Sunday, June 13, 2021

चलती ट्रेन में अपराधियों ने केनरा बैंक के PO का गला रेता, खुद अस्पताल पहुंचे, इलाज के दौरान मौत…

महराजगंज के नगर पंचायत आनंद नगर में गैस सिलेंडर फटा, छः लोग जख्मी

Maharajganj: महाराजगंज जिले की नगर पंचायत आनंद नगर के धानी ढाला पर जमीर अहमद के मकान में सुबह 6:30 बजे खाना...

69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण के नियमों का बड़े पैमाने पर अव्हेलना को लेकर आज़ाद समाज पार्टी के जिलाध्यक्ष ने एसडीएम को सौंपा...

Maharajganj: 69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण के नियमों की बड़े पैमाने पर अवहेलना की गयी है जिसमें OBC वर्ग...

तेज रफ्तार कार से ऑटो की भिड़ंत, घायलों को पहुंचाया गया अस्पताल।

फरेंदा (महराजगंज): जनपद में हर रोज हो रहे सड़क हादसे चिंता का बड़ा सबब बनते जा रहे हैं। फरेंदा कस्बे के उत्तरी...

दूसरों की मदद करने से जो खुशी मिलती है वही असली आनंद :- पवन सिंह

कुछ करने से अगर खुशी की अनुभूति होती है तो उससे बढ़कर आनंद किसी में नहीं है। आनंद को शब्दों में व्यक्त...

फिल्‍मी स्‍टायल में कुछ इस तरह लाल जोड़े में दुल्हन का रूप धारण कर प्रेमिका की शादी में पहुंच गया प्रेमी और खुल गयी...

भदोही. जिले में एक युवक ने प्रेमिका से मिलने का ऐसा प्लान बनाया कि मामला खुलने के बाद लोगों ने दांतो तले...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

गया-किऊल रेलमार्ग के सिरारी और लखीसराय स्टेशन के बीच बुधवार की देर रात अपराधियों ने चलती ट्रेन में केनरा बैंक के एक अधिकारी की गला रेत कर हत्या कर दी. अधिकारी केनरा बैंक के जमुई शाखा में प्रोबेशनरी ऑफिसर के पद पर कार्यरत बताये जा रहे हैं. घटना के बाद लोगों का आक्रोश फूट पड़ा. लोगों ने सड़क जाम कर प्रदर्शन किया. हालांकि, बाद में एएसपी के आश्वासन के बाद जाम खत्म कर दिया गया. मृतक भागलपुर जिले के सुलतानगंज का मूल निवासी स्व. विधानचंद मिश्रा का 28 वर्षीय पुत्र मिलिंद कुमार था. मिलिंद के मां व भाई वर्तमान में मुजफ्फरपुर में रहते हैं. मृतक के पिता पश्चिम चंपारण जिले के बेतिया में कॉलेज में कार्यरत थे. इस कारण मृतक के आधार कार्ड पर स्थायी पता बेतिया का ही लिखा है. 

ये भी पढ़े :  गोरखपुर विश्वविद्यालय ने जारी किया निर्देश, अब मई तक ही कोर्स और विषय को मिलेगी मान्यता

जानकारी के अनुसार, मिलिंद को गया स्थित केनरा बैंक के क्षेत्रीय कार्यालय में बैठक के लिए बुलाया गया था. वह बैंक अधिकारियों की बैठक में शामिल होने के लिए बुधवार को गया गया हुआ था. बैठक में शामिल होने के बाद वह 53616 डाउन गया-जमालपुर फास्ट पैसेंजर से किऊल आ रहा था, जहां से उसे जमुई के लिए ट्रेन बदलनी थी. इस दौरान सिरारी स्टेशन पर चढ़े अपराधियों ने मिलिंद को अपना निशाना बनाया और धारदार हथियार से उसकी गला रेत कर हत्या कर दी. 

ये भी पढ़े :  गोरखपुर विश्वविद्यालय ने जारी किया निर्देश, अब मई तक ही कोर्स और विषय को मिलेगी मान्यता

मिलिंद के हाथ पर कटे के निशान से लोगों ने आशंका जतायी है कि अपराधियों के साथ उसकी हाथापाई भी हुई होगी. घटना की जानकारी मिलने पर जमुई से पहुंचे उनके सहकर्मी बैंक प्रबंधक दीपक कुमार सिन्हा ने बताया कि मृतक ने घायल होने पर अपने मित्र जीतेंद्र कुमार को फोन पर घटना की जानकारी देते हुए बताया था कि अपराधियों ने उनका गला काट दिया है. इधर, अस्पताल सूत्रों के अनुसार मृतक घायलावस्था में लखीसराय स्टेशन पर उतर कर स्वयं सदर अस्पताल पहुंचा था, लेकिन उसके शरीर से अत्यधिक रक्त बह जाने से उसकी मौत हो गयी. घटना की जानकारी होते ही शेखपुरा जीआरपी थाना व लखीसराय जीआरपी के अधिकारी और जवान सदर अस्पताल पहुंच मामले की जांच शुरू कर दी. वहीं, शव को पोस्टमार्टम कराने के बाद मुजफ्फरपुर से लखीसराय पहुंचे मिलिंद के भाई और अन्य परिजनों को सौंप दिया गया. 

परिजनों को बैंक अधिकारी का शव सौंपे जाने के बाद जमुई से पहुंचे लोगों ने शव के साथ सदर अस्पताल के समीप सड़क पर रखकर लखीसराय-रामगढ़ चौक मार्ग को जाम कर दिया. इस दौरान लोग घटना के बाद घायलावस्था में मिलिंद के लखीसराय स्टेशन से सदर अस्पताल स्वयं पहुंचने तथा इस बीच किसी तरह की पुलिस के द्वारा ध्यान नहीं दिये जाने की वजह से बैंक अधिकारी की मौत का कारण बताते हुए पुलिस को दोषारोपित कर रहे हैं. सड़क जाम की सूचना मिलने पर पहुंचे एएसपी मनीष कुमार ने मामले को जीआरपी के क्षेत्र की बात बताते हुए परिजनों को आश्वस्त किया कि वे इसके लिए जीआरपी अधिकारियों से बात करेंगे और ट्रेन में ड्यूटी करनेवाले जीआरपी जवानों के खिलाफ कार्रवाई के लिए उच्च अधिकारियों को लिखेंगे. इसके बाद करीब घंटे भर तक जाम रहने के बाद परिजन सड़क से हटे. 

ये भी पढ़े :  बाँसगांव क्षेत्र के अंतर्गत एक गाँव के दो पक्षीय विवाद में रोटी सेकने में लगा छुटभैया नेता,प्रशासन ले संज्ञान में
ये भी पढ़े :  एंबुलेंस चालक रेलवे क्रासिंग पर छोड़कर भागा।

मिलिंद दो भाईयों में छोटा था. मिलिंद कुमार अपने दो भाईयों में छोटे थे तथा अविवाहित थे. मृतक के भाई मनीष मधुर ने बताया कि अगर सही समय पर उनके भाई का इलाज हो जाता, तो शायद उसका भाई आज जीवित रहता.

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

पालघर में नौसेना के नाविक को अगवा कर जिंदा जलाया,मौत…

तमिलनाडु: चेन्नई से 30 जनवरी को अगवा किए गए नौसेना के 26 वर्षीय नाविक को महाराष्ट्र के पालघर...

यूपी: पंचायत चुनावों का बजा बिगुल इलाहाबाद हाईकोर्ट ने किया तारीखों का ऐलान जाने कब होगा पंचायत चुनाव…

हाईकोर्ट ने यूपी सरकार को निर्देश दिया है कि 17 मार्च तक आरक्षण का कार्य पूरा कर...

पूर्वांचल: रामपुर जा रही प्रियंका गांधी के काफिले की कई गाड़ियां आपस में टकराई, बाल-बाल बची

हापुड़: रामपुर दौरे पर निकलीं कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी के काफिले में चल रहीं कई गाड़ियां...
%d bloggers like this: