Wednesday, March 20, 2019
GorakhpurUttar Pradesh

गन्ना उत्पादन किसान संघ के प्रदेश अध्यक्ष डॉ के सी पाण्डेय दी स्पष्ट चेतावनी ,आगामी 31 मार्च तक समस्त गन्ना मूल्य का करे भुगतान…

उत्तर प्रदेश गन्ना उत्पादक किसान संघ के प्रदेश अध्यक्ष और यू पी सरकार के पूर्व राज्यमन्त्री डॉ के सी पाण्डेय ने स्पष्ट चेतावनी दी है कि आगामी 31 मार्च तक समस्त गन्ना मूल्य का भुगतान न करने वाली चीनी मिलों का एक अप्रैल से गन्ना उत्पादक किसान संघ पूरे प्रदेश में घेराव शुरू करेगा । प्रदेश की चीनी मिलों पर चालू सीजन के साढ़े तेरह हजार करोड़ रुपए गन्ना मूल्य बाकी पड़ा है, जिससे गन्ना किसान बेहाल और परेशान है ।

डॉ पाण्डेय आज 141-न्यू बी ब्लॉक विधायक निवास दारुलशफा पर गन्ना उत्पादक किसान संघ की प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे । उन्होंने कहा कि सरकार 14 दिनों से अधिक बकाया रखने वाली चीनी मिलों से ब्याज सहित भुगतान कराए पूरी तरह विफल प्रमाणित हुई है।इतना ही नही केन यूनियने गन्ना पर्ची ब्लैक में बेच रही है और जो गन्ना मूल्य चीनी मिल मालिकों ने और सरकार ने गन्ना समितियों को भुगतान के लिए दे भी दिया है उसे गन्ना समितियां ब्याज पर देकर पैसा कमा रही है।

डॉ पाण्डेय ने प्रदेश सरकार से सीधे सीधे चीनी मिल गेट पर गन्ना खरीदने और वही सीधे सीधे किसानों को भुगतान देने की नीति घोषित करने की माँग की है । उन्होंने कहा कि जब तक पूरे गन्ने की पेराई न हो जाय तबतक किसी भी चीनी मिल को बन्दी नही होनी चाहिए ।वर्तमान में चीनी मिलों का रिकवरी परता भी 7 से9 प्रतिशत है।ऐसी दशा में सीमा पर स्थित चीनी मिलों द्वारा अगर बिहार और नेपाल के गन्ने की धड़ल्ले से पेराई की जा रही है उस पर कड़ाई से रोक लगाई जाय ।

Advertisements
%d bloggers like this: