Monday, September 21, 2020

गोरखपुर के इस बेटे का आईएएस में हुआ चयन, कहा- सपने मायने रखते हैं, गरीबी नहीं

याद आई तो 25 दिन बाद फिर महराजगंज के गांव पहुँचा फ्रांसीसी परिवार,लॉकडाउन में 5 महीने यही हँसी-खुशी गुजारा दिन-रात…..

महराजगंज लॉकडाउन शुरू होने के समय ही विश्व भ्रमण पर निकला फ्रांसीसी परिवार इंडो-नेपाल सीमा सील होने के कारण कोल्हुआ शिव मंदिर...

खुशखबरी:-योगीराज में देवरिया समेत इन 8 जिलों को मिलेगी 24 घंटे बिजली,जानें क्या गोरखपुर को भी है….

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार के द्वारा 8 जिलों को निर्बाध रूप से बिजली प्रदान करने शासनादेश जारी किया गया...

नौतनवां: पूर्व मंत्री, विधायक समेत कई बड़े नेताओं ने स्व0 सुधीर त्रिपाठी को नम आंखों से दी श्रद्धांजलि…

नौतनवा विधानसभा क्षेत्र के लोकप्रिय नेता सनौली नगर पंचायत के मसीहा स्वर्गीय सुधीर त्रिपाठी का आज रविवार...

ऐतिहासिक भूमि चौरी चौरा पर चर्चित सपा नेता मंतोष यादव व पंकज शाही ने किया वीर शहीद का सम्मान, चौराहे का नाम शहीद के...

सपा नेता मंतोष यादव ने शहीद की प्रतिमा पर किया माल्यार्पण शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले...

प्रेम विवाह के बाद पत्नी से नाराज पति मोबाईल टावर पर चढ़ा, जानिए वजह…

महराजगंज:- जनपद के सदर कोतवाली क्षेत्र के पिपरा कल्याण गांव में आज सुबह उस समय एक हाई वोल्टेज ड्रामा देखने को मिला...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

सिविल सेवा परीक्षा 2019 में सफल विवेक चंद्र यादव।

जिंदगी में कुछ सार्थक करने के लिए सपने मायने रखते हैं, गरीबी नहीं। शुरुआती दिनों में गरीबी से जूझते हुए किसान के बेटे ने संघर्ष के बल पर वह मुकाम हासिल किया है जो युवाओं के लिए नजीर है। यह कहानी है, सिविल सेवा परीक्षा 2019 में सफल विवेक चंद्र यादव की। उन्होंने इस परीक्षा में 425वीं रैंक हासिल की है।गोरखपुर शहर के पादरी बाजार स्थित जंगल हकीमपुर नंबर दो निवासी विवेक वर्तमान में आईपीएस की ट्रेनिंग कर रहे हैं। उनके पिता रमाशंकर यादव साधारण किसान और मां श्यामा देवी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता हैं। विवेक ने वैकल्पिक विषय के रूप में केमिस्ट्री लिया था। उनका कहना है कि लगन, कड़ी मेहनत की बदौलत कठिन लक्ष्य को भी हासिल किया जा सकता है।

ये भी पढ़े :  नवीन मंडी गोरखपुर मे चोरो ने लगाई दिनदहाड़े सेंध से मचा हड़कम्प....

मुफलिसी के बीच भी रमाशंकर यादव ने बेटे की पढ़ाई में कोई बाधा नहीं आने दी। बचपन से ही मेधावी रहे विवेक ने इंटरमीडिएट तक की पढ़ाई सेंट मेरी स्कूल, पादरी बाजार से की। उसके बाद उनका चयन आईआईटी, दिल्ली के लिए हो गया।

ये भी पढ़े :  गोरखपुर की यह लड़की दुर्गा नहीं यह है चंडी,हजारों महिलाओं को बना चुकी झाँसी की रानी

वर्ष 2015 में बीटेक की पढ़ाई पूरी की और जापान में एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में एक वर्ष तक नौकरी की। लेकिन सपना आईएएस बनने का था। यही इच्छा उन्हें अपने वतन खींच लाई।

वर्ष 2018 की सिविल सेवा परीक्षा में उन्होंने कामयाबी हासिल की। 458 वीं रैंक हासिल कर वे आईपीएस में चयनित हुए। बावजूद इसके विवेक रुके नहीं, उन्होंने अपनी तैयारी जारी रखी। वर्ष 2019 की सिविल सेवा परीक्षा में अब उन्हें 425वीं रैंक हासिल हुई है।

विवेक के एक भाई उमेश चंद्र यादव स्टेशनरी की दुकान चलाते हैं। विवेक ने अपनी इस सफलता का श्रेय माता-पिता के अलावा सरस्वती आईएएस के निदेशक राकेश सारस्वत, भाई उमेश चंद्र यादव, सुधीर यादव एवं अन्य परिजनों को दिया है।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

खुशखबरी:-योगीराज में देवरिया समेत इन 8 जिलों को मिलेगी 24 घंटे बिजली,जानें क्या गोरखपुर को भी है….

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार के द्वारा 8 जिलों को निर्बाध रूप से बिजली प्रदान करने शासनादेश जारी किया गया...

ऐतिहासिक भूमि चौरी चौरा पर चर्चित सपा नेता मंतोष यादव व पंकज शाही ने किया वीर शहीद का सम्मान, चौराहे का नाम शहीद के...

CM योगी के शासनादेश के विपरीत बाँसगांव के तियर में प्राथमिक विद्यालय की जमीन ही कब्जा लिया प्रधान ने ,विरोध करने पर की मारपीट...

तो क्या बाँसगांव में प्राथमिक विद्यालय की जमीन ही कब्जा लिया प्रधान ने ? विरोध करने पर की मारपीट पीड़ित ने दी...
%d bloggers like this: