Sunday, August 1, 2021

गरीबों की गलती की सजा होती है, पर अमीरों की गलती का क्या ?

गोरखपुर के नवोदित कलाकारो से सजी फ़िल्म ‘ऑक्सीजन ‘के अभिनव प्रयास की खूब हो रही चर्चा

नवोदित कलाकारों को लेकर डॉ. सौरभ पाण्डेय की फ़िल्म 'ऑक्सीजन 'के अभिनव प्रयास ने रचा इतिहास

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण।

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण। ...

Maharajganj: प्राथमिक विद्यालय हो रहे मरम्मत कार्य में घटिया तरीके का किया जा रहा है प्रयोग

Maharajganj/Dhani: प्राथमिक विद्यालय हो रहें मरम्मत कार्य में अत्यन्त घटिया किस्म के मसाले व देशी बालू का अधिकता और सिमेन्ट नाम मात्र...

Maharajganj: नालियों के टूट जाने और समय से सफाई न होने से लोग हो रहे परेशान, जांच कर सम्बन्धित कर्मचारियों पर होगी कार्रवाई –...

महाराजगंज/धानी: महाराजगंज जनपद के धानी ब्लाक के अधिकारी भूल चूके हैं अपनी जिम्मेदारी। ग्राम सभा पुरंदरपुर के टोला केवटलिया में नाली टूट...

Maharajganj: दबंग पंचायत मित्र द्वारा किया जा रहा है अवैध नाली का निर्माण।

महराजगंज- फरेंदा ब्लॉक के अंतर्गत ग्राम सभा पिपरा तहसीलदार में पंचायत मित्र द्वारा अपने व्यक्तिगत नाली का निर्माण ग्राम सभा के मुख्य...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

गलती और सजा एक सिक्के के ही दो पहलू होते है | क्या गरीबों की गलती और अमीरों की गलती मे फर्क होता है ? पर जब बात मानव और मानवता पर आ जाये तो ? बात जब अस्तित्व बचाने की आ जाये तो ? बात जब जीवन को बचाने की हो तो ? बात खुद को सुरक्षित रखने की आ जाये तो ? ऐसे ढेरों सवाल निसन्देह हम सब के मन मे अक्सर घुमतें रहते है | पर उसके उत्तर का क्या?

एक आम आदमी बैंक से लोन लेता है और जमा न करने पर वह जेल मे डाल दिया जाता है जबकि एक अमिर व्यक्ति बैंक से लोन लेकर या तो विदेश भाग जाता है या फिर देश मे ही रहकर लोन न जमा करने के बावजूद बड़े आराम से यह कह सकता है की मेरे पास पैसे नहीं है बैंक को देने को | अरे घबराइए नहीं अमीरों मे भी दो श्रेणी है, एक आदमी जनता से पैसे जमा कराकर दशकों से उनके हितों को सुरक्षित करने के साथ-साथ जीवन बेहतर करता है तो ऐसे आदमी को झूठी और नियमों का हवाला देकर जेल मे डाल दिया जाता है | मतलब साफ है सरकार किसी की भी हो जिसकी जीतनी पहुँच उसको उतना लाभ हमेशा से मिलता रहा है और शायद आगे भी मिलता रहेगा |

ये भी पढ़े :  गोरखपुर के छात्रों ने वाल पेंटिंग के जरिये दिया समाजिक संदेश,सैकड़ो छात्र गोरखपुर महोत्सव में चार-चांद लगाने में कर रहे मदद....

भारत मे कोरोनावायरस का संक्रमण 1 केस से बढ़कर अब 23 हजार के ऊपर हो चुका है | हर जगह लोग सरकार के नियमों के पालन मे लगे हुये है की कैसे इस महामारी से स्वयं को और देश को बचाया जाए | सरकार द्वारा किया गया लॉक-डाउन का लोगों ने खुले मन से स्वागत किया हुआ है | महीने भर का समय लॉक-डाउन मे व्यतीत हो चुका है | इस महीने भर मे अनेकों लोगों ने ढेरों समस्याओं परेशानियों का सामना किया है | सरकार द्वारा कही-कही की गयी कार्यवाही भी विवादों के घेरे मे रही है जैसे वाराणसी से कुछ विशेष लोगों को गुजरात भेजा जाना | कोटा से कुछ लोगों को अन्य प्रदेशों मे भेजा जाना | तो ऐसे मे सभी के जेहन मे यह बात अवश्य आती है की दिल्ली, मुम्बई समेत अनेकों राज्यों मे अपने घरों से दूर रहकर कार्य कर रहें लोगों के लिए कोई व्यवस्था क्यों नहीं ? उत्तर भारत से मुम्बई मे लाखों लोग रहते है एक ही घर मे 6 से 7 लोग रहते है जहां मात्र सोने तक की जगह होती है | कई दैनिक कार्य से अपनी आमदनी करके जीवन चलातें है अब उनका क्या हो रहा | ऐसे लोगो के लिए सोशल डिस्टेनसिंग के क्या मायने है |

ये भी पढ़े :  देवरिया में युवती से छेड़खानी, परिजन को पीटा....

शायद कुछ लोग यह भी सोच रहे हो, की जब पूरा देश कोरोना वायरस से लड़ रहा है तो, इन बातों के क्या मायने | चलिए एक कदम आगे की बात करते है की यह संक्रमण देश मे आया कैसे रहा होगा | और आया तो आने वाले लोगों को देश के अन्य हिस्सों मे कैसे जाने दिया गया | खुफियाँ एजेंसियां इस विषय मे क्या कर रही थी | उन लोगों की जिम्मेदारी क्या जिन्होंने देश को इस स्थिति मे ला खड़ा किया है | आज इस समस्या से पीस रहा है तो आम आदमी जिसके सपने सुबह से शुरू होकर शाम को या तो पूरे हो जाते थे या खत्म | आज उन सपनों को घर की चारदीवारी मे टूटते हुए देखा जा सकता है | मिलों दूर पैदल चलकर लोग अपने घर को पहुचने को बेताब है | कई लोगों की यात्रा के वजह से मृत्यु हो गयी है ऐसे मे उनके लिए किसी वायरस से बड़ा जीवन का संघर्ष है | कई मजदूरों की बातों ने सभी को व्यथित किया होगा की “कोरोनावायरस से तो पता नहीं मरेगे की नहीं पर भूख से जरूर मर जायेगे”

ये भी पढ़े :  गोरखपुर के छात्रों ने वाल पेंटिंग के जरिये दिया समाजिक संदेश,सैकड़ो छात्र गोरखपुर महोत्सव में चार-चांद लगाने में कर रहे मदद....
ये भी पढ़े :  परंपरागत तरीके से मनाएं दुर्गा पूजा व दशहरा- जिलाधिकारी दुर्गा पूजा दशहरा एवं  नवरात्रि  पर्व को सकुशल संपन्न कराए जाने संबंधी तैयारी को लेकर कलेक्ट्रेट में हुआ बैठक आयोजित

चलिए छोड़िए भी, आप सब सोच रहे होंगे अब इन बातों का क्या ? पर ऐसा पहले से होता चला आया है और आगे भी होता रहेगा | जिसने लोगों के लिए समस्या का निर्माण किया आज उनका कही आता-पता नहीं | कनिका कपूर को ही ले लीजिए | आज कहा है किसे पता ? क्या कार्यवाही हो रही किसे पता ? पर हम सब जुड़े है दिल से सोच से नेतृत्व से जीवन को बचाने के लिए और लड़ने के लिए कोरोनावायरस की महामारी से |

डॉ. अजय कुमार मिश्रा (लखनऊ)

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

गोरखपुर के नवोदित कलाकारो से सजी फ़िल्म ‘ऑक्सीजन ‘के अभिनव प्रयास की खूब हो रही चर्चा

नवोदित कलाकारों को लेकर डॉ. सौरभ पाण्डेय की फ़िल्म 'ऑक्सीजन 'के अभिनव प्रयास ने रचा इतिहास

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण।

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण। ...

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...
%d bloggers like this: