Saturday, August 17, 2019
Education

गोरखपुर विश्वविद्यालय : शीघ्र शुरू होगी रुकी हुई शिक्षक भर्ती…

आरक्षण रोस्टर बाबत स्थिति साफ हो जाने के बाद अब दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय में शिक्षकों की रुकी हुईं नियुक्तियां जल्द शुरू होने के आसार हैं।

आरक्षण रोस्टर बाबत स्थिति साफ हो जाने के बाद अब दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय में शिक्षकों की नियुक्तियां जल्द शुरू होने के आसार हैं। नए नियमों के अनुसार अब फिर से विश्वविद्यालय को इकाई मानकर ही रिक्त पदों में से आरक्षित पदों की गणना की जाएगी और 13 प्वाइंट की जगह फिर से 200 प्वाइंटर रोस्टर लागू होगा।

करीब डेढ़ दशक के अंतराल पर गोरखपुर विश्वविद्यालय में पिछले वर्ष विभिन्न विभागों में शिक्षक संवर्ग के 142 पदों पर नियुक्तियां हुई थीं। नियुक्ति प्रक्रिया के बीच ही आरक्षण लागू करने की प्रणाली को लेकर विवाद की स्थिति बन गई। हाईकोर्ट तत्कालीन नियम के अनुसार आरक्षण प्रावधान लागू करने के लिए विभाग को एक इकाई माना जा रहा था। इसे लेकर आरक्षित संवर्ग के अभ्यर्थियों ने देश भर में प्रदर्शन किया और फिर केंद्र सरकार की पहल पर पहले यूजीसी और राज्य सरकार ने तत्काल प्रभाव से नियुक्ति प्रक्रिया रोक देने का आदेश दिया। हालांकि तब तक गोरखपुर विश्वविद्यालय में चार को छोड़ शेष विभागों के नियुक्ति परिणाम घोषित हो चुके थे।

हिंदी विभाग के लिए साक्षात्कार पूरा हो चुका था, जबकि तीन अन्य विभागों के लिए साक्षात्कार प्रस्तावित था। आदेश के चलते चार विभागों की नियुक्ति प्रक्रिया रोक दी गई। वहीं जिन विभागों का परिणाम घोषित हो चुका था, उनमें से कई में एसोसिएट प्रोफेसर और प्रोफेसर संवर्ग के अनेक पदों पर योग्य अभ्यर्थी नहीं पाए गए। अब इन सभी पदों के लिए नए सिरे से नियुक्ति प्रक्रिया होगी।

नई केंद्रीय कैबिनेट ने पहली ही बैठक में विश्वविद्यालयों में रोस्टर संबंधी पूर्व में प्रचलित 200 प्वाइंट रोस्टर और विश्वविद्यालय को इकाई मानने का आदेश पारित किया है। इस बीच यूजीसी ने भी खाली पदों का विवरण मांगा है। माना जा रहा है जल्द ही राज्य सरकार खाली पदों को भरने के लिए जल्द ही आदेश दे सकती है, जिसके बाद गोरखपुर विश्वविद्यालय में नियुक्तियों बाबत तैयारी शुरू होगी।

Advertisements
%d bloggers like this: