Wednesday, September 23, 2020

प्रयागराज के शोधार्थी ने रचा इतिहास गंगा की मिट्टी से बनाई बिजली, राष्ट्रपति करेंगे सम्मानित

कैन्ट थानान्तर्गत मारपीट व फायरिंग में संलिप्त दो अभियुक्तों के ऊपर एसएसपी ने 25-25 हजार रूपये धनराशि के पुरस्कार की घोषणा ….

गोरखपुर। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गोरखपुर द्वारा अपराध एवं अपराधियों पर अंकुश लगाये जाने हेतु किये जा रहे कार्यवाही...

अभी-अभी गोरखपुर एसएसपी ने की बड़ी कार्रवाई 4 उप निरीक्षक का किया तबादला इनको मिली जिम्मेदारी….

अभी-अभी गोरखपुर एसएसपी ने की बड़ी कार्रवाई 4 उप निरीक्षक का किया तबादला इनको मिली जिम्मेदारी….

CM सिटी के गोरखपुर से वाराणसी NH-29 सड़क बड़ी महामारी का शिकार,चलें सम्भल कर 2019 में बनने वाली सड़क को न जाने कितने वर्ष...

CM सिटी के गोरखपुर से वाराणसी NH-29 सड़क बड़ी महामारी शिकार,चलें सम्भल कर न जाने कितने वर्ष लगेंगे बनने में ….

कोरोना जांच कैंपों की ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने की समीक्षा बैठक…

गोरखपुर। शासन के निर्देशानुसार जिला अधिकारी के विजयेंद्र पांडियन के निर्देशन में ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/ एसडीएम सदर गौरव सिंह...

“प्रेम की नइया,राम के भरोसे” फिल्म से निर्देशन के क्षेत्र में पर्दापण करेंगे संतोष श्रीवास्तव,हुआ मुहूर्त…

आज हम सभी को एक ऐसे शख्स से रूबरू करना चाहते हैं जो भोजपुरी की लगभग 300 से ज्यादा फिल्में बतौर हास्य...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

prayagraj news

मोतीलाल नेहरू राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एमएनएनआईटी) के होनहार शोधार्थी जितेंद्र प्रसाद ने गंगा की मिट्टी से बिजली उत्पादन की तकनीक विकसित की है। जितेंद्र को इस अभिनव शोध के लिए राष्ट्रपति के हाथों ‘गांधीवादी यंग टेक्नोलॉजिकल इनोवेशन (ज्ञाति) अवार्ड’ से सम्मानित किया जाएगा। शोधछात्र जितेंद्र पिछले चार वर्षों से इस शोध कार्य में लगे हुए थे और कड़ी मेहनत के बाद उन्हें यह उपलब्धि हासिल हुई। एमएनएनआईटी के शोध छात्र जितेंद्र प्रसाद प्रो. रमेश कुमार त्रिपाठी के अधीन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग में पीएचडी कर रहे हैं। 

ये भी पढ़े :  सोशल डिस्टनसिंग का नायाब तरीका

जितेंद्र ने गंगा नदी की मिट्टी से बिजली उत्पादन की जो तकनीक विकसित की है, उसके तहत पहले 12 वोल्ट की बैटरी को चार्ज किया और फिर इसे 230 वोट के एसी वोल्टेज में बदलकर बिजली के बल्ब को नौ घंटे तक जलाया। इसके लिए जितेंद्र ने प्रयोगशाला में रोज 14-14 घंटे तक काम किया और चार वर्षों की कड़ी मेहनत के बाद इस टेक्नोलॉजी को विकसित किया।

ये भी पढ़े :  यदि आपके पास जीवन बीमा पॉलिसी है तो इन बातों को जरूर जाने ।

इस टेक्नोलॉजी के जरिए न सिर्फ दूर-दराज के इलाकों को बिजली मिलेगी, बल्कि इलेक्ट्रॉनिक्स डिवाइस, सैन्य वायरलेस को शक्ति का स्नोत प्रदान करने में भी यह तकनीक काम आएगी। यह नवाचार इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के लिए एक शक्ति स्नोत के रूप में भी सुविधा प्रदान करेगा। इस तकनीक से बिजली उत्पादन में किसी तरह का प्रदूषण नहीं होता है। जितेंद्र का यह अभिनव शोध भविष्य में अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। 

अपने गांव में अकेले इंजीनियरिंग हैं जितेंद्र 

जितेंद्र का जन्म गाजीपुर के शक्करपुर गांव के छोटे परिवार में हुआ था। उनके पिता रामकृत प्रजापति सेतु निगम में इलेक्ट्रीशियन के पद से रिटायर हो चुके हैं और मां ग्रहणी हैं। जितेंद्र अपने गांव में टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में बीएटेक, एमटेक और पीएचडी करने वाले एकमात्र युवा हैं। जितेंद्र ने एमएनएनआईटी में 2016 से पीएचडी कर रहे हैं। उन्हें पीएचडी के दौरान भी मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी गवर्नमेंट ऑफ इंडिया से स्कॉलरशिप मिल रही है। 

ये भी पढ़े :  सड़क के किनारे मिले शव की हुई पहचान

देश भर से अवार्ड के लिए चुने गए सात शोधार्थी 

पूरे भारत से ‘गांधीवादी यंग टेक्नोलॉजिकल इनोवेशन (ज्ञाति) अवार्ड’ के लिए सात शोधार्थियों को चुना गया है। इस प्रतिष्ठित पुरस्कार की सेलेक्शन कमेटी में पांच पद्मश्री और दो पद्मविभूषण प्राप्त वैज्ञानिक एवं अन्य आईआईटी के प्रोफेसर थे, जिन्होंने जितेंद्र प्रसाद का साक्षात्कार लिया। भारत के 31 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान में सिर्फ एमएनएनआईटी इलाहाबाद के जितेंद्र प्रसाद को यह अवार्ड मिला है।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

याद आई तो 25 दिन बाद फिर महराजगंज के गांव पहुँचा फ्रांसीसी परिवार,लॉकडाउन में 5 महीने यही हँसी-खुशी गुजारा दिन-रात…..

महराजगंज लॉकडाउन शुरू होने के समय ही विश्व भ्रमण पर निकला फ्रांसीसी परिवार इंडो-नेपाल सीमा सील होने के कारण कोल्हुआ शिव मंदिर...

रामप्रवेश यादव की पैतृक संपत्ति कुर्क करना न्याय संगत नहीं :ब्रह्माशंकर त्रिपाठी

पूर्व कैबिनेट मंत्री ब्रह्माशंकर त्रिपाठी देवरिया में जिला पंचायत सदस्य राम प्रकाश यादव को सरकार के इशारे पर...

पुलिस का चालान काटना पड़ा भारी, युवक ने दे दी जान

यूपी के मिर्ज़ापुर से एक बड़ा मामला सामने आ है। दरअसल मिर्ज़ापुर गैपुरा में मोटरसाइकिल पर तीन...
%d bloggers like this: