Sunday, July 25, 2021

दिल्ली से पैदल चले मजदूर की बनारस में मौत, पैसे के अभाव में लाश तक देखने नहीं आये परिजन, पुलिस ने किया अंतिम संस्कार….

पुलिस अधीक्षक द्वारा की गयी मासिक अपराध गोष्ठी में अपराधों की समीक्षा व रोकथाम हेतु दिये गये आवश्यक दिशा-निर्देश

Maharajganj: पुलिस अधीक्षक महराजगंज प्रदीप गुप्ता द्वारा आज दिनांक 17.07.2021 को पुलिस लाइन्स स्थित सभागार में मासिक अपराध गोष्ठी में कानून-व्यवस्था की...

शायर मुनव्वर राना के बोल, ‘दोबारा सीएम बने योगी तो यूपी छोड़ दूंगा’

लखनऊ: मशहूर शायर मुनव्वर राना एक बार फिर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं।उन्होंने कहा कि अगर योगी आदित्यनाथ दोबारा...

Maharajganj: CO सुनील दत्त दूबे द्वारा कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस महानिदेशक जोन गोरखपुर ने प्रशस्ति पत्र से नवाजा।

Maharajganj/Farenda: सीओ फरेन्दा सुनील दत्त दूबे को थाना पुरन्दरपुर में नवीन बीट प्रणाली के क्रियान्वयन में कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस...

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...

महराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतर्गत SBI कृषि विकास शाखा के सामने से मोटरसाइकिल चोरी

Maharajganj: महाराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतगर्त मंगलवार को बृजमनगंज रोड पर भारतीय स्टेट बैंक कृषि विकास शाखा के ठीक...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

रोहनिया।(वाराणसी)दिल्ली से पैदल बेगूसराय जा रहे रामजी महतो की मौत के बाद उसकी मां और बहन ने बनारस आकर उनके शव लेने में तक असमर्थता इसलिए जताई क्योंकि उनके पास नहीं था एक भी पैसा… रोहनिया।(वाराणसी) दिल्ली से पैदल बेगूसराय के लिए निकले रामजी महतो की बनारस पहुंचते-पहुंचते सांसें उखड़ गयीं, उनके शरीर ने उनका साथ छोड़ दिया। यह घटना 16 अप्रैल की है। मगर उनकी बहन और मां उनकी लाश ले जाने में इसलिए असमर्थ थे, क्योंकि इस गरीब-मजदूर परिवार के पास लॉकडाउन की त्रासदियों के बीच एक भी फूटी कौड़ी नहीं थी। हालांकि बनारस जनपद के रोहनिया चौकी इंचार्ज गौरव पांडेय ने रामजी महतो के परिजनों को आर्थिक मदद देने की बात कही, मगर लॉकडाउन के बीच दोनों बनारस तक पहुंचें कैसे यह बड़ी परेशानी थी। रामजी की मां और बहन ने उन्हें बताया कि उनके रिश्तेदार बनारस में ही रहते हैं और वह पोस्टमार्टम के समय पहुंचेंगे। हालांकि गुरुवार 16 अप्रैल की देर रात तक रोहनिया थाने की पुलिस ने किसी से संपर्क नहीं किया और जब पुलिस ने उनसे संपर्क साधा तो मौत की बात सुनते ही फोन स्विच आफ कर दिया, जिस कारण पुलिस को ही परिजनों और रिश्तेदारों की अनुपस्थिति में रामजी का अंतिम संस्कार करना पड़ा

रोहनिया चौकी इंचार्ज गौरव पांडेय कहते हैं, हमने पूरी कोशिश की कि रामजी के परिजन ही उनकी अंत्येष्टि करें, मगर जब वो लोग नहीं आ पाये तो हमने आज 20 अप्रैल की शाम को पोस्टमार्टम के बाद उनका अंतिम संस्कार कर दिया। अभी रामजी का अंतिम संस्कार करके ही लौटा हूं। रामजी महतो के मामले में शक जताया जा रहा था कि शायद वह कोरोना पॉजिटिव हो, मगर उसकी रिपोर्ट नेगेटिव आयी है।’ वहीं रोहनिया थाना प्रभारी निरीक्षक पी आर त्रिपाठी ने से हुई बातचीत में कहा, ‘जब पैदल चल रहा रामजी महतो गिरा तो उसकी सांसें तेज चल रही थीं। लोगों ने एंबुलेंस को फोन किया, मगर एंबुलेंस कर्मियों ने उसे हाथ नहीं लगाया। एंबुलेंस कर्मियों का कहना था कि क्या पता रामजी कोरोना संदिग्ध हो और उनके पास सुरक्षा किट भी नहीं है। रामजी सड़क पर तड़पता रहा, उसके बाद मौके पर पहुंचे मोहनसराय चौकी प्रभारी ने एंबुलेंस कर्मियों को फटकारा और उसे अस्पताल की तरफ ले गये, मगर तब तक रामजी की मौत हो चुकी थी।’
इस मामले में रामजी महतो की बहन नीला देवी कहती है, मेरा भाई फोन पर कह रहा था कि उसे भूख नहीं लग रही है, घर आ रहा हूं। रामजी की बहन नीला देवी ने मोहनसराय चौकी इंचार्ज को फोन पर बताया कि वह पानी सप्लाई करने वगैरह की कोई गाड़ी चलाता था। 3 दिन पहले यानी 13 अप्रैल को फोन कर कहा था कि बहन तबीयत ठीक नहीं लग रही है। भूख भी नहीं लग रही है, तो हमने उससे कहा था कि लॉकडाउन में मत आना। वहीं सरकारी अस्पताल में डॉक्टर को दिखाकर इलाज करा लेना। मगर उसने हमारी बात नहीं मानी और पैदल ही घर के लिए निकल पड़ा। प्रवासी मजदूर रामजी महतो की मौत होने के बाद उसकी मां और बहन ने बनारस आकर शव लेने में असमर्थता जताई और कहा कि हमारे पास न पैसा है और न ही साथन, हम बनारस कैसे पहुंचेंगे, तो चौकी इंचार्ज ने आर्थिक मदद देने की बात कही, मगर वह लॉकडाउन के चलते नहीं आ पाये और कहा कि हमारे रिश्तेदार पोस्टमार्टम के बाद पहुंच जायेंगे अंत्येष्टि के वक्त, मगर जब पुलिस ने रामजी के रिश्तेदार को फोन किया तो उन्होंने मौत की बात सुनते ही मोबाइल फोन स्विच ऑफ कर दिया। इस घटना को लेकर पुलिस के रवैये की तारीफ हो रही है, खासकर चौकी इंचार्ज गौरव पांडेय द्वारा दिखायी गयी इंसानियत की। जब एक मजदूर सड़क पर तड़प रहा था और एंबुलेंस वाले उसे हाथ तक नहीं लगा रहे थे तो उन्होंने आगे बढ़कर मदद की और उसे अस्पताल के लिए ले गये, मगर बीच में ही रामजी की मौत हो गयी। हालांकि देशभर से पुलिस द्वारा की जा रही अमानवीयता और निर्ममता की भी कई तस्वीरें सामने आ रही हैं, खासकर यूपी पुलिस की अमानवीयता की तो कोरोना लॉकडाउन के बीच खासी निंदा हो रही है, मगर रोहनिया पुलिस चौकी इंचार्ज की यह इंसानियत उम्मीद जगाती है कि इंसानियत अभी जिंदा है। पुलिस द्वारा दिखायी गयी इंसानियत पर बीएचयू के पूर्व प्रोफेसर चौथी राम यादव उसका शुक्रिया जताते हुए कहते हैं, ‘लॉकडाउन गरीब मजदूरों पर कहर बनकर टूट रहा है। लॉकडाउन में काम धंधे ठप हैं, यातायात बन्द है, ऐसे में ज्यादातर कामगर भूखे प्यासे सैकड़ों किलोमीटर का सफर पैदल ही तय कर रहे हैं। ये हैं रामजी महतो जो दिल्ली से चलकर बेगूसराय जाते समय बनारस पहुंचते पहुंचते हाईवे पर मूर्छित हो गिर पड़े, सांसें चल रही थीं, लेकिन लोग तमाशबीन बने रहे। यह तो भला हो मोहन सराय चौकी इंचार्ज गौरव पांडेय का जो सूचना पाकर पहुंचे और तुरंत एम्बुलेंस बुलाकर भरसक जान बचाने की कोशिश की, लेकिन रामजी ने बीच में ही दम तोड़ दिया। परिवार वालों ने आर्थिक तंगी के चलते आने से मना कर दिया। गौरव पांडेय की संवेदनशीलता सराहनीय है।

ये भी पढ़े :  ‘अपना दल’ को अपनाने की तैयारी में अखिलेश यादव, क्या मोदी सरकार को दे पाएंगे जोर का झटका?

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

यूपी में कई IPS बदले गए,दिनेश कुमार गोरखपुर के नए एसएसपी.

कई IPS के तबादले हुए जिसमे गोरखपुर के एसएसपी जोगेंद्र कुमार को झाँसी का नया डीआईजी बनाया...

बड़े पैमाने पर हुआ सीओ का तबादला,125 सीओ किये गए इधर से उधर….

उत्तर प्रदेश में बड़े पैमाने पर सीओ यानी उपाधीक्षकों के तबादले किये गए।।125 उपाधीक्षकों का तबादला किया...

तंत्र-मंत्र के चक्कर में फंसी बहू, सिद्धि के लिए दे दी अपने ही ससुर की बलि

उत्तर प्रदेश के कौशांबी में तंत्र-मंत्र के चक्कर में फंस कर एक बहू ने अपने ही ससुर...
%d bloggers like this: