Monday, August 10, 2020

श्रीरामजन्मभूमि व गोरक्षपीठ का अटूट सम्बन्ध,श्रीराम जन्मभूमि के आंदोलन में प्रथम पंक्ति के आंदोलनकर्ता थे ब्रह्मलीन महंत अवैद्यनाथ….

बड़ी खबर:गोरखपुर में नही निकलेगा मोहर्रम का जुलूस,पढा जाएगा फातिहा…

कोरोना लगातार पांव पसारते जा रहा।।कोरोना मरीजो की संख्या बढ़ती जा रही।।इससे सुरक्षा के मद्देनजर गोरखपुर में इस साल मोहर्रम का जुलूस...

कोरोना के शिकंजे में गोरखपुर:आज फिर मिले 200 से अधिक कोरोना मरीज……

गोरखपुर में कोरोना अपना शिकंजा कसते ही जा रहा।।आज फिर गोरखपुर में 235 नए कोरोना मरीज मिले...

पीएम मोदी को मिलने जा रहा है अभेद्य किला,बाल भी बाँका नहीं कर पायेगा कोई ….

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप जिस विमान में सफर करते हैं, ठीक वैसा ही विमान अब पीएम नरेंद्र मोदी भी इस्तेमाल करने वाले हैं

कोरोना का कहर:पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी कोरोना पॉजिटिव….

कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा।।आज पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी भी इसके चपेट में आ गए।।पूर्व...

गोरखपुर के सैकड़ों गांवों समेत प्रदेश में 802 गाँव बाढ़ की चपेट में,लगी हैं 780 नावे बचाव में

उ.प्र. के 20 जनपदों अंबेडकरनगर, अयोध्या, आजमगढ़, बहराइच, बलिया, बलरामपुर, बाराबंकी, बस्ती, गोंडा, गोरखपुर, कुशीनगर, लखीमपुरखीरी, मऊ, सिद्धार्थनगर, महाराजगंज, देवरिया, संतकबीरनगर, पीलीभीत,...

5 अगस्त को वो होने जा रहा जो हमारे पूज्य सन्तो व समस्त हिंदू समाज का सपना था।।5 अगस्त के दिन राम लला के भव्य मंदिर निर्माण की शिला रखी जायेगी ये शीला एक शिला नही सन्त व राम भक्तों के सपनो की शिला है जिसके लिए अनेक सन्तो ने अपने जीवन को खपा दिया वो इस मंदिर के लिए जिये व इस मंदिर के लिए ही मरे।। इन्ही सन्तो में प्रमुख सन्त रहे ब्रह्मलीन महंत दिग्विजय नाथ व ब्रह्मलीन महंत अवैद्यनाथ..!!

उनके संघर्षों को देखते हुए कहा जा सकता है मन्दिर उनके लिए आंदोलन नही जीवन का मिशन था।।1934 से लेकर 1949 तक महंत दिग्विजय नाथ ने मन्दिर के लिए कई आंदोलन किये।।ढांचे में राम लला को स्थापित करने में भी उनकी प्रमुख भूमिका रही है।। इनके बाद इनके शिष्य व गोरक्षपीठाधीश्वर बने महंत अवैद्यनाथ महराज ने कमान संभाली।।ब्रह्मलीन महंत अवैद्यनाथ राममंदिर आंदोलन के लिए सभी के लिए अगुआ थे।।1984 में रामजन्म भूमि न्यास का गठन हुआ और उसका नेतृत्व किया।।अनेक आंदोलन किया साथ कई अनुष्ठान भी करवाये।। 1992 में ढांचे गिरने के बाद शिला पूजन हो या अन्य कार्यक्रम सब मे इनकी सहभागिता बढ़-चढ़ कर रही और राम मंदिर का आंदोलन जब पूरे जोर पर था तो उसका केंद्र बन गया गोरक्ष पीठ।।

ये भी पढ़े :  अमेठी जीतने के बाद 14 किमी पैदल चलकर सिद्धि विनायक मंदिर पहुंचीं स्मृति इरानी....
ये भी पढ़े :  अयोध्या में विकास को लेकर होगा जल्द ही बड़ा परिवर्तन, सड़कों का होगा चौडीकरण...

ब्रह्मलीन महंत अवैद्यनाथ सहित गोरक्षपीठ के तीन पीढ़ियों के अधूरे सपने को उनके शिष्य गोरक्षपीठाधीश्वर व सूबे के मुख्यमंन्त्री योगी आदित्य नाथ पूरा करने जा रहे।।5 अगस्त का दिन स्वर्णिम अक्षरों में लिखने जा रहा।।आस्था के प्रतीक मर्यादा पुरूषोत्तम राम के जन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण हेतु नीवपूजन होने जा रहा और यह सब हो रहा गोरक्षपीठ के पीठाधीश्वर महंत योगी आदित्यनाथ के शासन काल मे।।सुप्रीम कोर्ट ने जैसे तुरन्त फैसला दिया इसमे वर्तमान राज्य सरकार का बड़ा योगदान है क्योंकि दस्तावेज व उनसे जुड़े अन्य महत्वपूर्ण रिकार्ड राज्य सरकार को ही देना होता है।। वर्तमान सरकार ने कागजो को तैयार करने में मिशन मोड में काम किया जिसके कारण राम जन्म भूमि का फैसला आ गया और भव्य मंदिर का मार्ग प्रसस्त हुआ।।महंत योगी आदित्यनाथ ने अपने गुरुओं के सपने को पूरा करने में सफल हुए।।आज कोरोना जैसे वैश्विक महामारी जे संक्रमण काल मे भी जोश व उत्साह के साथ श्रीराम मंदिर निर्माण व उनके भूमिपूजन कार्यक्रम के लिए वर्तमान योगी सरकार ततपरता से लगी है।।

ये भी पढ़े :  15 अप्रैल से यूपी में लॉकडाउन रहेगा या नहीं? जानें क्या कहा सीएम योगी ने....

गोरक्षपीठ,गोरक्षपीठाधीश्वर व रामजन्मभूमि के भी एक अटूट सम्बन्ध है।।जिससे हम कह सकते है कि श्रीराम लला के बनने जा रहे गगन चुम्बी मन्दिर के जड़ो में नाथ सप्रदाय के संघर्ष का जड़ भी शामिल है।।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

समधी-समधन के बाद अब जेठ-देवरानी घर से भागे, जेठानी बोली- बच्चों को कैसे पालूंगी….

यहां समधी-समधन के प्यार में घर से भाग जाने के बाद अब एक शादीशुदा शख्स अपने ही छोटे भाई की पत्नी के साथ भाग...

गोरखपुर के इस बेटे का आईएएस में हुआ चयन, कहा- सपने मायने रखते हैं, गरीबी नहीं

जिंदगी में कुछ सार्थक करने के लिए सपने मायने रखते हैं, गरीबी नहीं। शुरुआती...

Related Articles

पीएम मोदी को मिलने जा रहा है अभेद्य किला,बाल भी बाँका नहीं कर पायेगा कोई ….

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप जिस विमान में सफर करते हैं, ठीक वैसा ही विमान अब पीएम नरेंद्र मोदी भी इस्तेमाल करने वाले हैं

गोरखपुर के सैकड़ों गांवों समेत प्रदेश में 802 गाँव बाढ़ की चपेट में,लगी हैं 780 नावे बचाव में

उ.प्र. के 20 जनपदों अंबेडकरनगर, अयोध्या, आजमगढ़, बहराइच, बलिया, बलरामपुर, बाराबंकी, बस्ती, गोंडा, गोरखपुर, कुशीनगर, लखीमपुरखीरी, मऊ, सिद्धार्थनगर, महाराजगंज, देवरिया, संतकबीरनगर, पीलीभीत,...

बड़ी खबर:यूपी में चली तबादला एक्सप्रेस,111 पुलिस उपाधीक्षकों का हुआ तबादला …..

यूपी में बड़े पैमाने पर पुलिस उप अधीक्षकों के तबादले हुए है।यूपी में 111 पुलिस उपाधीक्षकों के...
%d bloggers like this: