Saturday, September 25, 2021

गोरखपुर के डीएम की अनूठी पहल, गांवों में ओपीडी लगाकर होगा इलाज, वहीं विवाद भी सुलझाए जाएंगे

Maharajganj: हड़हवा टोल प्लाजा पर भेदभाव हुआ तो होगा आन्दोलन।

फरेन्दा, महराजगंज: फरेन्दा नौगढ़ मार्ग पर स्थित हड़हवा टोल प्लाजा पर प्रबन्धक द्वारा कुछ विशेष लोगो को छोड़ बाकी सबसे टोल टैक्स...

Maharajganj: बृजमनगंज थाना क्षेत्र में चोरों के हौसले बुलंद, लोग पूछ रहे सवाल क्या कर रहे हैं जिम्मेदार

बृजमनगंज, महाराजगंज. थाना क्षेत्र में पुलिस की निष्क्रियता के चलते चोरों के हौसले बुलंद है. जिसके कारण चोरी की घटनाएं बढ़ रही...

गोरखपुर:- बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार गोरखपुर। दिल्ली...

Maharajganj: औकात में रहना सिखो बेटा नहीं तो तुम्हारे घर में घुस कर मारेंगे-भाजपा आईटी सेल मंडल संयोजक, भद्दी भद्दी गालियां फेसबुक पर वायरल।

Maharajganj: महाराजगंज जनपद में भाजपा द्वारा नियुक्त धानी मंडल संयोजक का फेसबुक पर गाली-गलौज और धमकी वायरल। फेसबुक पर धानी मंडल संयोजक...

खुशखबरी:-सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक को मंजूरी 1320 करोड़ स्वीकृत

गोरखपुर के लिहाज़ से एक बड़ी ख़बर प्राप्त हो रही है जिसमे यह बताया जा रहा है कि सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

गोरखपुर. लॉक डाउन में छूट भले ही मिल गई हो लेकिन अस्पताल जैसी जगहों पर भीड़ का सामना करना पड़ सकता है। इसका हल ढूंढ निकाला है गोरखपुर के डीएम के. विजयेंद्र पांडियन ने। उन्होंने एक अनूठी पहल की है, जिससे लोगों का इलाज गांव में ही हो जाएगा। इतना ही नहीं अपने ज़मीन के झगड़ों को लेकर भी परेशान होने की ज़रूरत नहीं होगी, क्योंकि ये झगड़े और विवाद भी गांव में ही तत्काल सुलझा लिये जाएंगे।

एक ही समय पर गांव में जाकर राजस्व और बीमारों के इलाज के लिए बाकायदा 50 मेडिकल टीमें बनाई गईं हैं। ये टीमें रोजाना दो-दो गांवों में ओपीडी लगाकर बीमार लोगों को उनके दर पर ही इलाज मुहैया कराएंगी। मेडिकल टीमों के साथ ही राजस्व विभाग की टीमें भी होंगी जो सम्बंधित गांवों में जाएंगी। मेडिकल टीम में सीएचसी-पीएचसी, जिला अस्पताल और मेडिकल कॉलेज के चिकित्सक शामिल होंगे। इस टीम में एम्स के डॉक्टर को भी शामिल करने की कोशिश की जा रही है।

ये भी पढ़े :  ब्रेकिंग::- मुख्यमंत्री हो तो ऐसा,योगी आदित्यनाथ के द्वारा 23 करोड़ के लिए आया नया निर्देश....

रोस्टर के मुताबिक गांवों में लगेगी ओपीडी

ग्रामीणों के इलाज के लिए मेडिकल और विवाद सुलझाने के लिए राजस्व टीमें गांवों में कब कब पहुंचेंगी इसके लिये बकायदा रोस्टर तैयार किया जा रहा है। रोस्टर के मुताबिक जिस गांव में ओपीडी लगने वाली होगी वहां दो दिन पहले ही इसकी मुनादी और प्रचार प्रसार कराया जाएगा, ताकि जिन्हें इलाज कराना हो वो समय पर कैंप पर पहुंचकर इसका लाभ ले सकें।

ये भी पढ़े :  चिल्लूपार में पकड़ी ने पोखरीगांव को पांच विकेट से हराकर ट्राफी पर किया कब्जा

गांवों में लगेगी ओपीडी, अस्पतालों में नहीं होगी भीड़

ज़िलधिकारी के. विजयेंद्र पांडियन का कहना है कि लॉक डाउन में छूट मिलने के साथ ही लोगों की आवाजाही भी काफी बढ़ गई है। ऐसे में इलाज के लिए भी काफी लोग निकल रहे हैं, इलाज के लिए अस्पतालों में लोगों की भीड़ न हो जाय, इसको ध्यान में रखते हुए गांवों में ही ओपीडी लगाने का निर्णय किया गया है। उन्होंने बताया कि सभी 1352 ग्राम पंचायतों में 15 दिन के अंदर ही स्वास्थ्य और राजस्व विभाग की टीमें कैंप लगाने का अभियान पूरा कर लेंगी। जल्द ही ये टीमें गांवों में दस्तक देना शुरू कर देंगी।

छोटी-मोटी जांच भी होगी, दवा भी दी जाएगी

गावों में जो ओपीडी लगायी जाएगी उसमें गंभीर बीमारियों को छोड़कर बाकी सभी बीमारियों का इलाज गांव में ही मिल जाएगा। अस्पताल जाने की ज़रूरत नहीं होगी। डीएम के मुताबिक ओपीडी के साथ ही वहां ब्लड शुगर समेत छोटी मोटी जांच की सुविधा होगी। गंभीर बीमारी का मरीज़ मिलने पर उसे समय देकर अस्पताल बुलाया जाएगा।

ये भी पढ़े :  गोरखपुर में महामहीम राष्ट्रपति का कार्यक्रम विवरण….

कामगारों वापस के आने से बढ़े हैं ज़मीन के विवाद

दरअसल कोरोना महामारी की वजह से लगाए गए लॉक डाउन के चलते लाखों कामगार वापस अपने गांवों को लौट आए हैं। इनके आने के बाद ज़मीन के विवाद बढ़ गए हैं, कुछ पुराने विवाद भी परेशानी का सबब बन सकते हैं। ये विवाद किसी घटना का रूप लें इसके पहले ही डीएम इसका निपटारा करवाना चाहते हैं। ज़िलाधिकारी के बताया है कि इन विवादों निस्तारण के लिए लोगों को तहसील और कलेक्ट्रेट का चक्कर न लगाने पड़े, इसलिए मेडिकल टीम के साथ ही राजस्व टीम को भी सभी गांवों में भेजने का निर्णय किया गया है।

ये भी पढ़े :  NEET, JEE Main 2020: नीट और जेईई मेन परीक्षाएं हुईं स्थगित, अब सितंबर में होंगे एग्जाम

शेष पत्रिका पर पढ़े

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

गोरखपुर:- बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार गोरखपुर। दिल्ली...

खुशखबरी:-सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक को मंजूरी 1320 करोड़ स्वीकृत

गोरखपुर के लिहाज़ से एक बड़ी ख़बर प्राप्त हो रही है जिसमे यह बताया जा रहा है कि सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक...

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद कमलेश पासवान

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद बांसगांव लोकसभा के सांसद कमलेश पासवान ने कास्त मिश्रौली निवासी भाजपा नेता...
%d bloggers like this: