Friday, August 14, 2020

गोरखपुर… अब नहीं होने पाएगी ऑक्सीजन की कमी, प्रशासन ने की यह व्‍यवस्‍था. BRD Medical College…..

कभी हस्तमैथुन तो अब इस इंस्पेक्टर ने थाने में पीड़िता से बोला डांस करके दिखाओ,निर्लज्जता की हद

हाल ही में देवरिया के अंतर्गत आने वाले एक थाने में दरोगा ने पीड़िता के सामने हस्तमैथुन करने जैसी अश्लील हरकत करना...

संबित पात्रा के खिलाफ थाने में राजीव त्यागी की हत्या की तहरीर..

बुधवार की रात एक टीवी चैनल पर डिबेट करते हुए कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव त्यागी को दिल का दौरा पड़ा और...

ब्यूटी विद ब्रेन है IPS, ऑफिस में ही IAS से की थी लव मैरिज….

नई दिल्ली। सप्ताहभर पहले यूपीएससी ने सिविल सेवा परीक्षा 2019 का रिजल्ट जारी किया। इस बार यूपीएससी परीक्षा पास करने वालों में...

एसएसपी के आदेश पर मोहद्दीपुर चौकी इंचार्ज का चला नियम तोड़ने वालों पर हंटर,लॉकडाउन तोड़ने वालों को दिया दंड……

शासन व प्रशासन साप्ताहिक लॉकडाउन का पालन सख्ती के साथ करा रहा।।कोरोना संक्रमण के बावजूद लोग लॉक डाउन को लोड घरों से...

खुशखबरी:-गोरखपुर के इस विधायक को भारत के टॉप 50 बेस्ट विधायक में मिला स्थान,योगी आदित्यनाथ के हैं करीबी

हाल ही में एक निजी चैनल द्वारा कराए गए सर्वे में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री तो नरेंद्र मोदी को लोकप्रिय...

BRD Medical College Gorakhpur में ऑक्‍सीजन की कमी से बच्‍चों की मौत के बाद प्रशासन सतर्क हो गया है। लिक्विड ऑक्सीजन की मॉनीटरिंग अब ऑनलाइन होने लगी है।

गोरखपुर, जेएनएन। बाबा राघव दास मेडिकल कालेज (BRD Medical College Gorakhpur) में ऑक्‍सीजन की कमी से बच्‍चों की मौत के बाद प्रशासन सतर्क है। यहां अब ऑक्सीजन की कमी नहीं पड़ेगी। इसके लिए प्रशासन ने फुल प्रूफ व्‍यवस्‍था की है। लिक्विड ऑक्सीजन की मॉनीटरिंग अब ऑनलाइन होने लगी है। ऑक्सीजन की उपलब्धता के बारे में संबंधित कंपनी को ऑनलाइन पता चल जाता है। जब तीन दिन तक का ऑक्सीजन शेष रहता है तो कंपनी आपूर्ति कर देती है।

ये भी पढ़े :  गोरखपुर सीट पर है कड़ा मुकाबला, किसके पाले आएगी सीट...

इस कंपनी को मिली जिम्‍मेदारी

मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की आपूर्ति की जिम्मेदारी आइनॉक्स कंपनी को दी गई है। 12 हजार लीटर के ऑक्सीजन की टंकी पहले से लगी है। आइनॉक्स ने बैकअप के लिए छह हजार लीटर की एक और टंकी लगाई है। कंपनी इसकी मॉनीटरिंग खुद कर रही है और इसके लिए टेलीमेट्री सिस्टम लगाया गया है, जो जीपीएस से कनेक्ट है। इसके माध्यम से ऑनलाइन ऑक्सीजन की खपत के बारे में उसे पता चल जाता है।

ये भी पढ़े :  गोरखपुर के बड़े उद्योग पति और उनकी पत्नी की मार्ग मृत्यु...

खत्‍म होने के तीन पहले पहुंच जाएगा आक्‍सीजन

कंपनी तीन दिन पूर्व ही ऑक्सीजन भेज देती है जो समय पूर्व कॉलेज में पहुंच जाता है। प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. गिरीश चंद्र श्रीवास्तव ने कहा कि लगभग तीन माह से यह सिस्टम चल रहा है। समय पूर्व कॉलेज को ऑक्सीजन उपलब्ध हो जाता है।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर के इस बेटे का आईएएस में हुआ चयन, कहा- सपने मायने रखते हैं, गरीबी नहीं

जिंदगी में कुछ सार्थक करने के लिए सपने मायने रखते हैं, गरीबी नहीं। शुरुआती...

समधी-समधन के बाद अब जेठ-देवरानी घर से भागे, जेठानी बोली- बच्चों को कैसे पालूंगी….

यहां समधी-समधन के प्यार में घर से भाग जाने के बाद अब एक शादीशुदा शख्स अपने ही छोटे भाई की पत्नी के साथ भाग...

Related Articles

एसएसपी के आदेश पर मोहद्दीपुर चौकी इंचार्ज का चला नियम तोड़ने वालों पर हंटर,लॉकडाउन तोड़ने वालों को दिया दंड……

शासन व प्रशासन साप्ताहिक लॉकडाउन का पालन सख्ती के साथ करा रहा।।कोरोना संक्रमण के बावजूद लोग लॉक डाउन को लोड घरों से...

खुशखबरी:-गोरखपुर के इस विधायक को भारत के टॉप 50 बेस्ट विधायक में मिला स्थान,योगी आदित्यनाथ के हैं करीबी

हाल ही में एक निजी चैनल द्वारा कराए गए सर्वे में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री तो नरेंद्र मोदी को लोकप्रिय...

चिल्लूपार में बाढ़ से तबाही शासन की उपेक्षा का परिणाम:-विधायक विनय शंकर तिवारी

चिल्लूपार विधानसभा क्षेत्र के कछारांचल में सरयू व राप्ती के बाढ़ की तबाही प्रशासनिक लापरवाही व शासन की उपेक्षा का परिणाम है,यदि...
%d bloggers like this: