Tuesday, August 3, 2021

गोरखपुर: लॉकडाउन में 18 साल बाद लौटे गांव, न बीवी जिंदा मिली और न मां

गोरखपुर के नवोदित कलाकारो से सजी फ़िल्म ‘ऑक्सीजन ‘के अभिनव प्रयास की खूब हो रही चर्चा

नवोदित कलाकारों को लेकर डॉ. सौरभ पाण्डेय की फ़िल्म 'ऑक्सीजन 'के अभिनव प्रयास ने रचा इतिहास

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण।

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण। ...

Maharajganj: प्राथमिक विद्यालय हो रहे मरम्मत कार्य में घटिया तरीके का किया जा रहा है प्रयोग

Maharajganj/Dhani: प्राथमिक विद्यालय हो रहें मरम्मत कार्य में अत्यन्त घटिया किस्म के मसाले व देशी बालू का अधिकता और सिमेन्ट नाम मात्र...

Maharajganj: नालियों के टूट जाने और समय से सफाई न होने से लोग हो रहे परेशान, जांच कर सम्बन्धित कर्मचारियों पर होगी कार्रवाई –...

महाराजगंज/धानी: महाराजगंज जनपद के धानी ब्लाक के अधिकारी भूल चूके हैं अपनी जिम्मेदारी। ग्राम सभा पुरंदरपुर के टोला केवटलिया में नाली टूट...

Maharajganj: दबंग पंचायत मित्र द्वारा किया जा रहा है अवैध नाली का निर्माण।

महराजगंज- फरेंदा ब्लॉक के अंतर्गत ग्राम सभा पिपरा तहसीलदार में पंचायत मित्र द्वारा अपने व्यक्तिगत नाली का निर्माण ग्राम सभा के मुख्य...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

18 साल पहले नाराज होकर घर से निकले महंगी प्रसाद पर जब कोरोना काल में लॉकडाउन की मार पड़ी तो वह मुंबई से घर वापस लौटै. जब वह घर पहुंचे तो उनकी किस्मत में बस रोना ही बचा था. न तो मां मिली और न ही पत्नी जिंदा रही.

ये भी पढ़े :  मोहद्दीपुर में अतिक्रमण अभियान का जमकर विरोध, मोहलत देकर लौटी टीम.…

मंहगी प्रसाद को घर पर मिली वह बेटी जिसे वह कम उम्र में ही छोड़ कर घर से निकल गए थे. आखिर और कर भी क्या सकते थे उनकी किस्मत में तो अब सिर्फ रोना ही बचा था.

गौरतलब है कि थाना तरकुलवा क्षेत्र के कैथवलिया गांव के रहने वाले महंगी प्रसाद 18 साल पहले किसी बात पर पत्नी से नाराज होकर मुंबई चले गए थे. उस वक्त उनकी उम्र लगभग 40 साल थी और शादी भी हो चुकी थी.

घर पर मां, पत्नी और 3 छोटी बेटियों को छोड़ मुंबई पहुंचे महंगी प्रसाद ने रोजी रोजगार के लिए छोटे-बड़े कई काम किए. वे एक छोटी फैक्ट्री में वॉचमैन का काम कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने कभी घर व गांव की तरफ मुड़ कर नहीं देखा. घर के लोगों ने महंगी की बहुत तलाश की और अंत में उन्हें मरा हुआ मानकर संतोष कर लिया.

ये भी पढ़े :  Unlock 1: ढाई महीने बाद आज से खुल रहे धार्मिक स्थल, रेस्तरां, मॉल; जानें किस राज्य में क्या है तैयारी

कोरोना के कारण लगे लॉकडाउन में जब काम धंधा ठप हो गया तब कुछ दिन भूखे रहने के बाद महंगी प्रसाद को घर की याद आई. वहां से एक ट्रक को 3500 रुपये भाड़ा देकर वह गोरखपुर पहुंचे और फिर पैदल ही घर पहुंचे.

पिता को मरा समझ भूल गई बेटी और दामाद ने जब पिता व ससुर को जिंदा देखा तो खुशी का ठिकाना नहीं रहा. अब महंगी प्रसाद गांव में ही अपनी बेटियों के साथ बची हुई जिंदगी बिताएंगे. इस समय इनकी मंझली बेटी मीरा और दामाद दशरथ साथ में हैं.

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

गोरखपुर के नवोदित कलाकारो से सजी फ़िल्म ‘ऑक्सीजन ‘के अभिनव प्रयास की खूब हो रही चर्चा

नवोदित कलाकारों को लेकर डॉ. सौरभ पाण्डेय की फ़िल्म 'ऑक्सीजन 'के अभिनव प्रयास ने रचा इतिहास

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण।

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण। ...

शायर मुनव्वर राना के बोल, ‘दोबारा सीएम बने योगी तो यूपी छोड़ दूंगा’

लखनऊ: मशहूर शायर मुनव्वर राना एक बार फिर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं।उन्होंने कहा कि अगर योगी आदित्यनाथ दोबारा...
%d bloggers like this: