Tuesday, September 22, 2020

गोरखपुर के डीएम की अनूठी पहल, गांवों में ओपीडी लगाकर होगा इलाज, वहीं विवाद भी सुलझाए जाएंगे

कृषि बिल: संसद के बाद अब सड़क पर चलेगी लड़ाई, कांग्रेस नवंबर तक करेगी प्रदर्शन…

कृषि बिल के विरोध में कांग्रेस बड़े अभियान की तैयारी कर रही है. कांग्रेस अपने आंदोलन को संसद से सड़क तक ले...

महाराजगंज बीएसए का हुआ तबादला, देखे नई तैनाती…

देवरिया में डायट प्रवक्ता के पद पर तैनात रहे ओपी यादव शासन द्वारा बेसिक विभाग में बड़ा फेरबदल किया...

आमिर हुसैन के नेतृत्व सपा कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन, एसडीएम को ज्ञापन सौंपा…

महाराजगंज। कोरोना काल में हुए भ्रष्टाचार तथा पुलिसिया उत्पीड़न व किसान बिल के विरोध में आज जनपद...

डिजिटल लेन-देन से देश की आर्थिक व्यवस्था को मजबूती मिलेगी-चेयरमैन नौतनवां

महराजगंज आज के समय मे शहर हो या गाँव हर तरफ डिजिटल इण्डिया मुहिम की धूम है लोगों की आवश्यकताओं व सुविधाओं...

गोरखपुर से सटे जिले आजमगढ़ में विमान हादसा,देश ने खोया युवा पायलट

अमेठी का प्रशिक्षू विमान क्रैश ! पायलट की मौत ।मीनाक्षी मिश्रा की अमेठी से रिपोर्ट

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

गोरखपुर. लॉक डाउन में छूट भले ही मिल गई हो लेकिन अस्पताल जैसी जगहों पर भीड़ का सामना करना पड़ सकता है। इसका हल ढूंढ निकाला है गोरखपुर के डीएम के. विजयेंद्र पांडियन ने। उन्होंने एक अनूठी पहल की है, जिससे लोगों का इलाज गांव में ही हो जाएगा। इतना ही नहीं अपने ज़मीन के झगड़ों को लेकर भी परेशान होने की ज़रूरत नहीं होगी, क्योंकि ये झगड़े और विवाद भी गांव में ही तत्काल सुलझा लिये जाएंगे।

एक ही समय पर गांव में जाकर राजस्व और बीमारों के इलाज के लिए बाकायदा 50 मेडिकल टीमें बनाई गईं हैं। ये टीमें रोजाना दो-दो गांवों में ओपीडी लगाकर बीमार लोगों को उनके दर पर ही इलाज मुहैया कराएंगी। मेडिकल टीमों के साथ ही राजस्व विभाग की टीमें भी होंगी जो सम्बंधित गांवों में जाएंगी। मेडिकल टीम में सीएचसी-पीएचसी, जिला अस्पताल और मेडिकल कॉलेज के चिकित्सक शामिल होंगे। इस टीम में एम्स के डॉक्टर को भी शामिल करने की कोशिश की जा रही है।

ये भी पढ़े :  युवा व तेजतर्रार रत्नेश सिंह ने संभाला सीओ गोरखनाथ का चार्ज....

रोस्टर के मुताबिक गांवों में लगेगी ओपीडी

ग्रामीणों के इलाज के लिए मेडिकल और विवाद सुलझाने के लिए राजस्व टीमें गांवों में कब कब पहुंचेंगी इसके लिये बकायदा रोस्टर तैयार किया जा रहा है। रोस्टर के मुताबिक जिस गांव में ओपीडी लगने वाली होगी वहां दो दिन पहले ही इसकी मुनादी और प्रचार प्रसार कराया जाएगा, ताकि जिन्हें इलाज कराना हो वो समय पर कैंप पर पहुंचकर इसका लाभ ले सकें।

ये भी पढ़े :  महाशिवरात्रि पर सीएम योगी ने महाद्रव्य से किया रुद्राभिषेक ....

गांवों में लगेगी ओपीडी, अस्पतालों में नहीं होगी भीड़

ज़िलधिकारी के. विजयेंद्र पांडियन का कहना है कि लॉक डाउन में छूट मिलने के साथ ही लोगों की आवाजाही भी काफी बढ़ गई है। ऐसे में इलाज के लिए भी काफी लोग निकल रहे हैं, इलाज के लिए अस्पतालों में लोगों की भीड़ न हो जाय, इसको ध्यान में रखते हुए गांवों में ही ओपीडी लगाने का निर्णय किया गया है। उन्होंने बताया कि सभी 1352 ग्राम पंचायतों में 15 दिन के अंदर ही स्वास्थ्य और राजस्व विभाग की टीमें कैंप लगाने का अभियान पूरा कर लेंगी। जल्द ही ये टीमें गांवों में दस्तक देना शुरू कर देंगी।

छोटी-मोटी जांच भी होगी, दवा भी दी जाएगी

गावों में जो ओपीडी लगायी जाएगी उसमें गंभीर बीमारियों को छोड़कर बाकी सभी बीमारियों का इलाज गांव में ही मिल जाएगा। अस्पताल जाने की ज़रूरत नहीं होगी। डीएम के मुताबिक ओपीडी के साथ ही वहां ब्लड शुगर समेत छोटी मोटी जांच की सुविधा होगी। गंभीर बीमारी का मरीज़ मिलने पर उसे समय देकर अस्पताल बुलाया जाएगा।

ये भी पढ़े :  भारत से नेपाल जाना हुआ महंगा, गोरखपुर में एक और टोल शुरू...

कामगारों वापस के आने से बढ़े हैं ज़मीन के विवाद

दरअसल कोरोना महामारी की वजह से लगाए गए लॉक डाउन के चलते लाखों कामगार वापस अपने गांवों को लौट आए हैं। इनके आने के बाद ज़मीन के विवाद बढ़ गए हैं, कुछ पुराने विवाद भी परेशानी का सबब बन सकते हैं। ये विवाद किसी घटना का रूप लें इसके पहले ही डीएम इसका निपटारा करवाना चाहते हैं। ज़िलाधिकारी के बताया है कि इन विवादों निस्तारण के लिए लोगों को तहसील और कलेक्ट्रेट का चक्कर न लगाने पड़े, इसलिए मेडिकल टीम के साथ ही राजस्व टीम को भी सभी गांवों में भेजने का निर्णय किया गया है।

ये भी पढ़े :  गोरखपुर शहर के इस चर्चित हॉस्पिटल में हिस्सेदारी को लेकर दो पक्ष हुए आमने-सामने....

शेष पत्रिका पर पढ़े

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

गोरखपुर से सटे जिले आजमगढ़ में विमान हादसा,देश ने खोया युवा पायलट

अमेठी का प्रशिक्षू विमान क्रैश ! पायलट की मौत ।मीनाक्षी मिश्रा की अमेठी से रिपोर्ट

गोरखपुर में बदमाशों ने फिल्मी अंदाज में बरसाई ताबड़तोड़ गोलियां, एक शख्स हुआ घायल….

गोरखपुर गोरखपुर जिले में बदमाशों के हौसले बुलंद हैं। यहां सोमवार को कैंट इलाके के सिंघाड़िया से लेकर...

बिग ब्रेकिंग:- योगी आदित्यनाथ ने आईपीएस सोनम कुमार को भेजा गोरखपुर,बिगड़ती कानून व्यवस्था करेंगे दुरुस्त

गोरखपुर में आए दिन हो रहे अपराध को रोकने के लिए जिले में एक और आईपीएस की तैनाती की गई है बताया...
%d bloggers like this: