Tuesday, August 3, 2021

जब ऋषि कपूर ने पूनम ढिल्लन से कहा था – मैं बनावटी नहीं हूं, बहुत ऑनेस्ट हूं

गोरखपुर के नवोदित कलाकारो से सजी फ़िल्म ‘ऑक्सीजन ‘के अभिनव प्रयास की खूब हो रही चर्चा

नवोदित कलाकारों को लेकर डॉ. सौरभ पाण्डेय की फ़िल्म 'ऑक्सीजन 'के अभिनव प्रयास ने रचा इतिहास

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण।

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण। ...

Maharajganj: प्राथमिक विद्यालय हो रहे मरम्मत कार्य में घटिया तरीके का किया जा रहा है प्रयोग

Maharajganj/Dhani: प्राथमिक विद्यालय हो रहें मरम्मत कार्य में अत्यन्त घटिया किस्म के मसाले व देशी बालू का अधिकता और सिमेन्ट नाम मात्र...

Maharajganj: नालियों के टूट जाने और समय से सफाई न होने से लोग हो रहे परेशान, जांच कर सम्बन्धित कर्मचारियों पर होगी कार्रवाई –...

महाराजगंज/धानी: महाराजगंज जनपद के धानी ब्लाक के अधिकारी भूल चूके हैं अपनी जिम्मेदारी। ग्राम सभा पुरंदरपुर के टोला केवटलिया में नाली टूट...

Maharajganj: दबंग पंचायत मित्र द्वारा किया जा रहा है अवैध नाली का निर्माण।

महराजगंज- फरेंदा ब्लॉक के अंतर्गत ग्राम सभा पिपरा तहसीलदार में पंचायत मित्र द्वारा अपने व्यक्तिगत नाली का निर्माण ग्राम सभा के मुख्य...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

ऋषि कपूर क्या गये उनकी यादों का पिटारा ही खुल गया, ऐसा पिटारा जो खत्म ही नहीं हो रहा है। सबके पास बताने के लिये कुछ न कुछ किस्से हें। बेहद नायाब और सुनने लायक। किस्से सुनने के बाद मन में ऋषि कपूर के लिये सम्मान बढ़ जाता है। ऐसे ही कुछ किस्सों का पिटारा बॉलीवुड की बेहतरीन अदाकारा पूनम ढिल्लन के पास भी है। पूनम ढिल्लन ने ऋषि कपूर के साथ ‘ये वादा रहा’, ‘सितमगर’ और ‘एक चादर मैली सी’ जैसी कई बेहतरीन फिल्मों में काम किया।प्रोफेशनल रिलेशनशिप के अलावा भी पूनम और ऋषि अच्छे दोस्त थे।

पूनम बताती हैं – सुबह उठते ही जब ऋषि जी के जाने की खबर सुनी तो समझ ही नहीं आया क्या रियेक्ट करूं? किसी से क्या कहूं? शायद शॉक शब्द से ज्यादा महसूस कर रही थी। उनके साथ 8 से 9 फिल्में की और ना जाने हमारी कितनी यादें हैं। वो मेरे पसंदीदा एक्टर थे, मेरे फेवरेट को-स्टार थे, मैं उनकी बहुत बड़ी फैन थी। जिन्हे मैं एक्टिंग में अपना आइकन मानती थी वो हमसे दूर चले गए, इससे बड़ी दुःख की बात क्या हो सकती हैं? मुझे एक्टिंग बिलकुल नहीं आती थी, शूटिंग के दौरान ऋषिजी मेरी मदद करते थे। मैंने उनसे एक्टिंग सीखी थी। बहुत तकलीफ हो रही है ये सोचकर कि मैं अपने फेवरेट व्यक्ति को आखरी बार देख भी नहीं पाई। लॉकडाउन की वजह से एक आखरी गुडबाय कहने का मौका भी नहीं मिला, दिल बहुत भारी है।

ये भी पढ़े :  अबराम खान ने दिया सुहाना को अपने हाथों से बना क्यूट बर्थडे कार्ड, लिखा- ‘तुम दुनिया की सबसे अच्छी बहन हो’
ये भी पढ़े :  पहली बार पूर्वांचल फिल्म प्रोड्क्सन प्रस्तुत कर रही हैं "पूर्वांचल सिनेमा & आर्टिस्ट अवार्ड शो 2020",अगर आप मे है टैलेंट तो आपके लिए सुनहरा अवसर....

वे बताती हैं – ऋषि जी अपने दिल में कोई बात दबा के नहीं रखते थे। उनके दिल में जो रहता वो उनके ज़ुबान तक आ ही जाता था। मैंने उनके साथ बहुत काम किया है। मैं जानती हूं कि वे दिखावा कभी नहीं करते थे। इस उम्र में भी उनका इतना सोशली एक्टिव रहना काफी अच्छा लगता था। मैं कई बार उनसे कहा करती थी – क्या-क्या लिखते है आप अपने ट्विटर अकाउंट पर? कुछ भी लिख देते हो। इस पर उनका बस एक ही जवाब आता था – मैं ऑनेस्ट हूं और मुझे अपना ऑनेस्ट ओपिनियन लोगों के सामने रखना अच्छा लगता हैं। ऋषि जी पहले से बनावटी नहीं थे, उनके जहन में जो बात आती थी वो कह देते थे। इंडस्ट्री में उनकी इस नेचर की लोग काफी सराहना करते हैं। अपने यंगर डेज से वे बेबाक रहे हैं और जैसे जैसे बूढ़े होते गए उन्हें और आजादी मिल गई। जब सोशल मीडिया नहीं हुआ करता था तब उनके आसपास वाले ही उनका ओपिनियन सुन पाते थे लेकिन अब सोशल मीडिया की वजह से उनका सरकास्टिक टोन और सेंस ऑफ ह्यूमर सभी तक पहुंच जाते थे। उन्होंने कहा – कुछ महीने पहले मुंबई के सेंत रेगिस होटल में हम एक कॉमन फ्रेंड की पार्टी में मिले थे। हमेशा की तरह खुश मिजाज थे, वैसे भी आप उनसे जब भी मिलेंगे वे खुश मिजाज ही नजर आते।

ये भी पढ़े :  धर्म से मुस्लिम इन दो कलाकारों ने अमर कर दिया रामायण-महाभारत में अपना किरदार....

मैं उनसे जब भी मिलती हूं उनके साथ एक तस्वीर जरूर लेती और मैंने अपनी आखिरी तस्वीर उनके साथ उसी पार्टी में ली थी। मैं अक्सर अपनी ली हुई पिक्चर उन्हें भेजा भी करती थी जिसे देखकर वे भी बहुत खुश होते थे। उन्हें ज्यादा तस्वीर लेने का शौक नहीं लेकिन जब देखते तो काफी खुश होते थे। कई बार तो मज़ाक भी करते थे मुझसे कि मैं उनकी कितनी फोटोज लेती हूं। उन्हें डांटने की आदत भी थी लेकिन जिस अंदाज़ से वो डांटते थे उससे किसी को तकलीफ नहीं होती थी। एक अलग ही सेंस ऑफ ह्यूमर होता था।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

परमिशन लेटर फाड़कर फेंका-पंडित को मारा थप्पड़, DM ने यूं रोकी कर्फ्यू में हो रही शादी

अगरतला के एक मैरि‍ज हॉल में शादी की अच्छी-भली पार्टी चल रही थी. इसी बीच सिंघम की तरह पहुंच गए डीएम शैलेश...

अभिनेता अक्षय कुमार हुए कोरोना पॉजिटिव,खुद घर पर हुए क्वरन्टीन….

फिल्म अभिनेता अक्षय कुमार कोरोना संक्रमित पाए गए।।उन्होंने अपना टेस्ट करवाया जिसमे व्व पॉजिटिव पाए गए।।जिसके बाद उन्होंने खुद को घर मे...

सुपर स्टार रजनीकांत को मिलेगा दादा साहेब फाल्के पुरस्कार….

इस बार फ़िल्म जगत का सर्वश्रेष्ठ पुरस्कार सुपरस्टार रजनीकांत को दिया जाएगा।।इसकी...
%d bloggers like this: