Sunday, June 16, 2019
Purvanchal

तेज बहादुर का विवादित वीडियो वायरल, 50 करोड़ में PM मोदी को मारने की साजिश


लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) के पांचवें चरण का मतदान सोमवार देर शाम समाप्त हो गया. इन सबके बीच सोशल मीडिया पर बीएसएफ से बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव का एक वीडियो जमकर वायरल हो रहा है. दरअसल, इस वीडियो में वाराणसी से समाजवादी पार्टी के पूर्व प्रत्याशी तेज बहादुर यादव कहते नजर आ रहे हैं कि अगर मुझे कोई 50 करोड़ रुपये दे तो, मैं पीएम नरेंद्र मोदी की हत्या कर दूंगा. बता दें कि हाल ही में तेज बहादुर यादव का नामांकन रद्द हो गया था. सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस वीडियो की ज़ी न्यूज पुष्टि नहीं करता है.


कोई भारतीय पैसे देगा तो मार दूंगा- तेज बहादुर यादव
सोशल मीडिया में वायरल हो रहे वीडियो में तेज बहादुर यादव के साथ बैठा एक शख्स उनसे कहता दिख रहा है कि आप 24 घंटों में मोदी को मार दोगे. इस पर तेज बहादुर कहते हैं कि 50 करोड़ दिलवा दो तो मार दूंगा. इसके बाद दूसरे शख्स ने कहा कि भारत में तो कोई पैसे देगा नहीं, पाकिस्तान से ही मिल सकता है. इसके जवाब में तेज बहादुर ने कहते हैं कि मैं अपने देश के लिए वफादार हूं. देश से गद्दारी नहीं करूंगा. अगर यहां का कोई 50 करोड़ देगा तो अकाउंट में पैसा आने के 72 घंटे में मोदी को मार दूंगा.

तेज बहादुर का बयान हैरान करने वाला- बीजेपी
इस वीडियो पर बीजेपी नेता जीवीएल नरसिम्हा राव ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि सपा प्रत्याशी तेज बहादुर यादव का बयान काफी हैरान करने वाला है. हम वीडियो में देख सकते हैं कि वह कैसे कुछ लोगों के समूह को 50 करोड़ रुपये के लिए पीएम नरेंद्र मोदी की हत्या करने की साजिश की बात कर रहा है. जीवीएल ने कहा कि कांग्रेस जैसी पार्टियां सरकार के बजाय ऐसी असामाजिक ताकतों के पीछे खड़ी हो जाती हैं, जो चिंता का विषय है. उन्होंने कहा कि तथ्य यह है कि उन्हें सपा ने वाराणसी से अपना प्रत्याशी घोषित किया था. राव ने कहा कि हम इसकी निंदा करते हैं और अपेक्षा रखते हैं कि सभी एजेंसियां इस धमकी को लेकर ध्यान देंगी. 

नामांकन रद्द होने पर तेज बहादुर पहुंचे सुप्रीम कोर्ट
वाराणसी लोकसभा सीट (Varanasi lok sabha seat) पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने चुनौती देने के लिए उतरे पूर्व सैनिक तेज बहादुर यादव नामांकन रद्द होने के बाद सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए हैं. तेज बहादुर ने चुनाव आयोग के नामांकन रद्द करने के फैसले को दी चुनौती है. तेज बहादुर ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है. याचिका में चुनाव आयोग के फैसले को रद्द करने की मांग की गई है. तेज बहादुर बीएसएफ के बर्खास्त जवान हैं. चुनाव आयोग ने तकनीकी आधार पर तेज बहादुर का नामांकन रद्द कर दिया था. 

सपा ने किया था तेज बहादुर को समर्थन
सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के बर्खास्त सिपाही तेज बहादुर यादव के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ वाराणसी से चुनाव लड़ने के मंसूबों पर पानी फिर गया है. तेज बहादुर का नामांकन रद्द हो गया. इसकी जानकारी उन्होंने स्वयं दी. निर्वाचन अधिकारी की ओर से जारी किए गए दो नोटिसों का जवाब देने तेज बहादुर यादव बुधवार को अपने वकील के साथ निर्वाचन अधिकारी से मिलने पहुंचे. जिसके बाद निर्वाचन अधिकारी तेज बहादुर के नामांकन पत्र को खारिज कर दिया.

Advertisements
%d bloggers like this: