Tuesday, June 15, 2021

गोरखपुर का रामगढ़ झील बना पूर्वांचल का जुहू चौपाटी…

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडी

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडीकोरोना काल मे फर्जी अस्पतालों की आई बाढ़ (((अंगद राय की कलम से)))

महराजगंज के नगर पंचायत आनंद नगर में गैस सिलेंडर फटा, छः लोग जख्मी

Maharajganj: महाराजगंज जिले की नगर पंचायत आनंद नगर के धानी ढाला पर जमीर अहमद के मकान में सुबह 6:30 बजे खाना...

69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण के नियमों का बड़े पैमाने पर अव्हेलना को लेकर आज़ाद समाज पार्टी के जिलाध्यक्ष ने एसडीएम को सौंपा...

Maharajganj: 69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण के नियमों की बड़े पैमाने पर अवहेलना की गयी है जिसमें OBC वर्ग...

तेज रफ्तार कार से ऑटो की भिड़ंत, घायलों को पहुंचाया गया अस्पताल।

फरेंदा (महराजगंज): जनपद में हर रोज हो रहे सड़क हादसे चिंता का बड़ा सबब बनते जा रहे हैं। फरेंदा कस्बे के उत्तरी...

दूसरों की मदद करने से जो खुशी मिलती है वही असली आनंद :- पवन सिंह

कुछ करने से अगर खुशी की अनुभूति होती है तो उससे बढ़कर आनंद किसी में नहीं है। आनंद को शब्दों में व्यक्त...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

डेढ़ दशक पहले यहां दिन में भी आने से लोग घबराते थे। लूट, हत्या और छिनैती का भय सताता था। हफ्ता बीत जाए पर महीना नहीं बीतता। कोई न कोई आपराध हो जाता था। नहीं कुछ तो लावारिस लाश ही मिल जाती थी जो पुलिस का सिरदर्द बढ़ा देती थी।

यहां बहुत कुछ बदल रहा है। रामगढ़ ताल की पहचान अब रामगढ़ झील के रूप में बन रही है। सूरज जैसे-जैसे ढलने लगता है पूर्वांचल के इस ‘जुहू चौपाटी पर भीड़ बढ़ती जाती है। इनमें टीनएजर्स और वह भी कपल्स अधिक होते हैं। नौकायन और व्यू प्वाइंट का आनंद उठा रहे हैं।

रामगढ़ ताल और आस-पास के इलाका तकरीबन तीन दशक पहले काफी सूनशान था। तत्कालीन वीर बहादुर सिंह की सरकार ने रामगढ़ताल परियोजना शुरू की जिसकी वजह से धीरे-धीरे ही सही यह इलाका भी गुलजार होने लगा। सर्किट हाउस, बौद्ध संग्रहालय और अम्बेडकर पार्क ने इलाके की रौनक बढ़ा दी।

रामगढ़ झील में नौकायन के लिए व्यवस्था बनने लगी कि इसी बीच झील के किनारे चिड़ियाघर को संस्तुति मिल गई। चिड़ियाघर का निर्माण जोरों पर है। यह सीएम योगी आदित्यनाथ की प्राथमिकताओं में से एक है। हाल ही में सीएम ने यहां पहुंचकर बोट-जेट्टी का उद्घाटन भी किया है।

ये भी पढ़े :  Nh-29 गोरखपुर से बड़हलगंज मार्ग का बुरा हाल,ट्रक फसने से आवागमन प्रभावित...

रामगढ़ झील की भव्यता और सुंदरता में व्यू प्वाइंट के निर्माण से चार चांद लग गई है।

ये भी पढ़े :  बिग ब्रेकिंग :-गोरखपुर मजदूरों को लेकर पहुँची 10 बसें,इस स्थान पर

कभी सूना रहने वाला यह इलाका गुलजार होने लगा है। अब दूर-दराज से लोग इसकी भव्यता और सुंदरता देखने पहुंच रहे हैं। गोरखपुर-बस्ती और आजमंगढ़ मंडल के स्कूल-कालेजों के बच्चे बाकायदा यहां टूर करने पहुंच रहे हैं। शाम ढलते ही यहां नजारा बदल जा रहा है। दुधिया रोशनी में नहाया यह इलाका लोगों का मनपसंद सैरगाह बन रहा है। बड़ी सख्या में लोग यहां पहुंच रहे हैं और व्यू प्वाइंट, नौकायन, अम्बेडकर पार्क और निर्माणाधीन चिड़ियाघर में घूमकर आनंद उठा रहे हैं।

अब यहां जरूरी हो गई हैं ये सुविधाएं

पार्किंग : रामगढ़ झील के आस-पास पार्किंग की व्यवस्था नितांत जरूरी हो गई है। सैकड़ों बाइक और कारें बेतरतीब खड़ी हो जाती हैं जिनकी वजह से शाम 5 बजे से लेकर रात 9 बजे तक यहां जाम की स्थिति बनी रहती है। यहां आने वाले लोग अब महसूस करने लगे हैं कि पार्किंग व्यवस्था हो।

ट्रैफिक पुलिस : यूं तो समय-समय पर ट्रैफिक पुलिस के कुछ जवान यहां घूमते दिख जाते हैं लेकिन जिस तरह से यहां भीड़ बढ़ने लगी है और बाइक तथा कारों की संख्या बढ़ रही है उसे देखते हुए अब प्रतिदिन शाम को ट्रैफिक पुलिस की ड्यूटी जरूरी हो गई है। यातायात ठीक करा पाना तभी संभव है।

सुलभ शौचालय : पूर्वांचल के इस नए बन रहे जूह चौपाटी पर जिस तरह भीड़ बढ़ रही है और उनमें भी महिलाओं और लड़कियों की संख्या, इसे देखते हुए यहां सुलभ शौचालय का निर्माण कराना जरूरी हो गया है। यहां आने-जाने वालों की सुविधा को देखते हुए प्रशासन यह व्यवस्था कराए।

ये भी पढ़े :  गोरखपुर में शिक्षा की अलख जगा रहे,आरपीएम विद्यालय के संस्थापक का कोरोना के खिलाफ बड़ी मुहिम

सुरक्षा : रामगढ़ झील के किनारे भारी भीड़ उमड़ रही है। अधिकतर किशोरियां, युवतियां और महिलाएं होती हैं। यहां पहुंचने वाले लोगों की भीड़ के बीच शोहदे भी घूमते रहते हैं। उनके द्वारा अभद्र व्यवहार भी किया जा रहा है। अब जरूरी हो गया है कि यहां सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी जाए ताकि कोई अप्रिय घटना न होने पाए।

ये भी पढ़े :  गोरखपुर में जिधर देखिये उधर हो रही राष्ट्रपति के स्वागत की तैयारी....

एक नजर में गोरखपुर की रामगढ़ताल झील

क्षेत्रफल : 678 हेक्टेयर

बांध : चारो तरफ 10 मीटर चौड़ा 14 किमी लम्बा

रोशनी : हाईमास्क, एलईडी की रोशनी

लागत : वर्ष 2009 में योजना की लागत 124 करोड़, वर्ष 2013 में 68 करोड़ बढ़ोत्तरी

अब तक खर्च : तकरीबन 125 करोड़

अब तक कराए गए ये कार्य

-30 एमएलडी (मिलियन लीटर प्रति दिन) व 15 एमएलडी के एसटीपी (सिवेज ट्रिटमेंट प्लॉट)

-पैड़लेगंज व मोहद्दीपुर में दो पंपिग स्टेशन का निर्माण

-11 लाख घनमीटर गहराई तक सिल्ट निकाली गई

-2000 घंटे तक जलकुंभी निकालने वाली मशीन चली

-रिंग रोड के लिए 90 प्रतिशत बंधा बना

-रिंग रोड पर दो दर्जन हाईमास्क लगा

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडी

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडीकोरोना काल मे फर्जी अस्पतालों की आई बाढ़ (((अंगद राय की कलम से)))

दूसरों की मदद करने से जो खुशी मिलती है वही असली आनंद :- पवन सिंह

कुछ करने से अगर खुशी की अनुभूति होती है तो उससे बढ़कर आनंद किसी में नहीं है। आनंद को शब्दों में व्यक्त...

शहीद नवीन सिंह के परिवार को पवन सिंह ने दिया सहयोग।

जम्मू कश्मीर में शहीद हुए गोरखपुर निवासी...
%d bloggers like this: