Monday, July 22, 2019
National

कौन है यह खूबसूरत पाकिस्तानी युवती, जिसके चक्कर में फंस रहे भारतीय सैनिक

सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर अनिका चोपड़ा भारतीय सेना के जवानों को अपनी अदाओं का दीवाना बनाकर खुफिया जानकारी लेती रही है। अनिका चोपड़ा पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आइएसआइ की एजेंट बताई जा रही है, जो जवानों को हनीट्रैप का शिकार बनाती है। अनिका चोपड़ा इससे पहले कई अन्य भारतीय सेना से जुड़े युवकों को भी अपने जाल में फंसा चुकी है। यह उसका तीसरा मामला है, जिसमें उसने नारनौल के गांव बसई निवासी रवींद्र यादव (भारतीय सेना के जवान) को हनीट्रैप में फंसा लिया। हालांकि, जानकार मानते हैं कि यह संख्या बढ़ भी सकती है, क्योंकि अनिका चोपड़ा लगातार पाकिस्तान से ही भारतीय जवानों को फंसाने में लगी रहती है।
गौरतलब है कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ हर समय इस ताक में रहती है कि वह हनीट्रैप के जरिये भारतीय थल सेना, वायुसेना और नौसेना से जुड़े लोगों को फंसाए। इसके लिए उसने हनीट्रैप का ऐसा जाल बुना है कि अब तक दर्जन भर सेना के अधिकारी-कमर्चारी फंस चुके हैं। आइएसआइ द्वारा ट्रेंड की गई लड़कियां भारतीय सैन्य अफसरों-सैनिकों को हनीट्रैप में फंसाती हैं और फिर प्यारी-प्यारी बातें कर उनसे गोपनीय जानकारियां हासिल कर लेती हैं। पिछले 5 साल के दौरान हनीट्रैप पर नजर डालें तो जाहिर होता है कि सोशल मीडिया के जरिए सेना से जुड़े लोगों को फंसाया जाता है। कई दफा दुश्मन देश के लोग युवती की आवाज में बात करके भी जानकारी ले लेते हैं। ज्यादातर मामले में पाया गया है कि फोन पर या सोशल मीडिया पर चैट कर रही युवती खुद को विदेशी महिला तक बताती है।
बता दें कि इसी साल जनवरी में ही सोशल मीडिया पर हनीट्रैप में फंसने के बाद पाकिस्तान की जासूसी एजेंसी आईएसआई को गोपनीय सूचनाएं देने के मामले में एक जवान को गिरफ्तार किया गया था। सोमबीर नाम के इस जवान को राजस्थान के जैसलमेर जिले में तैनात किया गया था. वह फेसबुक पर रोजाना अनिका चोपड़ा नाम की प्रोफाइल से बातचीत करता था, जिसका संचालन ISI कर रही थी। जवान ने अपनी यूनिट और उसके मूवमेंट के बारे में जानकारी दी थी। फरवरी, 2018 में भी 51 वर्षीय वायुसेना के ग्रुप कैप्टन अरुण मारवाहा को पाकिस्तानी एजेंट्स को गोपनीय सूचनाएं और दस्तावेज लीक करने के मामले में गिरफ्तार किया गया था। बता दें सेना में सोशल मीडिया के इस्तेमाल पर सख्त गाइडलाइंस हैं. इनके मुताबिक सेना के जवान सोशल मीडिया पर न वर्दी के साथ कोई फोटो लगा सकते हैं और न ही अपनी पहचान, रैंक, पोस्टिंग और अन्य जानकारियां ही उजागर कर सकते हैं। रोहतक के गौरव को भी फंसा चुकी है अनिका मिली जानकारी के मुताबिक, इससे पहले सेना की तैयारी कर रहे रोहतक के गौरव को अपने जाल में फंसा चुकी है। पुलिस ने छानबीन की तो सामने आया कि अनिका चोपड़ा आइएसआइ की एजेंट है। जो सेना के जवानों को अपने अदाओं के जाल में फंसाकर खुफिया जानकारी लेती है। पहला मामला रोहतक का है। रोहतक का गौरव भारतीय सेना में तो नहीं था, लेकिन उसने सेना के लोगों की फोटो और सेना की भर्तियों की फोटो फेसबुक पर वायरल की थी। उसने विदेशी एजेंट को किस तरह से भर्ती होती है, किस तरह से क्या पैमाने हैं और भारतीय सेना का केंद्र कहां पर है, संबंधी जानकारी दी थी। राजस्थान को सोमवीर भी आ चुका है झांसे में दूसरा मामला जैसलमेर का है। यहां पर रोहतक के गांव फरमाणा निवासी सोमवीर सिंह को राजस्थान पुलिस ने जैसलमेर मिलिट्री स्टेशन से काबू किया था। राजस्थान पुलिस ने जब आरोपित सेना के जवान से पूछताछ की थी तो उसने भी बताया कि अनिका चोपड़ा नामक महिला से फेसबुक के जरिए दोस्ती हुई थी। फिर वह वाट्सएप पर नंबर के जरिए जानकारी शेयर की। अब रवींद्र अनिका चोपड़ा का तीसरा शिकार बना है। पठानकोट हमले में आया था मामला सामने पठानकोट एयरफोर्स स्टेशन में तैनात एयरमेन सुनील कुमार को एक महिला को गोपनीय जानकारियां ई-मेल करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया। सुनील कुमार पैसों के एवज में मीना रैना नाम के एक अकाउंट पर जानकारियां भेज रहा था। पठानकोट एयरबेस की साइबर टीम सुनील कुमार पर लगातार नज़र रखे हुए थी। कुछ साल पहले सिकंदराबाद में तैनात भारतीय सेना के जवान नायब सूबेदार पाटन कुमार पोद्दार पाकिस्तान की एक महिला जासूस के जाल में फंस गया और लंबे समय तक सेना के अहम राज बताता रहा था। जानकारियों के एवज में महिला पाटन कुमार को पैसों के अलावा अपनी न्यूड तस्वीरें और वीडियो भेज रही थी, इतना ही नहीं इसके साथ ही पाटन कुमार को लंदन घुमाने का वायदा भी किया गया था।

Advertisements
%d bloggers like this: