Tuesday, October 26, 2021

घरवालों ने बचपन में ही छोड़ दिया था साथ, खुद के बूते पढ़कर पहले प्रयास में ही बनी IAS अफ़सर …

समाजवादी छात्रसभा महानगर गोरखपुर ने गोरखपुर विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार पर चलाया सदस्यता अभियान!

Gorakhpur: समाजवादी छात्रसभा महानगर गोरखपुर ने गोरखपुर विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार पर चलाया सदस्यता अभियान! आज गोरखपुर विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार पर...

Mrj: अधिकरियो के रहमो-करम पर दबंगों द्वारा चकनाले की जमीन पर बिना मान्यता प्राप्त विद्यालय का किया जा रहा है संचालन, बच्चों का भविष्य...

Maharajganj/Dhani: युवा समाजसेवी अजय कुमार का कहना है कि धानी ब्लाक के अन्तर्गत एक विद्यालय साधु शरण गंगोत्री देवी लेदवा रोड बंगला...

साष्टांग प्रणाम यात्रा पे निकला बांसी से लेहड़ा मंदिर – भक्त रामशब्द लोधी

Maharajganj/ SiddharthNagar: बांसी क्षेत्र के अंतर्गत राम गोहार गाँव से रामशब्द लोधी ने लगातार तेरह वर्षों से नवमी में सष्टांग प्रणाम यात्रा...

Maharajganj: हड़हवा टोल प्लाजा पर भेदभाव हुआ तो होगा आन्दोलन।

फरेन्दा, महराजगंज: फरेन्दा नौगढ़ मार्ग पर स्थित हड़हवा टोल प्लाजा पर प्रबन्धक द्वारा कुछ विशेष लोगो को छोड़ बाकी सबसे टोल टैक्स...

Maharajganj: बृजमनगंज थाना क्षेत्र में चोरों के हौसले बुलंद, लोग पूछ रहे सवाल क्या कर रहे हैं जिम्मेदार

बृजमनगंज, महाराजगंज. थाना क्षेत्र में पुलिस की निष्क्रियता के चलते चोरों के हौसले बुलंद है. जिसके कारण चोरी की घटनाएं बढ़ रही...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

हर इंसान की जिंदगी में उतार-चढ़ाव आते हैं, कई लोगों के हिम्मत टूट जाते हैं और वो निराश होकर जिंदगी की राह में पीछे छूट जाते हैं। वहीं कुछ लोग जिंदगी की राह में आने वाली तमाम चुनौतियों का डटकर मुकाबला करते हुए अपने मंज़िल को हासिल कर लेते हैं। उम्मुल खेर एक ऐसा ही नाम है जिसने साबित कर दिया कि जिंदगी में कुछ भी हो सकता है, अगर करने की चाहत और जुनून हो। बचपन से ही अनगिनत बाधाओं का सामना करने वाली इस लड़की ने कभी हार नहीं मानी, परिस्थितियों का डटकर मुकाबला की और अपने आईएएस बनने के सपने को साकार किया।

यूपीएससी 2016 में अपने पहले प्रयास में ही 420वां रैंक हासिल कर सफलता का शानदार परचम लहराने वाली उम्मुल खेर बचपन में ही विकलांग पैदा हुई और उन्होंने विकलांगता को अपनी ताकत बनाते हुए सफलता की सीढ़ियां चढ़ती चली गई। राजस्थान के पाली मारवाड़ की रहने वाली उम्मुल बचपन से ही अजैले बोन डिसऑर्डर नाम की बीमारी से ग्रसित हैं, एक दुर्लभ बीमारी जो आमतौर पर नाजुक हड्डी संबंधी विकार के रूप में जाना जाता है। इस बीमारी ने उनके जीवन को बेहद मुश्किल भरा बना दिया था। दूसरी चुनौती यह थी कि गरीबी भी उन्हें विरासत में मिली थी।

ये भी पढ़े :  39 साल की वह रहस्यमयी महिला जिसकी काली करतूतों से हिल रही है मुख्यमंत्री की कुर्सी....

7g7dty4ev6bgtlymavyet4dv3kmuwpk2.jpg

हड्डियां कमज़ोर हो जाने की वजह से जब बच्चा गिर जाता है तो फ्रैक्चर होने की ज्यादा संभावना रहती है। इस वजह से 28 साल की उम्र में उम्मुल को 15 से भी ज्यादा बार फ्रैक्चर का सामना करना पड़ा है।

उम्मुल के पिता सड़क किनारे फुटपाथ पर मूंगफली बेचा करते थे। दिल्‍ली में निजामुद्दीन के पास स्थित झुग्गियां में पूरा परिवार गरीबी और संघर्षों से जूझता था। साल 2001 में झुग्गियां टूटने के बाद उन्होंने त्रिलोकपुरी इलाके की ओर रुख किया। उम्मुल को बचपन में ही इस बात की समझ हो चुकी थी कि यदि जिंदगी को बेहतर बनाना है तो इसके लिए शिक्षा बेहद महत्वपूर्ण है। लेकिन परिवार के लोग नहीं चाहते थे की वो आगे की पढ़ाई करें। इसी दौरान उनकी माँ का देहांत हो गया। माँ उनके लिए एकमात्र सहारा थी जो हर परिस्थिति में बेटी का साथ देती थी। घर में सौतेली माँ आई तो उनके साथ उसका रिश्ता बेहतर नहीं रहा, और अंत में उम्मुल को घर छोड़ने पर विवश होना पड़ा। उन्होंने एक किराये की मकान ली और विषम आर्थिक परिस्थिति में भी ट्यूशन पढ़ाकर अपना खर्च चलाया।

संघर्ष के दिनों को याद करते हुए उम्मुल कहती हैं कि “मैं झुग्गी के बच्चों को पढ़ाकर 100-200 रुपए कमा लेती थी। उन्हीं दिनों मुझे आईएएस बनने का सपना जगा था। सुना था कि यह सबसे कठिन परीक्षा होती है।”

उम्मुल पांचवीं तक की पढ़ाई आईटीओ में बने एक दिव्यांग स्कूल में हासिल की। उसके बाद आठवीं तक कड़कड़डूमा के अमर ज्योति चैरिटेबल ट्रस्ट में पढ़ाई की। आठवीं की परीक्षा वो अव्वल नंबर से पास की और फिर उन्हें स्कॉलरशिप का लाभ मिला। स्कॉलरशिप की बदौलत उन्हें एक प्राइवेट स्कूल में पढ़ने का मौका मिला। दसवीं में 91 फीसदी और 12वीं 90 फीसदी अंक हासिल करने के बाद उम्मुल दिल्ली यूनिवर्सिटी के गार्गी कॉलेज में साइकोलॉजी से ग्रेजुएशन किया। इस दौरान भी उन्होंने अपने ट्यूशन पढ़ाने के क्रिया-कलाप को जारी रखा।

ये भी पढ़े :  कपल्स के अनोखे कॉम्पिटिशन पर रोक, सबसे ज्यादा देर तक 'चुंबन' करने पर मिलता है इनाम...

vch6jracass4uzqttqt52nuxxihbcewu.jpg

आगे की पढ़ाई के लिए वो प्रतिष्ठित जवाहरलाल नेहरु यूनिवर्सिटी का रुख की और मास्टर डिग्री हासिल करने के बाद वहीं एमफिल में एडमिशन ले लिया। अपनी रेगुलर पढ़ाई में वो इतना व्यस्त हो गईं कि उन्हें उनके आईएएस बनने के सपने को साकार करने के लिए वक्त ही नहीं मिल रहा था। पिछले साल जनवरी में उन्होंने यूपीएसी के लिए तैयारी शुरू की और अपनी पहली कोशिश में ही 420वां रैंक हासिल करने में सफल रहीं।

ये भी पढ़े :  किसान के बेटे ने कलेक्टर बनकर शुरू किया खेतों का 'रास्ता खोलो अभियान'...

एक वक़्त पर जिस परिवार ने उम्मुल से उसका साथ छोड़ दिया था, आज उस परिवार की गलतियों को वो माफ़ कर चुकी हैं। गरीबी और विकलांगता को मात देकर बेमिसाल सफलता का उदाहरण पेश करने वाली इस बहादुर लड़की के जज़्बे को जितनी बार सलाम किया जाए, कम है।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

Mrj: अधिकरियो के रहमो-करम पर दबंगों द्वारा चकनाले की जमीन पर बिना मान्यता प्राप्त विद्यालय का किया जा रहा है संचालन, बच्चों का भविष्य...

Maharajganj/Dhani: युवा समाजसेवी अजय कुमार का कहना है कि धानी ब्लाक के अन्तर्गत एक विद्यालय साधु शरण गंगोत्री देवी लेदवा रोड बंगला...

Maharajganj: औकात में रहना सिखो बेटा नहीं तो तुम्हारे घर में घुस कर मारेंगे-भाजपा आईटी सेल मंडल संयोजक, भद्दी भद्दी गालियां फेसबुक पर वायरल।

Maharajganj: महाराजगंज जनपद में भाजपा द्वारा नियुक्त धानी मंडल संयोजक का फेसबुक पर गाली-गलौज और धमकी वायरल। फेसबुक पर धानी मंडल संयोजक...

सिद्धार्थ पांडेय बने भाजपा मीडिया सम्‍पर्क विभाग के क्षेत्रीय संयोजक…

उत्‍तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों की तैयारी में जुटी भाजपा संगठन को नए स्‍तर से मजबूत बनाने में...
%d bloggers like this: