Saturday, August 17, 2019
Gorakhpur

गोरखपुर: वीआईपी मूवमेंट को देखते हुए दो दर्जन से अधिक अतिक्रमणकारियों पर ज़बरदस्त कार्रवाई

सीएम के दौरे को देखते हुए नगर निगम ने प्रशासन के सहयोग से सोमवार को शहर में अतिक्रमण के खिलाफ व्यापक अभियान चलाया. सड़कों के किनारे सरकारी जमीन पर कब्जा कर ट्रैफिक सिस्टम को प्रभावित करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की गई. सुबह 10 बजे से ही निगम की चार टीमें यातायात तिराहा व मोहद्दीपुर पर फोर्स के साथ पहुंच गई. टीम को देखते ही कब्जाधारी सामान लेकर भागने लगे. सड़क किनारे लगने वाले रेहड़ी-खोमचे, ठेले, स्टॉल, दुकानों को तुरंत हटा दिया गया. इस दौरान 30 से अधिक अस्थाई अतिक्रमण गिराए गए. स्थाई निर्माण के खिलाफ बेहद कम कार्रवाई की गई. कम समय में मुख्य सड़कों से अतिक्रमण हटाने के लिए चार टीमों का गठन किया गया था. टीमों का नेतृत्व प्रशासनिक अधिकारियों ने किया.

कब्जे पर चला डंडा

अतिक्रमण के खिलाफ नगर निगम व प्रशासन ने चार टीमों का गठन किया था. एसीएम सेकेंड गौरव श्रीवास्तव व सहायक नगर आयुक्त संजय श्रीवास्तव के नेतृत्व में टीम ने ट्रैफिक तिराहे से पैडलेगंज तक अभियान चलाया. एसडीएम प्रथमेश कुमार व एक्सईएन देवेन्द्र सिंह के नेतृत्व में गठित टीम ने ट्रैफिक तिराहे से गोरखनाथ मंदिर तक अतिक्रमण हटवाया. सिटी मजिस्ट्रेट अजीत सिंह के नेतृत्व में टीम ने मोहद्दीपुर से सर्किट हाउस तक अतिक्रमण हटाया. जबकि एसीएम फ‌र्स्ट व अपर नगर आयुक्त ने मोहद्दीपुर से एयरपोर्ट तक अभियान चला रही टीम का नेतृत्व किया. 

गुमटी व ठेलों की आई शामत

सोमवार को अतिक्रमण अभियान का शिकार सबसे अधिक गुमटी व ठेलों के दुकानदार हुए. टीम जिस रास्ते से गुजर रही थी वहां से दुकानों को हटा दिया जा रहा था. रेलवे स्टेशन से यूनिवर्सिटी चौक तक दोनों तरफ लगने वाली दुकानों को तोड़ दिया गया. जिन लोगों ने गुमटी व ठेलों को छिपाने की कोशिश की उन्हें भी नहीं बख्शा गया. इतना ही नहीं तोड़ने के बाद उसे गाड़ी पर लाद कर निगम ने अधिग्रहित कर लिया. ट्रैफिक तिराहे से गोरखनाथ मंदिर तक के रास्ते के दोनों तरफ लगने वाली फल दुकानों, रेहड़ी वालों को सख्ती के साथ हटा दिया गया. अभियान के दौरान कई ठेलों को तोड़ दिया गया. 

फुटपाथ से दो मिनट में हुए रफूचक्कर

मोहद्दीपुर से एयरपोर्ट तक की सड़क पर फुटपाथ पर काम कर रहे दुकानदार टीम आने की सूचना मिलते ही भाग खड़े हुए. फुटपाथ पर स्वेटर, किचन आइटम, सब्जी, फल बेच रहे दुकानदार तुरंत ही समान बटोरने लगे. सिटी मजिस्ट्रेट अजीत सिंह ने उन्हें सख्त हिदायत दी कि दोबारा अतिक्रमण नहीं करें. टीम ने वहां पर भी कार्रवाई की जहां निगम की जमीन पर टीनशेड डाल दिया गया था. कुछ महीनों पहले चले अभियान के कारण सड़कों पर स्थाई अतिक्रमण की संख्या बेहद कम थी.

Advertisements
%d bloggers like this: