Tuesday, September 28, 2021

गोरखपुर का नाम के के श्रीवास्तव कर रहे हैं सम्पूर्ण भारत मे रोशन,आप भी लें इनसे प्रेरणा

Maharajganj: हड़हवा टोल प्लाजा पर भेदभाव हुआ तो होगा आन्दोलन।

फरेन्दा, महराजगंज: फरेन्दा नौगढ़ मार्ग पर स्थित हड़हवा टोल प्लाजा पर प्रबन्धक द्वारा कुछ विशेष लोगो को छोड़ बाकी सबसे टोल टैक्स...

Maharajganj: बृजमनगंज थाना क्षेत्र में चोरों के हौसले बुलंद, लोग पूछ रहे सवाल क्या कर रहे हैं जिम्मेदार

बृजमनगंज, महाराजगंज. थाना क्षेत्र में पुलिस की निष्क्रियता के चलते चोरों के हौसले बुलंद है. जिसके कारण चोरी की घटनाएं बढ़ रही...

गोरखपुर:- बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार गोरखपुर। दिल्ली...

Maharajganj: औकात में रहना सिखो बेटा नहीं तो तुम्हारे घर में घुस कर मारेंगे-भाजपा आईटी सेल मंडल संयोजक, भद्दी भद्दी गालियां फेसबुक पर वायरल।

Maharajganj: महाराजगंज जनपद में भाजपा द्वारा नियुक्त धानी मंडल संयोजक का फेसबुक पर गाली-गलौज और धमकी वायरल। फेसबुक पर धानी मंडल संयोजक...

खुशखबरी:-सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक को मंजूरी 1320 करोड़ स्वीकृत

गोरखपुर के लिहाज़ से एक बड़ी ख़बर प्राप्त हो रही है जिसमे यह बताया जा रहा है कि सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

गोरखपुर टाइम्स लगातार गोरखपुर की उन सख्सियतों को आपके सामने जरूर रखता है,जिनसे हमारे युवा प्रेरणा लेकर उन्नति के मार्ग प्रशस्त कर नव राष्ट्र का निर्माण करें ।

इसी कड़ी में गोरखपुर टाइम्स के सत्य चरण लक्क़ी के साथ नियत्रंण व महालेखा परीक्षक के पद पर तैनात गोरखपुर के के के श्रीवास्तव का खास इंटरव्यू आपके सामने जल्द आ रहा है

एक बार जरूर जानिए के के श्रीवास्तव का जीवन परिचय और उनकी उपलब्धियों को….

के. के. श्रीवास्तव,
अतिरिक्त उप-नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक


एक परिचय
श्री के. के. श्रीवास्तव का जन्म सुमेर सागर, गोरखपुर (उ.प्र.) में 1960 में हुआ था। उन्होने 1980 में गोरखपुर विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में प्रथम श्रेणी में स्नातकोत्तर किया तथा 1983 में भारतीय लेखा तथा लेखापरीक्षा सेवा में शामिल हुये। वर्तमान समय में श्री के. के. श्रीवास्तव, नई दिल्ली में, भारत सरकार के विशेष सचिव के समतुल्य-स्तर में, अतिरिक्त उप-नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक का पद संभाल रहे हैं।

ये भी पढ़े :  आंधी तूफान से जनपद में कही पेड़ तो कही विद्युत पोल गिरकर हुए छतिग्रस्त


के. के. श्रीवास्तव, भारत के नियंत्रक-महालेखापरीक्षक के कार्यालय के अतिरिक्त अन्य कार्यालयो में प्रमुख पदों पर भी कार्यरत रहे है, जिनमे मुख्य लेखा परीक्षक-नई दिल्ली नगरपालिका परिषद; महालेखाकार-बिहार और झारखंड; महालेखाकर-गुजरात; प्रधान महालेखाकार-केरल; प्रधान महालेखाकार-मध्य प्रदेश; महानिदेशक, सीएजी मुख्यालय विशेषतः शामिल है।

ये भी पढ़े :  राज्य के सभी गांवों में फ्री वाईफाई,रोजाना 30 जीबी डाटा फ्री मिलेगा...


उन्होने कार्यकाल के स्वर्णिम समय में संयुक्त राष्ट्र, विभिन्न महत्वपूर्ण दूतावास और अन्य विदेशी संस्थाओ में टीम लीडर के रूप में भी असाइनमेंट किए हैं जिसकी झलक ढाका, बैंकॉक, नामीबिया और प्रेटोरियाँ में एफ.ए.ओ. ऑडिट; यू.एन.एफ.सी.सी-मुख्यालय, बॉन (UNFCC-HQ, Bonn), जर्मनी में यूएन ऑडिट-टीम के नेतृत्व में दिखलाई पड़ती है।


उनके द्वारा विदेशो में अनेकों स्थान पर प्राप्त किए गए प्रशिक्षणों की सूची में टोक्यो, जापान में कंप्यूटर ऑडिटिंग; लाहौर में ‘ऑडिटिंग में धोखाधड़ी और भ्रष्टाचार से निपटने’ संबंधी कार्यशाला; सिंगापुर में नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ सिंगापुर में आयोजित उन्नत प्रबंधन विकास कार्यक्रम (ए.एम.डी.पी); मियामी, फ्लोरिडा, संयुक्त राज्य अमेरिका में आई.सी.जी.एफ.एम (ICGFM) का 33 वां वार्षिक अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन आदि शामिल है।


श्री के. के. श्रीवास्तव का एक लेखक के रूप में भी साहित्य के क्षेत्र में बहुत ही रमणीय योगदान हैं, जो, लेखन कौशल में महारत हासिल करने के साथ-साथ कुशल नौकरशाह के रूप में धन्य हैं। उनके द्वारा लिखित पुस्तकों, उपन्यासों एवं रचित कविताओं से इस बात के प्रमाण प्राप्त किए जा सकते है।
रूपा प्रकाशन द्वारा प्रकाशित, ‘सिलीलोकी ऑफ अ स्माल टाउन अनसिविल सेरवेंट’ (2019) उनके द्वारा लिखा गया एक प्रसिद्ध नॉन-फ़िकशन है। श्री के.के. श्रीवास्तव द्वारा रचित कवितायों के संग्रहों में ‘शैडोस ऑफ दी रियल (2012) रूपा प्रकाशन; एन आर्मलेस हैंड राइट्स (2008) अटलांटिक पब्लिशर्स; इनेलकटेबल स्टीलनेस्स (2005) एवर-र्ग्रीन प्रकाशक, उनके श्रेय मे सुसज्जित है। उनकी रचनाओ के योगदान के अगले क्रम में वाणी प्रकाशन के द्वारा प्रकाशित अंधेरे सी निकली कवितायें (2017), उनकी 35-अंग्रेजी कविताओ का हिंदी अनुवाद हैं।

ये भी पढ़े :  आज जारी हो सकती है BJP की पहली लिस्ट, CEC बैठक में उम्मीदवारों पर लगेगी मुहर....


प्रसिद्ध रूसी कवि एडोल्फ श्वेदिकोव द्वारा ‘शैडोस ऑफ दी रियल’ (2017) का रूसी भाषा में अनुवाद इस बात को दर्शाता है की श्री के के श्रीवास्तव का रचना कौशल कितना भव्य रहा है।
समय समय पर वे ‘द पायनियर’; ‘द डेली स्टार’ और ‘किताब-सिंगापुर’ जैसे बड़े अखबारो व प्रकाशन संस्थाओ के लिए साहित्यिक समीक्षा भी लिखते रहें हैं। साहित्य में उनके शोभायमान योगदान में उनके द्वारा लिखे गए कुछ महत्वपूर्ण लेख भी देखे जा सकते हैं, जिनमे ‘गोरखपुर एक नई सुबह का इंतजार’– द पायनियर; ‘गोरखपुर का तेजी से बदलता चेहरा’ – द पायनियर; ‘मोदी की आध्यात्मिक कवितायें’ – द पायनियर; ‘मन की बात’ – द पायनियर तथा ‘इतिहास और तात्विक विस्मय’ – द डेली स्टार शामिल है।

ये भी पढ़े :  स्थानीय निकायों को भी निभानी होगी सहभागिता, देने होंगे 200 करोड़...

सत्य चरण लक्क़ी

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

गोरखपुर:- बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार गोरखपुर। दिल्ली...

खुशखबरी:-सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक को मंजूरी 1320 करोड़ स्वीकृत

गोरखपुर के लिहाज़ से एक बड़ी ख़बर प्राप्त हो रही है जिसमे यह बताया जा रहा है कि सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक...

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद कमलेश पासवान

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद बांसगांव लोकसभा के सांसद कमलेश पासवान ने कास्त मिश्रौली निवासी भाजपा नेता...
%d bloggers like this: