Saturday, July 24, 2021

चंद जातियों के सहारे नहीं टिक पाए छोटे दल, ऐसे भारी पड़ा मोदी ब्रांड….

पुलिस अधीक्षक द्वारा की गयी मासिक अपराध गोष्ठी में अपराधों की समीक्षा व रोकथाम हेतु दिये गये आवश्यक दिशा-निर्देश

Maharajganj: पुलिस अधीक्षक महराजगंज प्रदीप गुप्ता द्वारा आज दिनांक 17.07.2021 को पुलिस लाइन्स स्थित सभागार में मासिक अपराध गोष्ठी में कानून-व्यवस्था की...

शायर मुनव्वर राना के बोल, ‘दोबारा सीएम बने योगी तो यूपी छोड़ दूंगा’

लखनऊ: मशहूर शायर मुनव्वर राना एक बार फिर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं।उन्होंने कहा कि अगर योगी आदित्यनाथ दोबारा...

Maharajganj: CO सुनील दत्त दूबे द्वारा कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस महानिदेशक जोन गोरखपुर ने प्रशस्ति पत्र से नवाजा।

Maharajganj/Farenda: सीओ फरेन्दा सुनील दत्त दूबे को थाना पुरन्दरपुर में नवीन बीट प्रणाली के क्रियान्वयन में कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस...

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...

महराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतर्गत SBI कृषि विकास शाखा के सामने से मोटरसाइकिल चोरी

Maharajganj: महाराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतगर्त मंगलवार को बृजमनगंज रोड पर भारतीय स्टेट बैंक कृषि विकास शाखा के ठीक...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा-रालोद गठबंधन के बावजूद भाजपा को निर्णायक बढ़त, बिहार में महागठबंधन पर एनडीए का भारी पड़ना यह भविष्य की सियासत के लिहाज से क्षेत्रीय या छोटे दलों के लिए पहाड़ जैसी चुनौती का संकेत दे रहे हैं। जानकारों का कहना है कि खासतौर पर यूपी व बिहार में क्षेत्रीय दलों को चंद जातियों के समूह से बाहर निकलकर व्यापक सोच के आधार पर नया फार्मूला खोजना पड़ेगा।

पॉलिसी थिंक टैंक चेज इंडिया के निदेशक मानस नियोग ने कहा कि इन चुनावों में मोदी ब्रांड क्षेत्रीय जातीय क्षत्रपों पर भारी पड़ा। जातियों का ब्यूह टूटा है। मोदी की ठोस निर्णय लेने वाले नेता की छवि और करिश्मा ने यूपी, बिहार के क्षेत्रीय दलों का जातीय तिलिस्म तोड़ दिया। इससे साफ है कि चंद जातियों का समूह बनाकर चुनाव जीतना अब बहुत मुश्किल हो गया है।

ये भी पढ़े :  योगी के राज्य में लापरवाही, खिड़की तोड़कर कोरोना पीड़ित जमाती फरार::मचा हड़कंप

नए नैरेटिव तलाशने होंगे

जानकारों के मुताबिक जातीय समीकरण पर ध्रुवीकरण व राष्ट्रवाद, परसेप्शन और आशावादी नेतृत्व का हावी पड़ना इस बात का संकेत है कि क्षेत्रीय दलों को भी नए नैरेटिव खोजने होंगे। क्षेत्रीय दल शायद उस स्थिति में ही प्रासंगिक हो सकते हैं जब वे राज्य या राष्ट्रीय स्तर पर उम्मीदों का प्रतिनिधित्व करें। परसेप्शन की लड़ाई में उन्हें लोगों की आकांक्षाओं को समझना होगा। मानस नियोग के मुताबिक क्षेत्रीय दलों को नई सियासत का मर्म समझना होगा।

ये भी पढ़े :  ऐसे करिये फ़ेक न्यूज़ वेरिफाई सेव करिये तत्काल....

नए समूहों की भूमिका

बिहार में कभी यादव-मुस्लिम समीकरण चलता था, यूपी में भी ऐसे ही समीकरणों के साथ सपा, बसपा जीतते थे। अब पिछड़ों में अति पिछड़ा व दलितों में अति दलित जैसे नए समूह भी चुनाव में अहम भूमिका निभाने लगे हैं।

राज्यों के समीकरण से बचे रहे

जानकारों का कहना है कि कई राज्यों में क्षेत्रीय दलों ने अपनी ताकत दिखाई है। क्योंकि राज्यों में उनकी विश्वसनीयता बनी रही। तमिलनाडु में भाजपा विरोधी खेमे में होने के बावजूद द्रमुक अपनी ताकत दिखाने में कामयाब हुई। क्योंकि अन्नाद्रमुक में जयललिता के निधन के बाद पूरी तरह बिखराव हो गया। एनडीए और यूपीए दोनों से समान दूरी बनाने वाले दल तेलंगाना में टीआरएस, आंध्र में वाईएसआर कांग्रेस और ओडिशा में बीजद की कामयाबी इस बात का संकेत है कि अगर राज्यों में मजबूत नेतृत्व और आशा पैदा करने वाला नेतृत्व हैं तो क्षेत्रीय दल प्रासंगिक बने रह सकते हैं।

ये भी पढ़े :  SP-BSP गठबंधन: योगी ने कहा- यह अपना वजूद बचाने की कोशिश है....

नए सामाजिक समीकरण तलाशने होंगे

अनूप शर्मा, कम्युनिकेशन एक्सपर्ट ने कहा कि चुनाव नतीजों से स्पष्ट है कि जातियां बंधुआ होकर नहीं रह सकतीं। इसलिए सोशल इंजीनियरिंग का नया फार्मूला खोजकर अपना दायरा बढ़ाना यूपी व बिहार में क्षेत्रीय दलों की बड़ी चुनौती होगी। अगर ऐसा नहीं हुआ तो क्षेत्रीय दलों पर राष्ट्रीय दलों की सियासत हावी हो सकती है। या नए विकल्प भी उभरकर सामने आ सकते हैं।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

यूपी में कई IPS बदले गए,दिनेश कुमार गोरखपुर के नए एसएसपी.

कई IPS के तबादले हुए जिसमे गोरखपुर के एसएसपी जोगेंद्र कुमार को झाँसी का नया डीआईजी बनाया...

बड़े पैमाने पर हुआ सीओ का तबादला,125 सीओ किये गए इधर से उधर….

उत्तर प्रदेश में बड़े पैमाने पर सीओ यानी उपाधीक्षकों के तबादले किये गए।।125 उपाधीक्षकों का तबादला किया...

तंत्र-मंत्र के चक्कर में फंसी बहू, सिद्धि के लिए दे दी अपने ही ससुर की बलि

उत्तर प्रदेश के कौशांबी में तंत्र-मंत्र के चक्कर में फंस कर एक बहू ने अपने ही ससुर...
%d bloggers like this: