIT द‍िल्‍ली के निदेशक प्रो.राम गोपाल राव ने अपने एक फेसबुक पोस्‍ट में कंपन‍ियों से अपील की है क‍ि नौकरी देने का अपना वादा वो न‍िभाएं. बता दें क‍ि इस साल आईआई द‍िल्‍ली के 1500 छात्रों को प्‍लेसमेंट के जर‍िये जॉब ऑफ‍र म‍िले हैं.

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

यूपी बोर्ड 2021: हाईस्कूल और इंटर की परीक्षाएं आठ मई से, स्कीम जारी

लखनऊ. यूपी बोर्ड 2021 के हाईस्कूल और इंटर की परीक्षाएं अब 24 अप्रैल की जगह आठ...

यूपी ग्राम पंचायत चुनाव: होली मिलन के बहाने ‘प्रधान’ साध रहे वोट बैंक

Maharajganj: यूपी में ग्राम पंचायत चुनाव की तैयारियां जोरों पर हैं। उम्मीदवार भी अपने सभी कील कांटे के साथ रणनीति बना रहे...

ब‍िजनेसमैन की पत्नी को लूटकर बदमाश ने छूए पैर, बोला- बहन की शादी करना है, माफ कर देना

टॉय गन की मदद से एक बदमाश ने होजरी व्यवसायी की पत्नी, नौकरानी को बंधक बनाकर लगभग 4 लाख का माल लूट...
%d bloggers like this: