Thursday, February 21, 2019
Gorakhpur

गोरखनाथ में खिचड़ी का मेला शुरू,इस बार लाईट एण्ड साऊंड शो खास आकर्षण…..

नाथ संप्रदाय की भूमि गुरु गोरखनाथ मंदिर में मकर सक्रांति पर लगने वाला खिचड़ी मेला मंगलवार से शुरू हो जाएगा। दर्शकों में सर्वाधिक आकर्षण भीम सरोवर पर आयोजित होने वाले साऊंड एण्ड लाइट शो को लेकर है। सोमवार को मेले के ट्रायल रन का आखिरी दिन था। दर्शनार्थियों के स्वागत के लिए मेला पूरी तरह सज कर तैयार है। मेले के मद्देनजर न केवल सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं बल्कि श्रद्धालुओं की सुविधा के मद्देनजर शौचालय, लाईट, सीसीटीवी समेत स्वच्छता का भी विशेष ख्याल रखा जा रहा है।

नए साल के पहले दिन शुरू हो रहे मेले में काफी संख्या में श्रद्धालु गुरु गोरखनाथ का आशीर्वाद लेकर मंगल कामना के साथ नए साल के संघर्ष की शुरूआत करेंगे। इस दौरान मेले का आनंद भी उठाएंगे। मेला परिसर में झूले, चर्खी, सौंदर्य प्रसाधन, घरेलू सामान, खजला और चाट-पकौड़े की दुकानें सज गई हैं।मेले के मद्देनजर सोमवार को गोरखनाथ मंदिर में भी खासी भीड़ रही। मेले के साथ-साथ लोग नौकायन का भी लुत्फ उठाते दिखे। सौंदर्य प्रसाधन, क्राकरी, शीशे, बर्तन व छोटे-बड़े घरेलू सामान की अनेक दुकानें सज गई हैं। यूं तो मकर सक्रांति 15 जनवरी मनाई जाएगी। इस दिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरु गोरखनाथ खिचड़ी चढ़ाएंगे। उसके बाद खिंचड़ी चढ़ाने का सिलसिला शुरू हो जाएगा।

ब्रेक डांस, सेलम्बो का जादू

मेला परिसर में लगे झूलों का ट्रायल रन के दौरान बच्चों और बड़ों ने आनंद उठाया। मऊ से सेलेम्बो, शाहजहांपुर से टोरा-टोरा, इलाहाबाद से ब्रेक डांस व ड्रैगन, बहराइच से ज्वाइंट ह्वील सभी का ध्यान आकृष्ट कर रहा है। जंपिंग मिक्की माउस और निशाना साधने के लिए बंदूक व गुब्बारे भी लोगों की पसंद बने हैं। मेला परिसर में अस्थाई स्टूडियो भी लोगों के बीच आकर्षण का केंद्र हैं।

चटपटे स्वाद का भी आनंद

पाव-भाजी, बर्गर, पिज्जा, डोसा, चाउमिन, खजला और गरम-गरम जलेबी भी आपको यहां मिल जाएगी। खान-पान व चाय-नाश्ते की बड़ी दुकानें लगी हैं तो छोटी-छोटी चाट-पकौड़ों की दुकानें भी सज गई हैं। आसपास के इलाकों के लजीज व्यंजन भी यहां ठेले से लेकर बड़ी दुकानों तक पर मिल जाएंगे।

‘‘मेले की तैयारी पूरी हो चुकी है। ज्यादातर दुकानदारों दुकानें सजा ली हैं। मेला देखने लोग आने भी लगे हैं। नए वर्ष से परिसर में मेले का स्वरूप पूरी तरह से अलग दिखने लगेगा। मेला परिसर में श्रद्धालुओं की सुरक्षा का भी विशेष ख्याल रखा जा रहा है।

एसएस उपाध्याय, मेला प्रबंधक

Advertisements
%d bloggers like this: