Friday, August 6, 2021

ठंडी हवा से हो रहा कान में संक्रमण,रहे बच के..

शहीद के बेटे नीतीश 15 अगस्त को यूरोप महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी माउंट एलब्रुस पर फहराएंगे तिरंगा, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सौपा...

Gorakhpur: गोरखपुर के राजेन्द्र नगर के रहने वाले युवा पर्वतारोही नीतीश सिंह 15 अगस्त को यूरोप महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी माउंट...

Maharajganj: सपा नेता राम प्रकश सिंह के नेतृत्व में निकाली गई साईकिल रैली

Maharajganj: समाजवादी पार्टी महाराजगंज के कार्यकर्ताओं ने स्वर्गीय जनेश्वर मिस्र के जयंती के शुभ अवसर पर समाजवादी साईकिल यात्रा का आयोजन फरेंदा...

Maharajganj: पत्रकारों के ऊपर हमले और मुकदमे की धमकियां बढ़ गई हैं, इसी तरह का घटना गोरखपुर टाइम्स के एक पत्रकार के साथ हों...

Maharajganj/Dhani: प्राथमिक विद्यालय कमनाहा (पुरंदरपुर) विकास खण्ड धानी, जनपद महाराजगंज में ऑपरेशन कायाकल्प योजना से हो रहे मरम्मत कार्य को घटिया तरीके...

गोरखपुर के नवोदित कलाकारो से सजी फ़िल्म ‘ऑक्सीजन ‘के अभिनव प्रयास की खूब हो रही चर्चा

नवोदित कलाकारों को लेकर डॉ. सौरभ पाण्डेय की फ़िल्म 'ऑक्सीजन 'के अभिनव प्रयास ने रचा इतिहास

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण।

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण। ...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

सर्दी के मौसम में बर्फीली हवाएं चलती है। तापमान गिरने के कारण सर्दी जुकाम भी हो जाता है। इससे कान में संक्रमण होने का खतरा बढ़ जाता है। ठंड में कान के मरीजों संख्या बढ़ी है। सबसे ज्यादा मरीज कान के संक्रमण के आ रहे हैं। इनमें करीब 60 फीसदी बच्चे हैं।

जिला अस्पताल के ईएनटी विशेषज्ञ डॉ. पीएन सिंह ने बताया कि ठंड के मौसम में सर्दी-जुकाम होना आम बात है। जुकाम में मरीजों की नाक बहती है। इसके कारण नाक से कान के बीच स्थित यूस्टेकियन ट्यूब में नाक से पानी चला जाता है। इस पानी के कारण मध्य कान(मिडिल ईयर) में संक्रमण हो जाता है। कई बार कफ के कारण ट्यूब ब्लॉक हो जाता है। इससे कान का संक्रमण होने के साथ ही सुनने की क्षमता भी मरीज की कम हो जाती है।

कान में हो दर्द तो हो जाएं सतर्क

कानों में संक्रमण के चलते दर्द का उभरना सबसे पहला लक्षण होता है। इसके अलावा कान में भारीपन महसूस होना, मवाद होना, बुखार, कानों का बहना, सोने में परेशानी आना, सिरदर्द, भूख न लगना, कानों में घंटी की आवाज सुनाई देना, चक्कर आना, उल्टी होना, सुनने क्षमता का कमजोर होना जैसे लक्षण सामने आ सकते हैं। संक्रमण के बढ़ने से सांस लेने में भी तकलीफ हो सकती है।

ये भी पढ़े :  अपात्रां को मिला पीएम आवास योजना का लाभ
ये भी पढ़े :  आतंकी हमले में देवरिया का लाल विजय मौर्या लापता....

लुढ़कते पारे में बढ़ गए गले के संक्रमण के मरीज

बीते पांच दिनों से मौसम में लगातार परिवर्तन हो रहा है। दिन व रात के तापमान में करीब 13 डिग्री सेल्सियस का अंतर हो गया। डॉक्टरों के मुताबिक ब्रोंकाइटिस और फेरेन्जाइटिस के मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है। इस अंतर में संक्रमण फैलाने वाले वायरस और बैक्टीरिया को सक्रिय कर दिया है। लोगों में सबसे ज्यादा गले व सांस की नली का संक्रमण हो रहा है। बच्चे से लेकर बुजुर्ग तक इस बीमारी के शिकार हो रहे हैं। मेडिसिन और टीबी-चेस्ट विभाग में आने वाले 20 फीसदी मरीज गले के संक्रमण के शिकार है।

सांस लेने में हो रही तकलीफ

बीआरडी के टीबी-चेस्ट के विभागाध्यक्ष डॉ. अश्वनी मिश्रा ने बताया कि गले के संक्रमण से सांस लेने में दिक्कत हो रही है। लोगों को सांस फूलने की भी शिकायत है। इसमें मरीजों को सर्दी, जुकाम, बुखार, गले में खराश, कमजोरी और बेचैनी की शिकायत होती है।

संक्रमण से बचने के लिए इन बातों का रखें ख्याल

– साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखें

ये भी पढ़े :  जानिए आज कैसा होगा आप का दिन.....

– सार्वजनिक जगहों से आने के बाद साबुन से हाथ धोएं

– सर्दी-खांसी से पीड़ित के ज्यादा नजदीक ना जाएं

– सार्वजनिक स्थानों पर मुंह को रूमाल से ढक लें

– संक्रमित व्यक्ति के जूठे बर्तन का उपयोग ना करें

– दिन में कम से कम दो बार मुंह और जीभ को साफ करें

– दिन में एक बार माउथ वॉश का प्रयोग करें

गले में संक्रमण से इलाज के घरेलू उपाय

– दूध में चीनी के बजाय चम्मच शहद मिलाकर पी लें

– एक गिलास दूध में चुटकी भर हल्दी डाल कर उबाल लें फिर इसे खाली पेट एक चम्मच देशी घी के साथ पी लें

ये भी पढ़े :  अपात्रां को मिला पीएम आवास योजना का लाभ

– सौंठ और दालचीनी को सामान मात्रा में पीसकर बने चूरे का एक चम्मच आधे ग्लास पानी में मिलाकर उबालें, इसे गर्म ही पी लें

– सौंठ और हरड़ के चूरे का आधा चम्मच को दो चम्मच शहद के साथ मिलाकर सेवन करें

– लहसुन की तीन कलियों को दूध में उबालें और रात को सोने से पहले पी लें

– दो चम्मच अदरक का रस और दो चम्मच शहर को मिलाकर सेवन करें

गर्म पानी, चाय या गर्म काफी का सेवन करें

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

शहीद के बेटे नीतीश 15 अगस्त को यूरोप महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी माउंट एलब्रुस पर फहराएंगे तिरंगा, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सौपा...

Gorakhpur: गोरखपुर के राजेन्द्र नगर के रहने वाले युवा पर्वतारोही नीतीश सिंह 15 अगस्त को यूरोप महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी माउंट...

गोरखपुर के नवोदित कलाकारो से सजी फ़िल्म ‘ऑक्सीजन ‘के अभिनव प्रयास की खूब हो रही चर्चा

नवोदित कलाकारों को लेकर डॉ. सौरभ पाण्डेय की फ़िल्म 'ऑक्सीजन 'के अभिनव प्रयास ने रचा इतिहास

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण।

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण। ...
%d bloggers like this: