Thursday, January 23, 2020
Breaking News

ग्राम विकास अधिकारी सपना सिंह ने आइएएस एसडीएम पर लगाया मारपीट का आरोप….

कोपागंज ब्लाक में ग्राम विकास अधिकारी के पद पर तैनात सपना ङ्क्षसह ने सोमवार को सदर एसडीएम आइएएस अतुल वत्स पर मारपीट का आरोप लगाया है। फातिमा चौराहे के निकट हुई इस घटना में महिला ग्राम विकास अधिकारी ने जमकर उत्पात मचाया। एसडीएम पर गंभीर आरोप लगाते हुए मामले को कवर करने गए पत्रकारों की माइक भी छीन ली। महिला वीडीओ ने एसडीएम पर एफआइआर दर्ज करने के लिए पुलिस अधीक्षक को पत्रक सौंपा है। तहरीर में ग्राम विकास अधिकारी ने लिखा है कि वह अपने आफिस के कार्य से कलेक्ट्रेट आई हुई थी। वहां से कोपागंज जाते समय गाजीपुर तिराहे के पास जाम लगा था। पीछे से एसडीएम की गाड़ी हूटर बजाते हुए आ रही थे परंतु जाम के चलते कहीं साइड देने की जगह नहीं थी। ऐसे में गाड़ी रोककर एसडीएम उतरे और भला-बुरा कहते हुए उसके कपड़े फाड़ दिए। उनके नाखून से शरीर पर खरोंचें भी आने का आरोप लगाया। इस प्रकरण का पता चलते ही ग्राम विकास अधिकारी संघ भी महिला वीडीओ के साथ लामबंद हो गया। काफी तादात में ग्राम विकास अधिकारी पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचे। वहां उन्होंने पुलिस अधीक्षक कार्यालय में एसडीएम के विरुद्ध कार्रवाई का पत्रक सौंपा। इसके बाद वे जिलाधिकारी के यहां गए। यहां ग्राम विकास अधिकारी संघ ने 24 घंटे के अंदर एफआइआर दर्ज करने का अल्टीमेटम दिया।

इस बारे में संयुक्त मजिस्ट्रेट, एसडीएम सदर अतुल वत्स ने कहा कि डा. भीम राव आंबेडकर स्पोर्टस स्टेडियम में जाने के दौरान गाजीपुर तिराहे के निकट एक चार पहिया वाहन से एक साइकिल सवार को धक्का लग गया, वह गिर गया। इसके बाद भी वाहन रुका नहीं। मैंने भी फातिमा चौराहे के निकट उसकी गाड़ी रोकवाकर पूछना चाहा। इतने पर महिला भड़क गई। वहां उनके सहित मौजूद लोगों को भला-बुरा कहने लगी। इस दौरान मीडिया कर्मियों की माइक को भी छीन लिया। मेरे ऊपर लगाए गए इल्जाम झूठे और निराधार हैं।

सपना के समर्थन में उतरा वीडीओ संघ…

कोपागंज ब्लाक में ग्राम विकास अधिकारी के पद पर तैनात सपना ङ्क्षसह ने सोमवार को सदर एसडीएम आइएएस अतुल वत्स पर दुव्र्यवहार करने, कपड़ा फाडऩे और मारपीट करने आरोप लगाया है। उधर इन गंभीर आरोपों को लेकर ग्राम विकास अधिकारी संघ भी सपना के समर्थन में मैदान में कूद पड़ा है। संघ के प्रतिनिधिमंडल ने डीएम और एसपी से मिलकर पत्रक सौंप संयुक्त मजिस्ट्रेट के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की तथा इसके लिए प्रशासन को 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया।

Advertisements
%d bloggers like this: