Monday, April 22, 2019
Gorakhpur

जून तक पूरा होगा असुरन-मेडिकल फोरलेन का निर्माण….

असुरन-मेडिकल कॉलेज होते हुए भटहट तक निर्माणाधीन फोरलेन के पूरा होने का टॉरगेट अब जून महीने तक बढ़ गया है। जिससे ठेकेदार भी असुरन से मेडिकल कॉलेज तक निर्माण कार्य को लेकर सुस्त हो गया है। दुकानों और आवासों के सामने नाला खुदाई से लोगों की दुश्वरियां बढ़ गई है। हाल-फिलहाल राहत मिलता नहीं देख लोगों में आक्रोश है।

असुरन से भटहट तक फोरलेन निर्माण को मार्च महीने तक पूरा करने का दावा था। कार्य समय से पूरा होता देख मुख्यालय ने टॉरगेट को जून महीने तक बढ़ा दिया है। ऐसे में ठेकेदार ने गुलरिहा के आगे निर्माण पर जोर दे रहा है। असुरन-मेडिकल कॉलेज फोरलेन पर 400 से अधिक दुकानों और मकानों को तोड़ा गया है। निर्माण कार्य में सुस्ती में स्थानीय लोगों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। असुरन से मेडिकल कॉलेज गेट होते हुए गुलरिहा थाने के दोनों तरफ की कालोनियों का पानी फोरलेन के दोनों तरफ बन रहे नाले से होकर गोडधोईया नाले में गिरना है।

फोरलेन के नाले में नकहा, राप्तीनगर, रेल विहार, हड़हवा फाटक समेत दो दर्जन कालोनियों का पानी गिरेगा। ऐसे में नाला निर्माण हो रहा है। लोगों के दुकानों और मकानों के सामने नाला निर्माण को लेकर खुदाई हो गई है लेकिन काम ठप पड़ा हुआ है। स्थानीय निवासी रणधीर सिंह का कहना है कि असुरन से मेडिकल तक दर्जनों लोगों की रोजीरोटी का साधन दुकानें ही है। लंबे समय से दुकानदारी प्रभावित होने से लोगों के समक्ष आर्थिक संकट पैदा हो रहा है। जल्द निर्माण नहीं हुआ तो लोग सड़क पर आ जाएंगे। इतना ही नहीं सुस्त निर्माण के चलते खजांची से मेडिकल तक लोंगों को जाम से जूझना पड़ रहा है।

बता दें कि असुरन से एचएन सिंह तक 26 मीटर चौड़ी फोरलेन बननी है। वहीं एचएन सिंह से खजांची चौराहा होते हुए मेडिकल कॉलेज तक 30 मीटर चौड़ाई में फोरलेन का निर्माण होना है। विभागीय अधिकारियों के मुताबिक एक तरफ फोरलेन की चौड़ाई 7 मीटर होगी। एक मीटर चौड़ाई में डिवाइडर तो डेढ़ मीटर चौड़ाई में नाला निर्माण होना है। सड़क के दोनों तरफ तीन-तीन मीटर चौड़ी सर्विस लेन का निर्माण होना प्रस्तावित है।

असुरन से भटहट तक फोरलेन का निर्माण का टॉरगेट रिवाइज कर जून तक बढ़ा दिया गया है। असुरन से मेडिकल कॉलेज तक नाला निर्माण में दिक्कत हो रही है। जमीन की खुदाई के बाद कूड़ा ही निकल रहा है। जिसके बाद नये सिरे से मिट्टी डालनी पड़ रही है। ऐसे में निर्माण कार्य में देरी हो रही है। असुरन से मेडिकल कॉलेज तक फोरलेन का निर्माण तेजी से कराया जाएगा।

राजेश सिंह, सहायक अभियंता, पीडब्ल्यूडी

Advertisements
%d bloggers like this: