Sunday, July 25, 2021

‘चीन से भाग रही कंपनियों को हम भी लपकेंगे’, असम को भारत का अगला Business Hub बनाने में जुटी असम सरकार

पुलिस अधीक्षक द्वारा की गयी मासिक अपराध गोष्ठी में अपराधों की समीक्षा व रोकथाम हेतु दिये गये आवश्यक दिशा-निर्देश

Maharajganj: पुलिस अधीक्षक महराजगंज प्रदीप गुप्ता द्वारा आज दिनांक 17.07.2021 को पुलिस लाइन्स स्थित सभागार में मासिक अपराध गोष्ठी में कानून-व्यवस्था की...

शायर मुनव्वर राना के बोल, ‘दोबारा सीएम बने योगी तो यूपी छोड़ दूंगा’

लखनऊ: मशहूर शायर मुनव्वर राना एक बार फिर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं।उन्होंने कहा कि अगर योगी आदित्यनाथ दोबारा...

Maharajganj: CO सुनील दत्त दूबे द्वारा कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस महानिदेशक जोन गोरखपुर ने प्रशस्ति पत्र से नवाजा।

Maharajganj/Farenda: सीओ फरेन्दा सुनील दत्त दूबे को थाना पुरन्दरपुर में नवीन बीट प्रणाली के क्रियान्वयन में कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस...

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...

महराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतर्गत SBI कृषि विकास शाखा के सामने से मोटरसाइकिल चोरी

Maharajganj: महाराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतगर्त मंगलवार को बृजमनगंज रोड पर भारतीय स्टेट बैंक कृषि विकास शाखा के ठीक...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

कोरोना वायरस के कारण चीन से बाहर आ रही कंपनीयों को लुभाने के लिए अब हरियाणा और उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों के अलावा पूर्वोत्तर के राज्य असम ने भी कमर कस ली है। असम राज्य इन कंपनी को लुभाने के लिए ना सिर्फ रोडमैप तैयार कर चुका है बल्कि विदेशी संस्थाओं के संपर्क में रहकर असम सरकार यह सुनिश्चित करने में भी लगी है कि यह कंपनियां अधिक से अधिक संख्या में असम में ही आएं।

असम की सरकार ने अब तक Corona को राज्य में काबू रखने में बड़ी सफलता हासिल की है। यह सफलता दुनिया भर की कई सरकारें प्राप्त नहीं कर सकी। अब असम सरकार का नया उद्देश्य चीन को छोड़ रही जापानी, कोरिया और अमेरिकी कंपनियों को लुभाने का है।

असम के उद्योग मंत्री चंद्रमोहन पटवारी के मुताबिक- असम अब इन कंपनियों को लुभाने के लिए पूरी तैयारी कर चुका है। उन्होंने बताया कि असम का उद्योग और वाणिज्य विभाग अर्नेस्ट एंड यंगके साथ मिलकर चीन को छोड़ रही कंपनी को लुभाने के लिए लगातार काम कर रहा है।

असम अब इस अवसर को अपने फायदे के लिए इस्तेमाल करते हुए देश का व्यवसायिक केंद्र बनना चाहता है। पटवारी के मुताबिक–

ऐसी खबरें आ रही हैं कि अमेरिका, जापान और कोरिया के कई कंपनियां चीन को छोड़कर भारत में अपने कारखाने शिफ्ट करना चाहती हैं। असम सरकार इन्हें लुभाने के लिए हर संभव प्रयास करने के लिए तैयार हैं

ये भी पढ़े :  गोरखपुर बॉर्डर पर चेकिंग में लापरवाही बरतने पर दरोगा और दो सिपाही हुए निलंबित...

और सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि असम सरकार ने केंद्र सरकार द्वारा देश भर में स्थापित किए जाने वाले तीन फार्मा पार्क्स में से एक फार्म पार्क को अपने यहां स्थापित करने की गुहार भी की है, ताकि एपीआई (Active Pharmaceutical Ingredient) के लिए भारत को चीन पर आश्रित ना होना पड़े।

ये भी पढ़े :  कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद सील किया गया जटेपुर उत्तरी का ये एरिया,एसडीएम सदर ने निरीक्षण कर दिया आवश्यक निर्देश....

पटवारी के मुताबिक “उन्होंने केंद्रीय केमिकल और फर्टिलाइजर मंत्री के साथ बात कर एक फार्मा पाक को असम में स्थापित करने की बात कही है”। इसके अलावा असम की सरकार केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल के संपर्क में भी है ताकि अमेरिकी, जापानी और कोरियन कंपनियों को असम में लाया जा सके। असम सरकार ने यह भी कहा कि उन्होंने अपने सभी योजनाओं को केंद्र सरकार के साथ साझा कर दिया है।

असम की सरकार सिर्फ देश में ही इन कंपनियों को लुभाने के प्रयास नहीं कर रही है बल्कि जापान एक्सटर्नल ट्रेड ऑर्गेनाइजेशन और यूएस इंडिया बिजनेस काउंसिल जैसी अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं के साथ मिलकर भी अधिक से अधिक कंपनियों को आसाम में स्थापित करने के लिए असम सरकार जी तोड़ प्रयास कर रही है।

असम सरकार मुख्य तौर पर जापानी कंपनी को लुभाने के लिए अधिक से अधिक कोशिश कर रही है। असम सरकार का मानना है कि अगर उनकी कोशिशें रंग लाती हैं, तो असम में जापानी कंपनियां एक औद्योगिक टाउनशिप को भी खोल सकती हैं।

बता दें कि जापान पहले ही भारत के पूर्वोत्तर राज्यों में निवेश करने को लेकर इच्छुक रहा है। इसी को लेकर पिछले साल असम के गुवाहाटी में भारत के पीएम मोदी और जापान के पीएम शिंजो आबे के बीच एक मुलाकात भी होनी थी, लेकिन सीएए विरोधी प्रदर्शनों की वजह से वह मुलाकात तब टल गई थी।

इसी कारण से असम जापानी कंपनियों पर विशेष तौर पर फोकस कर रहा है क्योंकि जापान को असम में निवेश करने का पहले अनुभव रहा है। ऐसे में असम की सरकार को इन कंपनी को लुभाने के लिए अधिक प्रयास भी नहीं करने पड़ेंगे।

ये भी पढ़े :  ब्रेकिंग:-कुशीनगर के लोकप्रिय पूर्व विधायक सुरेंद्र शुक्ला का निधन, शोक में क्षेत्रवासी

असम सरकार पहले ही पूर्वोत्तर राज्यों में देश का सबसे ज्यादा औद्योगिक राज्य है। यहां पर एक तरफ ब्रह्मपुत्र नदी है, तो दूसरी तरफ उपजाऊ जमीन। यहां पर प्राकृतिक संसाधनों की कोई कमी नहीं है, इसके साथ ही यहां पर सस्ती दरों पर मजदूर भी उपलब्ध हैं। ऐसे में कोई भी कंपनी इस राज्य में अपने उद्योग स्थापित करने से पीछे क्यों हटना चाहेगी?

राज्य में उद्योग क्षेत्र कुल जीडीपी का 39% योगदान देता है। इसके साथ ही इस क्षेत्र में लगभग 4 लाख लोग काम करते हैं और अप्रत्यक्ष तौर पर भी यह क्षेत्र लगभग 20 लाख लोगों को रोजगार प्रदान करता है।

ये भी पढ़े :  31 तक औराई में निःशुल्क परीक्षण

जब से केंद्र में मोदी सरकार आई है तब से इस सरकार ने पूर्वोत्तर के राज्यों में इंफ्रास्ट्रक्चर और सड़कों के निर्माण पर अधिक ध्यान दिया है। आज यही कारण है कि असम सरकार भी अपने आप को इन कंपनियों को लुभाने की रेस में सबसे आगे पा रही है।

सोचिए अगर केंद्र सरकार ने इन राज्यों में आज भी इंफ्रास्ट्रक्चर को विकसित नहीं किया होता, तो आज कंपनियां असम में जाने का कभी नहीं सोचती। जैसा हमने आपको बताया कि देश के उत्तर प्रदेश और हरियाणा जैसे राज्य पहले ही इन कंपनी को लुभाने के लिए कड़ा प्रयास कर रहे हैं, अब अगर असम भी इस रेस में जुड़ जाता है तो ना सिर्फ यह कंपटीशन और कड़ा होगा बल्कि अधिक से अधिक कंपनियां देश में आएंगी इससे भारत का आर्थिक विकास और अधिक तेजी से होगा।

यह लेख ‘चीन से भाग रही कंपनियों को हम भी लपकेंगे’, असम को भारत का अगला Business Hub बनाने में जुटी असम सरकार सर्वप्रथम TFIPOST पर प्रकाशित हुआ है

शेष TFI पर पढ़े …

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...

ब्लॉक प्रमुख बड़हलगंज आशीष राय के जीत की गूंज सात समंदर पार भी…

बड़हलगंज से आशीष राय के विजयी घोषित होने पर विदेशों में भी बंटी मिठाइयां गोरखपुर। शनिवार को तीन ब्लॉक...

भाजपा ने ब्लॉक प्रमुख के लिए विधायक विपिन सिंह की पत्नी नीता सिंह,विधायक संत प्रसाद की बहू पर खेला दाँव, देखें गोरखपुर की सूची…

जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव संपन्न होने के उपरांत त्रिस्तरीय पंचायत को और सुदृढ़ बनाने के लिए भारतीय जनता पार्टी के द्वारा...
%d bloggers like this: