Thursday, September 16, 2021

कोविड 19 : डॉक्टरों ने बताया क्यों कम हैं महिलाओं की मौत के आंकड़े…

गोरखपुर:- बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार गोरखपुर। दिल्ली...

Maharajganj: औकात में रहना सिखो बेटा नहीं तो तुम्हारे घर में घुस कर मारेंगे-भाजपा आईटी सेल मंडल संयोजक, भद्दी भद्दी गालियां फेसबुक पर वायरल।

Maharajganj: महाराजगंज जनपद में भाजपा द्वारा नियुक्त धानी मंडल संयोजक का फेसबुक पर गाली-गलौज और धमकी वायरल। फेसबुक पर धानी मंडल संयोजक...

खुशखबरी:-सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक को मंजूरी 1320 करोड़ स्वीकृत

गोरखपुर के लिहाज़ से एक बड़ी ख़बर प्राप्त हो रही है जिसमे यह बताया जा रहा है कि सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक...

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद कमलेश पासवान

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद बांसगांव लोकसभा के सांसद कमलेश पासवान ने कास्त मिश्रौली निवासी भाजपा नेता...

पूर्वांचल में मदद की परिभाषा बदलने का ऐतिहासिक कार्य कर रहे हैं युवा नेता पवन सिंह….

युवा नेता पवन सिंह ने मदद करने की परिभाषा पूरी तरह बदल दी है. उन्होंने मदद का दायरा इतना ज्यादा बढ़ा दिया...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

दुनिया भर के जिन देशों में नोवेल कोरोना वायरस (Novel Coronavirus) महामारी (Pandemic) का कहर टूटा है, वहां किए गए अध्ययन (Study) में खुलासा हुआ है कि महिलाओं की तुलना में संक्रमित पुरुषों के मारे जाने की आशंका ज़्यादा है. एक रिपोर्ट के मुताबिक सबसे पहले यह अंतर चीन (China) में देखा गया, जहां संक्रमित पुरुषों में से 2.8 फीसदी की जान गई (Casuality) लेकिन संक्रमित महिलाओं में से 1.7 फीसदी की ही.

इसी तरह यह अंतर कई देशों में देखा गया. अल जज़ीरा की रिपोर्ट के हवाले से कहा जा रहा है कि इटली (Italy) में भी ऐसा ही अंतर देखा गया जहां 7.2 संक्रमित (Infected) पुरुष मारे गए जबकि 4.1 महिलाएं. दक्षिण कोरिया (South Korea) में वायरस की चपेट में महिलाएं ज़्यादा आईं लेकिन संक्रमितों में से 54 फीसदी मौतों के शिकार पुरुष रहे. हालांकि वैज्ञानिक अभी इसके कारणों के बारे में पूरी तरह नहीं समझ सके हैं, लेकिन कई थ्योरीज़ अब तक संभावना के तौर पर सामने आ रही हैं.

खराब लाइफस्टाइल

डॉ कयात ने इस रिपोर्ट में लिखा है कि तंबाकू और अल्कोहल जैसी आदतें पुरुषों में ज़्यादा देखी गई हैं और लाइफस्टाइल में खानपान संबंधी खराब आदतें भी पुरुषों में ज़्यादा हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़े भी कहते हैं कि पुरुष महिलाओं की तुलना में पांच गुना ज़्यादा स्मोकिंग व अल्कोहल का सेवन करते हैं.

ये भी पढ़े :  शानदार सफलता : मजदूर की बेटी को प्रशासनिक सेवा में फर्स्ट रैंक, पति ने भी बाजी मारी....

स्मोकिंग करने वाला कोई व्यक्ति अगर कोरोना वायरस की चपेट में आता है, तो उसकी सेहत में कई तरह की गंभीर दिक्कतें आ सकती हैं. अल जज़ीरा की रिपोर्ट कहती है कि हालांकि इटली में जब स्मोकिंग के आंकड़े कोरोना के कारण हुई मौतों के आंकड़ों से मिलाए गए, तो यह थ्योरी पूरी तरह संतोषजनक नहीं थी कि क्यों महिलाओं की तुलना में पुरुष इस संक्रमण के कारण ज़्यादा मारे गए.

ये भी पढ़े :  बड़ी खबर:- इस बार करीब पांच लाख करोड़ का होगा प्रदेश का बजट, नई योजनाओं पर सरकार में चल रहा है मंथन....

डॉक्टर लगातार सलाह देते रहे हैं कोरोना वायरस जैसे संक्रमणों से बचने के लिए कुछ कुछ देर में हाथों को कुनकुने पानी और साबुन से ठीक तरह से धोने की आदत फायदेमंद है. लेकिन, इस रिपोर्ट में डॉ कयात ने लिखा है कि अध्ययन बताते हैं कि हाथ धोने की आदत को लेकर पुरुषों से कहीं ज़्यादा महिलाएं सतर्क रहती हैं.

इस रिपोर्ट में कहा गया है कि अमेरिका में 2009 में हुई एक स्टडी में पाया गया था कि पब्लिक टॉयलेट के इस्तेमाल के बाद 31 फीसदी पुरुषों में हाथ धोने की आदत देखी गई जबकि 65 फीसदी महिलाओं में. लेकिन, यह थ्योरी भी इसलिए फेल होती है क्योंकि पुरुष और महिलाओं में संक्रमण तकरीबन बराबरी से फैल रहा है, बस मौतों के मामले में पुरुषों का प्रतिशत ज़्यादा है.

मेडिकल चेकअप थ्योरी

डॉ. कयात की रिपोर्ट में साफ कहा गया है कि स्वास्थ्य संबंधी जागरूकता के मामले में महिलाएं पुरुषों से आगे हैं. सामान्य फिज़िशियन के पास पुरुष कम जाया करते हैं. साथ ही, पुरुष अपनी समस्याओं को स्वीकार करने और मेडिकल मदद लेने में कोताही बरतते हैं. रिपोर्ट कहती है कि इस कारण यह संभव है कि पुरुष लक्षणों के गंभीर होने तक इंतज़ार करते हैं, जिससे उनके बचने की संभावना कम होती जाती है जबकि महिलाएं शुरूआती लक्षणों से ही चेत जाती हैं.

ये भी पढ़े :  सपा से दो बार मंत्री रहे डॉ•के•सी•पाण्डेय का पार्टी से अलग होना तय।

इम्युनिटी सिस्टम

डॉ. कयात की रिपोर्ट की मानें तो अन्य वायरसों से जुड़े पिछले कुछ अध्ययनों में पता चला कि वायरल इन्फेक्शन के समय महिलाओं की इम्युनिटी बेहतर ढंग से प्रतिरोध करती है. सरल अर्थ ये है कि वायरल संक्रमण को अपने शरीर से महिलाएं जल्दी दूर करने में सक्षम होती हैं. डॉ. कयात ने यह भी लिखा है कि इस इम्युनिटी का एक दुर्भाग्यपूर्ण खतरा यह है कि महिलाओं को ऑटोइम्यून समस्याओं का सामना भी करना पड़ता है.

हॉर्मोन थ्योरी

अध्ययनों के हवाले से इस थ्योरी में कहा गया है कि वायरस संबंधी इम्युनिटी महिलाओं के मासिक धर्म की साइकल के अलग अलग स्टेजों में हार्मोन में आने वाले बदलावों पर निर्भर करती है. इसके साथ ही, गर्भनिरोधक दवाओं, गर्भधारण और मीनोपॉज़ की स्थितियों में भी हार्मोन्स में बदलाव आते हैं. इन कारणों से संभव है कि कोविड 19 से जुड़ी मृत्यु दर के पीछे कहीं न कहीं महिलाओं की हॉर्मोनल स्थिति की कुछ भूमिका हो.

ये भी पढ़े :  बड़ी खबर:- इस बार करीब पांच लाख करोड़ का होगा प्रदेश का बजट, नई योजनाओं पर सरकार में चल रहा है मंथन....

अतिरिक्त X क्रोमोज़ोम

रिपोर्ट में आखिरी थ्योरी है कि महिलाओं के इम्युनिटी सिस्टम के अलग अलग बर्ताव करने के पीछे उनके शरीर में एक अतिरिक्त क्रोमोज़ोम की मौजूदगी है. डॉ. कयात ने लिखा है कि महिलाओं के पास दो X क्रोमोज़ोम (XX) होते हैं, जबकि पुरुषों के पास एक (XY). हमारे इम्यून रिस्पॉंस को नियंत्रित करने वाले अनेक जीन्स X क्रोमोज़ोम में ही कोडेड होते हैं इसलिए इस थ्योरी को समझना होगा.

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

पूर्वांचल में मदद की परिभाषा बदलने का ऐतिहासिक कार्य कर रहे हैं युवा नेता पवन सिंह….

युवा नेता पवन सिंह ने मदद करने की परिभाषा पूरी तरह बदल दी है. उन्होंने मदद का दायरा इतना ज्यादा बढ़ा दिया...

स्वर्णकार समाज ने लोकसभा , विधानसभा में अपने प्रतिनिधित्व के लिए भरी हुँकार,जल्द प्रदेश व्यापी होगी सभा

स्वर्णकार समाज का स्वर लोकसभा एवं विधानसभाओं में मुखरित हो प्रतिनिधित्व सभी पंचायतों में हो इस विचार के साथ स्वर्णकार समाज...

यूपी में कई IPS बदले गए,दिनेश कुमार गोरखपुर के नए एसएसपी.

कई IPS के तबादले हुए जिसमे गोरखपुर के एसएसपी जोगेंद्र कुमार को झाँसी का नया डीआईजी बनाया...
%d bloggers like this: