Monday, January 18, 2021

प्रयागराज के शोधार्थी ने रचा इतिहास गंगा की मिट्टी से बनाई बिजली, राष्ट्रपति करेंगे सम्मानित

AAP सांसद संजय सिंह को मिली जाने मारने की धमकी, ‘हिंदू वाहिनी’ पर आरोप, दर्ज कराई शिकायत

आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने नार्थ एवेन्यू थाने में जान से मारने की धमकी दिए जाने की शिकायत दर्ज...

प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के स्वच्छ भारत अभियान को मुंह दिखा रहा कैम्पियरगंज तहसील

प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के स्वच्छ भारत अभियान को मुंह दिखा रहा कैम्पियरगंज तहसील।। कैंपियरगंज -जहां देश के प्रधानमंत्री और...

कौड़ीराम:-वरिष्ठ भाजपा नेता मार्कण्डेय राय व महन्थ सिंह ने राम मंदिर निर्माण में 51000 तथा 25000 का किया सहयोग

कौड़ीराम में मन्दिर निर्माण हेतु निकाली गई भव्य जनयात्रा ----वरिष्ठ भाजपा नेता द्वारा राम मंदिर निर्माण में 51000 का...

अयोध्या में बनने वाले भव्य श्रीराम मंदिर के लिए गोरखपुरवासियों ने खोले हाथ,दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री व दो डॉक्टरो ने दिए ढाई-ढाई लाख…

आयोध्या में बनने वाले भव्य श्रीराममंदिर के निर्माण हेतु चलाए जा रहे श्रीरामजन्मभूमि निधि समर्पण अभियान को लेकर गोरखपुर में काफी उत्साह...

“तांडव” के विरोध में सड़क पर उतरे शिव राष्ट्र सेना के कार्यकर्ता….

आज शिव राष्ट्र सेना गोरखपुर के कार्यकर्ताओं ने वेब सीरीज तांडव का विशाल प्रदर्शन पुतला फूंका जिसका वेब सीरीज में हिंदुओं के...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

prayagraj news

मोतीलाल नेहरू राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एमएनएनआईटी) के होनहार शोधार्थी जितेंद्र प्रसाद ने गंगा की मिट्टी से बिजली उत्पादन की तकनीक विकसित की है। जितेंद्र को इस अभिनव शोध के लिए राष्ट्रपति के हाथों ‘गांधीवादी यंग टेक्नोलॉजिकल इनोवेशन (ज्ञाति) अवार्ड’ से सम्मानित किया जाएगा। शोधछात्र जितेंद्र पिछले चार वर्षों से इस शोध कार्य में लगे हुए थे और कड़ी मेहनत के बाद उन्हें यह उपलब्धि हासिल हुई। एमएनएनआईटी के शोध छात्र जितेंद्र प्रसाद प्रो. रमेश कुमार त्रिपाठी के अधीन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग में पीएचडी कर रहे हैं। 

ये भी पढ़े :  भाजपा जिला उपाध्यक्ष गोरखपुर हरिकेश त्रिपाठी ने पेश की मानवता की मिसाल, सोशल मीडिया पर खूब हो रही प्रशंसा

जितेंद्र ने गंगा नदी की मिट्टी से बिजली उत्पादन की जो तकनीक विकसित की है, उसके तहत पहले 12 वोल्ट की बैटरी को चार्ज किया और फिर इसे 230 वोट के एसी वोल्टेज में बदलकर बिजली के बल्ब को नौ घंटे तक जलाया। इसके लिए जितेंद्र ने प्रयोगशाला में रोज 14-14 घंटे तक काम किया और चार वर्षों की कड़ी मेहनत के बाद इस टेक्नोलॉजी को विकसित किया।

ये भी पढ़े :  सियाचिन में जवान शहीद, गर्भवती पत्नी ने वीडियो काल कर किए अंतिम दर्शन

इस टेक्नोलॉजी के जरिए न सिर्फ दूर-दराज के इलाकों को बिजली मिलेगी, बल्कि इलेक्ट्रॉनिक्स डिवाइस, सैन्य वायरलेस को शक्ति का स्नोत प्रदान करने में भी यह तकनीक काम आएगी। यह नवाचार इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के लिए एक शक्ति स्नोत के रूप में भी सुविधा प्रदान करेगा। इस तकनीक से बिजली उत्पादन में किसी तरह का प्रदूषण नहीं होता है। जितेंद्र का यह अभिनव शोध भविष्य में अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। 

अपने गांव में अकेले इंजीनियरिंग हैं जितेंद्र 

जितेंद्र का जन्म गाजीपुर के शक्करपुर गांव के छोटे परिवार में हुआ था। उनके पिता रामकृत प्रजापति सेतु निगम में इलेक्ट्रीशियन के पद से रिटायर हो चुके हैं और मां ग्रहणी हैं। जितेंद्र अपने गांव में टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में बीएटेक, एमटेक और पीएचडी करने वाले एकमात्र युवा हैं। जितेंद्र ने एमएनएनआईटी में 2016 से पीएचडी कर रहे हैं। उन्हें पीएचडी के दौरान भी मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी गवर्नमेंट ऑफ इंडिया से स्कॉलरशिप मिल रही है। 

ये भी पढ़े :  जनपद में दो और मिले कोरोना संक्रमित

देश भर से अवार्ड के लिए चुने गए सात शोधार्थी 

पूरे भारत से ‘गांधीवादी यंग टेक्नोलॉजिकल इनोवेशन (ज्ञाति) अवार्ड’ के लिए सात शोधार्थियों को चुना गया है। इस प्रतिष्ठित पुरस्कार की सेलेक्शन कमेटी में पांच पद्मश्री और दो पद्मविभूषण प्राप्त वैज्ञानिक एवं अन्य आईआईटी के प्रोफेसर थे, जिन्होंने जितेंद्र प्रसाद का साक्षात्कार लिया। भारत के 31 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान में सिर्फ एमएनएनआईटी इलाहाबाद के जितेंद्र प्रसाद को यह अवार्ड मिला है।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

बलात्कार के बाद युवती का सर धड़ से किया अलग, आरोपी शेख बिलाल गिरफ्तार

झारखण्ड में बलात्कार की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं, एक हफ्ते पहले झारखंड की...

अपने शहर का महोत्सव “गोरखपुर महोत्सव 2021” आज से।

गोरखपुर में दो दिन तक चलने वाले गोरखपुर महोत्सव का आगाज आज मंगलवार से हुआ। सोमवार को देर रात तक प्रशासन समेत...

यूपी: पत्नी की विदाई नही कर रहे थे ससुराल वाले, नाराज पति ने अपने ससुराल में बम फेक दिया, और फिर….

प्रयागराज: नए वर्ष पर पत्नी की विदाई न होने से नाराज होकर कर्नलगंज के एक युवक ने ससुराल...
%d bloggers like this: