Wednesday, March 3, 2021

ट्रैक्टर मार्च: किसानों की तरफ से पेश किए गए शख्स का दावा- चार किसान नेताओं को गोली मारने की रची गई थी साजिश

BJP ने तैयार किया किसान आंदोलन का काउंटर, चौपालों तक पहुंचने का बनाया मास्टर प्लान, यूपी पंचायत चुनाव पर रहेगी नजर।

उत्तर प्रदेश में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत में सफलता हासिल करने के लिए बीजेपी ने मास्टर प्लान तैयार किया है. किसान आंदोलन...

यूपी में बेरोजगारो को सरकारी नौकरियां देने के लिए सीएम योगी का नया प्लान।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में अब आउटसोर्सिंग और संविदा पर सारी भर्तियां सेवायोजन पोर्टल (Sevayojan Portal) के जरिए की जाएंगी. आउटसोर्सिंग...

सर्वोदय महाविद्यालय कौड़ीराम में छात्रों को दी गई राष्ट्र सेवा की शिक्षा

लक्ष्य के प्रति केंद्रित रहते हुए करें सम्पूर्ण चुनौतियों का सामना- सत्य चरण लक्क़ी स.कि.पी.जी.कालेज में रासेयो शिविर का...

पत्नी पंखुड़ी पाठक पर विवादित टिप्पणी से आहत पूर्व सपा प्रवक्ता अनिल यादव ने छोड़ी समाजवादी पार्टी

कांग्रेस नेता पंखुड़ी पाठक के पति व समाजवादी पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय प्रवक्ता अनिल यादव ने शनिवार को इस्तीफा दे दिया है....

Assembly Elections 2021: पश्चिम बंगाल समेत इन पांच राज्यों की चुनावी तारीखों का ऐलान हुआ, 2 मई को आएंगे नतीजे।

Elections 2021: निर्वाचन आयोग ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, असम, केरल और पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

आज सिंघु बार्डर पर किसान यूनियन की तरफ से एक शख्स को पेश किया गया, जिसनें दावा किया कि 26 जनवरी को किसानों के ट्रेक्टर मार्च के दौरान हिंसा और चार नेताओं को गोली मारने की साजिश रची गई थी.राजधानी दिल्ली की सीमाओं पर केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों को विरोध में किसानों के अंदोलन का आज 59वां दिन है. किसान पहले ही 26 जनवरी यानी गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्ली में ट्रैक्टर मार्च का एलान कर चुके हैं. अब किसानों की ओर से इस ट्रैक्टर मार्च में बाधा डालने का दावा किया गया है. बड़ी बात यह है कि किसान यूनियन ने दावा किया है कि ट्रैक्टर मार्च के दौरान चार किसान नेताओं को गोली मारने की साजिश भी रची गई.

किसानों की तरफ से पेश किए गए शख्स ने क्या दावा किया है? आज सिंघु बार्डर पर किसान यूनियन की तरफ से एक शख्स को पेश किया गया, जिसनें दावा किया कि 26 जनवरी को किसानों के ट्रैक्टर मार्च के दौरान हिंसा और चार नेताओं को गोली मारने की साजिश रची गई थी. शख्स ने बताया, ”हमारा प्लान यह था कि जैसे ही किसान ट्रैक्टर मार्च को लेकर दिल्ली के अंदर घुसने की कोशिश करेंगे तो दिल्ली पुलिस इन्हें रोकगी. इसके बाद हम पीछे से फायरिंग करेंगे ताकि पुलिस को लगे की गोली किसानों की तरफ से चलाई गई है.” शख्स ने आगे कहा, ”रैली के दौरान कुछ लोग पुलिस की वर्दी में भी होंगे ताकि किसानों को तितर बितर किया जा सके.”

ये भी पढ़े :  CAA प्रदर्शन: शाहीन बाग में फायरिंग करने वाला कपिल BJP में शामिल
ये भी पढ़े :  लखनऊ: इलाके सील होने की सूचना पर बाजारों में उमड़ी भीड़, सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ीं

शख्स ने प्रदीप नाम के एक एसएचओ का नाम भी लिया शख्स ने यह भी बताया कि मार्च के दौरान स्टेज पर मौजूद चार किसान नेताओं को शूट करने का आर्डर है. इन नेताओं की फोटो भी दे दी गई है.” बड़ी बात यह है कि शख्स ने प्रदीप नाम के एक एसएचओ का नाम भी लिया है, जो राई थाने का है और इनके पास अपना चेहरा कवर करके आता था. शख्स ने बताया कि हम लोगों ने उसका बैज देखा था. शख्स ने बताया कि जिन चार नेताओं को शूट करने का आदेश था, उनका नाम मुझे नहीं पता है.”किसानों ने इस शक्स को अब दिल्ली पुलिस के हवाले कर दिया है.

दिल्ली के आउटर रिंग रोड पर ही होगा ट्रैक्टर मार्च- किसान बता दें कि ट्रैक्टर मार्च निकालने को लेकर किसानों और पुलिस के बीच गतिरोध बना हुआ है. किसानों की तरफ से ट्रैक्टर मार्च पर हुई दिल्ली पुलिस के साथ बातचीत को लेकर एक बयान जारी किया गया है, जिसमें कहा गया है, “पुलिस अधिकारियों के साथ हुई बैठक में पुलिस की तरफ से एक रोडमैप किसान नेताओं के सामने रखा गया है, जिसपर हम विचार करेंगे और रविवार को जवाब देंगे.’’
दरअसल दिल्ली पुलिस की तरफ से किसानों को दिल्ली के बाहर रैली करने का प्रस्ताव रखा गया है, लेकिन किसान संगठनों द्वारा साफ किया गया है कि ये ट्रैक्टर मार्च दिल्ली के आउटर रिंग रोड पर ही होगा. ट्रैक्टर मार्च को लेकर देशभर से लाखों किसानों ने आना शुरू कर दिया है.

ये भी पढ़े :  यूपी में सबसे खूबसूरत फिल्म सिटी बनाने की घोषणा, सीएम की हों रहीं हैं तारीफ...

कानूनों को रद्द करने की मांग पर अड़े हैं किसान
वहीं, दूसरी ओर सरकार ने 18 महीनों तक इन कानूनों पर रोक लगाने के प्रस्ताव किसानों के सामने रखा है, जिसपर सरकार आज बैठक में अडिग रही, वहीं किसान कानूनों को रद्द करने की मांग पर अड़े रहे.

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

BJP ने तैयार किया किसान आंदोलन का काउंटर, चौपालों तक पहुंचने का बनाया मास्टर प्लान, यूपी पंचायत चुनाव पर रहेगी नजर।

उत्तर प्रदेश में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत में सफलता हासिल करने के लिए बीजेपी ने मास्टर प्लान तैयार किया है. किसान आंदोलन...

यूपी में बेरोजगारो को सरकारी नौकरियां देने के लिए सीएम योगी का नया प्लान।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में अब आउटसोर्सिंग और संविदा पर सारी भर्तियां सेवायोजन पोर्टल (Sevayojan Portal) के जरिए की जाएंगी. आउटसोर्सिंग...

पत्नी पंखुड़ी पाठक पर विवादित टिप्पणी से आहत पूर्व सपा प्रवक्ता अनिल यादव ने छोड़ी समाजवादी पार्टी

कांग्रेस नेता पंखुड़ी पाठक के पति व समाजवादी पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय प्रवक्ता अनिल यादव ने शनिवार को इस्तीफा दे दिया है....
%d bloggers like this: