Saturday, August 17, 2019
Gorakhpur

खिचड़ी मेले में आकर्षण का केन्द्र बना मौत का कुआं ….

गोरखपुर में खिचड़ी पर्व नजदीक आते ही गोरखनाथ में खिचड़ी मेले की तैयारियां जोरों पर है। मेले की सभी तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं। दुकानें सजनी शुरू हो चुकी हैं। नव वर्ष से ही सभी दुकानें सज चुकी हैं। इसके साथ ही मेले का लुत्फ उठाने वाले लोगों का जमावड़ा लगना शुरू हो गया है।

गोरखनाथ मेले में मौत का कुआं लग चुका है। मुजफ्फरनगर से करतब दिखाने वाले कलाकार गोरखनाथ में लगने वाले मेले में आ चुके हैं। मेले में यह इकलौता मौत का कुआं लगा हुआ है। लगभग डेढ़ महीने तक कलाकार करतब दिखाएंगे। 22 दिसम्बर से गोरखनाथ में कलाकार आ चुके हैं जबकि 26 दिसम्बर से शो दिखाना शुरू हो गया। इस शो में कुल सात कलाकार हैं। 10 मिनट के शो में चार मारुति चलाने वाले व 3 मोटरसाइकिल चलाने वाले कलाकार हैं जो विभिन्न प्रकार के करतब दिखाते हैं। 500 दर्शक एक साथ बैठकर शो का आनन्द ले सकते हैं।

दर्शकों का जमावड़ा लगना शुरू हो गया है। मन्दिर में दर्शन करने वाले श्रद्धालु बरबस मेले की ओर खिंचे चले आ रहे हैं। 1 जनवरी से मेला देखने वाले लोगो की भीड़ जुटनी शुरू हो गई है। अभी तक सोनी खान की टीम ने देश के कई हिस्सों में अपना करतब दिखाया है। महाराष्ट्र, गुजरात, केरल, कर्नाटक, उड़ीसा सहित नेपाल में भी अपना करतब दिखा चुके हैं। लगभग 15 लोगों की टीम है।

टीम जगह-जगह पूरे साल करतब दिखाती है। यही उनकी रोजी-रोटी का जरिया है। मौत का कुआं देखने के लिए प्रति व्यक्ति 30 रुपए टिकट शुल्क रखा गया है। सोनी खान ही अपने युवाओं को प्रशिक्षण देते हैं। एक कलाकार को तैयार करने में लगभग डेढ़ माह समय लगता है। तीन पीढ़ियों से वह इस व्यवसाय से जुड़े हुए हैं।

Advertisements
%d bloggers like this: