Saturday, July 24, 2021

चोली-लहंगा, चाची-भाभी- भोजपुरी के होली गानों ने औरतों के खिलाफ जंग छेड़ रखी है

पुलिस अधीक्षक द्वारा की गयी मासिक अपराध गोष्ठी में अपराधों की समीक्षा व रोकथाम हेतु दिये गये आवश्यक दिशा-निर्देश

Maharajganj: पुलिस अधीक्षक महराजगंज प्रदीप गुप्ता द्वारा आज दिनांक 17.07.2021 को पुलिस लाइन्स स्थित सभागार में मासिक अपराध गोष्ठी में कानून-व्यवस्था की...

शायर मुनव्वर राना के बोल, ‘दोबारा सीएम बने योगी तो यूपी छोड़ दूंगा’

लखनऊ: मशहूर शायर मुनव्वर राना एक बार फिर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं।उन्होंने कहा कि अगर योगी आदित्यनाथ दोबारा...

Maharajganj: CO सुनील दत्त दूबे द्वारा कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस महानिदेशक जोन गोरखपुर ने प्रशस्ति पत्र से नवाजा।

Maharajganj/Farenda: सीओ फरेन्दा सुनील दत्त दूबे को थाना पुरन्दरपुर में नवीन बीट प्रणाली के क्रियान्वयन में कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस...

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...

महराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतर्गत SBI कृषि विकास शाखा के सामने से मोटरसाइकिल चोरी

Maharajganj: महाराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतगर्त मंगलवार को बृजमनगंज रोड पर भारतीय स्टेट बैंक कृषि विकास शाखा के ठीक...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

भोजपुरी म्यूजिक इंडस्ट्री के पास देश के हर  मुद्दे पर कोई ना कोई होली का गाना है. फिर चाहे वो अनुच्छेद-370 रहा हो या सीएए-एनआरसी या फिर कोरोनावायरस. पर ये सारे गाने एक ही जगह रुकते हैं- औरतों पर.

चोली-लहंगा, भाभी, मौसी, चाची, मामी, साली इन सबसे ये गाने आगे बढ़ ही नहीं पाते. इस इंडस्ट्री में बुलेट ट्रेन की स्पीड से भी तेजी से गाने रिलीज़ किए जाते हैं. आज होली है और यूट्यूब पर ऐसे भोजपुरी होली गानों की बाढ़ सी आ गई है. पर ये गाने सुनकर लगेगा कि औरतों के खिलाफ जंग का ऐलान हो गया है. उन औरतों के खिलाफ जो घरों में सुरक्षित रहती है. आखिर भाभी, मौसी, चाची, मामी, साली से ज्यादा सुरक्षित कौन होगा? पर गाने सुनें तो आपको लगेगा कि आज के दिन ये औरतें सबसे ज्यादा असुरक्षित हैं. अगर ये गाने वाकई हमारी संस्कृति को प्रदर्शित करते हैं तो फिर डरने की बहुत जरूरत है.

एक बार इन गानों के टाइटल्स पर नजर दौड़ाते हैं. शुरुआत में ये ‘निस्पृह’ लगेंगे पर जैसे-जैसे आप आगे बढ़ेंगे ये आश्चर्यचकित करते जाएंगे- खेसारी लाल यादव और अंतरा सिन्हा का गाया ‘दोसरा का माल बानी हो गाना’, निरहुआ का ‘रंग डलबा त देहब हजार गाली’, खेसारी लाल का ‘लहंगा लखनऊआ’, ‘छोटू की पिचकारी’, ‘भईया रंगले नया साड़ी’, ‘कमरिया हिला रही है’, ‘भतीजवा के मौसी जिंदाबाद’, गुड्डू रंगीला का लहंगा में कोरोनावायरस, लहंगा में एनआरसी नहीं होने दूंगा, खेसारी लाल का ‘डालता रंग देवरा लहंगा में’, लगा के करुआ तेल अइलु. आप और सर्च करें तो ऐसा लगेगा जैस डार्क वेब में किसी अश्लीलता के महाकुंभ में आ गए हों.

ये भी पढ़े :  हमने अपने नाम के आगे 'चौकीदार' लिखा, जिन्हें तकलीफ हो रही वो 'पप्पू' लिख लें: अनिल विज
ये भी पढ़े :  हमने अपने नाम के आगे 'चौकीदार' लिखा, जिन्हें तकलीफ हो रही वो 'पप्पू' लिख लें: अनिल विज

द्विअर्थी और बलात्कारी मानसिकता वाले इन गानों को देखने वाले सैंकड़ों में नहीं बल्कि करोड़ों में हैं. खेसारी लाल यादव के एक गाने पर दस करोड़ व्यूज हैं. कोई भी गाना ऐसा नहीं है जिस पर लाइक्स, व्यूज और कमेंट्स की भरमार ना हो. इन गानों के कमेंट सेक्शन भी उसी मानसिकता से भरे हुए हैं जिस मानसिकता से इन्हें गाया गया है. बल्कि यूं कहें कि कमेंट्स में कुत्सित चीजें ज्यादा मुखर होकर लिखी गई हैं.

समाजशास्त्र में एक जोकिंग और अवायडेंस रिलेशनशिप की चर्चा होती है. माना जाता है कि समाज में शादी होने के बाद औरतों के लिए देवर, ननद जैसे जोकिंग रिलेशनशिप बनाये गये जो उन्हें नॉर्मल महसूस कराते थे. अवायडेंस रिलेशनशिप वैसे थे जो ससुर, जेठ जैसे लोगों से बनाये गये जिनसे बात करने में वो असहज महसूस करती हैं. पर भोजपुरी गानों में हर रिलेशनशिप मॉकरी का है. ससुर, जेठ, देवर, जीजा और वो तमाम पुरुष जो किसी ना किसी रिश्ते से औरतों से जुड़े हैं, होली के गानों में शोषण करते नजर आते हैं.

ऐसा नहीं है कि ये गाने सिर्फ प्राइवेट में सुने जा रहे हैं. होली के अवसर पर ये सारे गाने पब्लिक में डीजे पर बजाए जा रहे हैं. लोग प्राइवेट में सुनते हुए चाहे इन गानों की अश्लीलता पर चार आंसू बहा लें, होली के मौके पर इन गानों से ऐतराज नहीं है. संस्कृति की लहर में ये सब पास हो जाता है. हर साल होली स्पेशल गानों के एल्बम रिलीज़ करने वाले होली सम्राट गुड्डू रंगीला के गाने ना सिर्फ यूट्यूब पर हिट हो रहे हैं बल्कि भोजपुरी बेल्ट में डीजे पर बज भी रहे हैं. गुड्डू रंगीला के गाने इस क्षेत्र में एक अलग प्रतिमान कायम कर चुके हैं.

ये भी पढ़े :  बड़ी खबर:- इस बार करीब पांच लाख करोड़ का होगा प्रदेश का बजट, नई योजनाओं पर सरकार में चल रहा है मंथन....

भोजपुरी के ये गायक लगभग हर साधारण शब्द को सेक्सुयलाइज कर चुके हैं. लोकसंस्कृति के नाम पर बेचे जा रहे उनके गानों में ‘हऊ’ और ‘कटोरा’ जैसे शब्द भी द्विअर्थी बना दिए गए हैं. रंग, डालना, निकालना, दिखाना, पिचकारी जैसे सामान्य शब्द भी भोजपुरी गानों के माध्यम से एक अलग अर्थ प्राप्त कर चुके हैं. भोजपुरी भाषा के पतन में इन गायकों का योगदान कभी ना भुला देने वाला रहेगा. ये गौरतलब है कि गाने लिखनेवालों को लोग उतना नहीं जानते, जितना गानेवालों को. लगभग सारे गायक अपने वीडियोज में खुद ही एक्ट करते हैं और इस नाते लोग उन्हीं के माध्यम से इन गानों को पहचानते हैं.

ये भी पढ़े :  योगी सरकार की कैबिनेट में इन 24 फैसलों पर लगी मुहर....

सोशल मीडिया और यूट्‍यूब चैनलों के माध्यम से इनका सिर्फ प्रसार ही हो रहा है. जैसे जैसे पैसे मिलते जा रहे हैं, अब ये गाने आलोचना के पात्र ना होकर, सफलता की कुंजी बन गये हैं.

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

शायर मुनव्वर राना के बोल, ‘दोबारा सीएम बने योगी तो यूपी छोड़ दूंगा’

लखनऊ: मशहूर शायर मुनव्वर राना एक बार फिर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं।उन्होंने कहा कि अगर योगी आदित्यनाथ दोबारा...

ब्लाक प्रमुख चुनाव परिणाम: भाजपा के परिवारवाद का डंका, इन मंत्रियों और विधायकों के बहू-बेटे निर्विरोध जीते

लखनऊ: देश की राजनीति में परिवारवाद की जड़ें काफी गहरी हैं। कश्मीर से कन्याकुमारी तक वंशवाद और परिवारवाद की जड़ें और भी...

शिवपाल यादव ने दी भतीजे अखिलेश यादव को नसीहत, बोले- प्रदर्शन नहीं, जेपी-अन्ना की तरह करें आंदोलन

Lucknow: लखीमपुर में महिला प्रत्याशी से अभद्रता की कटु निंदा करते हुए प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने...
%d bloggers like this: