- Advertisement -
n
n
Friday, May 29, 2020

कौन से वो तीन कारण हैं, जिनकी वजह से बढ़ सकता है लॉकडाउन

Views
Gorakhpur Times | गोरखपुर टाइम्स

पीएम मोदी ने किया था 14 अप्रैल तक देशव्यापी लॉकडाउन का ऐलान 

कोरोना वायरस के केस लगातार बढ़ते जा रहे हैं. देश में ये आंकड़ा 4 हजार के पार हो चुका है. इसके चलते देशभर में 21 दिन का लॉकडाउन है. ये लॉकडाउन 25 मार्च से शुरू हुआ था, जो 14 अप्रैल की रात को खत्म होगा. लेकिन लगातार बढ़ रहे मामलों के बीच अब सबके मन में यही सवाल है कि क्या वाकई में 14 अप्रैल को लॉकडाउन खत्म हो जाएगा, या फिर इसे कुछ हफ्तों के लिए बढ़ाया जा सकता है. यहां हम आपको तीन ऐसे कारण बता रहे हैं जिनकी वजह से लॉकडाउन खत्म होने में मुश्किल आ सकती है.

NOTE:  गोरखपुर टाइम्स का एप्प जरुर डाउनलोड करें  और बने रहे ख़बरों के साथ << Click

Subscribe Gorakhpur Times "YOUTUBE" channel !

The Photo Bank | अच्छे फोटो के मिलते है पैसे, देर किस बात की आज ही DOWNLOAD करें और दिखाए अपना हुनर!

 

देशभर में लॉकडाउन का ऐलान करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि इस खतरनाक वायरस को रोकने के लिए यही एक तरीका है. अगले 21 दिन तक भूल जाइए कि घर से निकलना क्या होता है. तभी हम इस पर काबू पाएंगे.

लेकिन क्या वाकई में ऐसा हो पाया? लॉकडाउन के दौरान कई ऐसे मामले सामने आए जिन्होंने करोड़ों लोगों की मेहनत पर पानी फेर दिया.

लॉकडाउन का सही पालन न होना

इसीलिए हम लॉकडाउन खत्म नहीं होने की सूरत में पहला कारण इसे ही मान रहे हैं. लॉकडाउन के दौरान कई शहरों में ऐसे लोग मिले जिन्होंने खुद के साथ-साथ दूसरों की जान भी खतरे में डाल दी. इसका सबसे बड़ा उदाहरण दिल्ली में आयोजित तबलीगी जमात है. जहां से करीब 1500 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. इन लोगों ने देशभर में कई राज्यों की यात्रा भी कर डाली. जिससे कोरोना के मामले भी तेजी से बढ़े. इसीलिए अगर लॉकडाउन बढ़ाया जाता है तो इसका ये भी एक बड़ा कारण होगा.

ये भी पढ़े :  बच्ची की तरफ देखकर खाना खा रहे इस पुलिस वाले की वायरल फोटो के बारे में जान लीजिए

अब लॉकडाउन बढ़ाए जाने की सूरत में दूसरा कारण राज्यों की तरफ से केंद्र को मिल रहे सुझाव हैं. कुछ राज्यों ने केंद्र सरकार से अपील की है कि वो मौजूदा हालात को देखते हुए लॉकडाउन को आगे बढ़ा दें. वहीं कुछ राज्यों ने तो इसके संकेत भी दिए हैं कि वो लॉकडाउन को बढ़ा सकते हैं. तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर राव ने केंद्र को सलाह दी है कि “लॉकडाउन को आगे बढ़ाया जाना चाहिए. इसमें कोई झिझकने की जरूरत नहीं है.” वहीं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि,

“परिस्थिति देखकर केंद्र सरकार फैसला करे. लोगों की जिंदगी ज्यादा जरूरी है. लॉकडाउन सह लेंगे, अर्थव्यवस्था बाद में भी खड़ी हो जाएगी, लेकिन लोगों की जिंदगी वापस नहीं आएगी. भोपाल और इंदौर में हालात खराब हैं, अगर जरूरत पड़ी तो हम इसे आगे भी बढ़ाएंगे.”

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी लॉकडाउन को बेहद जरूरी बताया है. उधर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने भी इसी तरह के संकेत दिए हैं.

ये भी पढ़े :  मिशन ‘वंदे भारत’ और ‘समुद्र सेतु, विदेशों से लौटे सैकड़ों भारतीयमिशन ‘वंदे भारत’ और ‘समुद्र सेतु, विदेशों से लौटे सैकड़ों भारतीय

लॉकडाउन को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय की प्रेस कॉन्फ्रेंस में जब सवाल पूछा गया तो उन्होंने जवाब दिया कि सोशल मीडिया पर कई खबरें चल रही हैं. लेकिन जब तक मंत्रालय की तरफ से जानकारी नहीं मिलती इसे सही न मानें. अभी इसके लिए थोड़ा इंतजार करें. अगर कोई फैसला लिया जाएगा तो मीडिया को इसकी जानकारी दी जाएगी.

वहीं न्यूज एजेंसी एएनआई ने सरकारी सूत्रों के हवाले से ये भी बताया है कि कुछ एक्सपर्ट्स और राज्य सरकारों की सिफारिश के बाद केंद्र सरकार भी लॉकडाउन बढ़ाने की दिशा में सोच रही है. खुद उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने भी इसके संकेत दिए. उन्होंने कहा, ‘‘ मेरे विचार से अर्थव्यवस्था की चिंताएं एक और दिन इंतजार कर सकती हैं, स्वास्थ्य नहीं.’’

Advertisements
%d bloggers like this: