Thursday, September 24, 2020

देश विरोधी इस्लामी संगठन PFI को BMC ने दी बड़ी जिम्मेदारी, फडणवीस ने CM उद्धव से पूछा- क्या आप सहमत हो?

बिजली विभाग के निजीकरण को लेकर कर्मचारी कर रहे आंदोलन, कहा:विभाग बेच कर सरकार हमारे भविष्य को कर रही खराब…

निजीकरण को लेकर सरकार इस समय काफी अतिसक्रिय दिख रही।।इसी क्रम में पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम को निजी हाथों में देने का...

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोरोना से निधन,पीएम मोदी-सीएम योगी सहित अन्य नेताओं ने जताया शोक…

केंद्रीय रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी का निधन हो गया है। 65 वर्षीय अंगड़ी पिछले दिनों कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे और...

गोरखपुर की डॉ रेखा ने विश्व में किया गोरखपुर का नाम रोशन,अपनी प्रतिभा से लहराया परचम

गोरखनाथ की पावन भूमि गोरखपुर के लोगों ने वैश्विक स्तर पर अपने झंडे बुलंद किए हैं कठिन मेहनत और लगन के कारण...

अयोध्या में रामलीला को योगी सरकार की मिली मंजूरी

बॉलीवुड के कलाकार करेंगे रामलीला का मंचन.आमलोगों के लिए नहीं होगी एंट्री.सोसल मीडिया पर होगा रामलीला का...

गोरखपुर के डीएम के विजयेंद्र पांडियन हुए कोरोना पॉजिटिव इनको मिली डीएम की जिम्मेदारी…

डीएम के विजयेंद्र पांडियन कोरोना पाजिटिव मिले। एंटीजन जांच में हुई पुष्टि। rtpcr के लिए भेजा गया नमूना। होम आइसोलेट हुए। सीडीओ...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

BMC, PFI, मुसलमान, कोरोना

— देश विरोधी इस्लामी संगठन PFI को BMC ने दी बड़ी जिम्मेदारी, फडणवीस ने CM उद्धव से पूछा- क्या आप सहमत हो? लेख आप ऑपइंडिया वेबसाइट पे पढ़ सकते हैं —

शिवसेना शासित बृहन्मुम्बई महानगरपालिका (BMC) ने आतंकी संगठन ‘पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI)’ को मान्यता दी है। पूर्व-मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने BMC द्वारा PFI को मान्यता देने पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को निशाने पर लिया है। फडणवीस ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वो इस फ़ैसले से अचंभित हैं। उन्होंने कहा कि PFI को देश और समाज विरोधी गतिविधियों के लिए जाना जाता है। उसे मृत मुसलमान कोरोना मरीजों के शवों को दफनाने की जिम्मेदारी दे दी गई है।

ये भी पढ़े :  लोकसभा चुनाव से ठीक पहले सपा को लगा तगड़ा झटका, पूर्व सांसद राजनारायन बुधौलिया ने थामा भाजपा का दामन...

फडणवीस ने इससे सम्बंधित दस्तावेज शेयर करते हुए उद्धव से पूछा कि क्या वो इससे सहमत हैं? उन्होंने पूछा कि अगर मुख्यमंत्री इससे सहमत नहीं हैं तो क्या वो इस मामले में एक्शन लेंगे? साथ ही उन्होंने कुछ ख़बरों को शेयर करके बताया कि PFI कैसा संगठन है और BMC द्वारा इसे मान्यता देना क्यों ग़लत है। दरअसल, ये सब एक पत्र को लेकर शुरू हुआ जो BMC ने मुसलमानों के मृत शरीर को दफनाने को लेकर जारी किया है।

ये भी पढ़े :  महाराजगंज: इस गांव में नहीं पहुंच अभी भी बिजली, ग्रामीणों में आक्रोश....

इस पत्र में सभी अस्पतालों के इंचार्जों को निर्देश दिया है कि अगर किसी मुसलमान मरीज की कोरोना की वजह से मौत होती है तो वो ‘पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया’ (PFI) के उन पदाधिकारियों से संपर्क करेंगे, जिनकी सूची BMC ने जारी की है। BMC ने अपने निर्देश में PFI के 4 नेताओं के नाम जारी किए हैं- सईद चौधरी, इक़बाल ख़ान, सईद अहमद और सादिक़ कुरैशी। साथ ही इन सभी का मोबाइल नंबर भी पत्र में उपलब्ध कराया गया है।

Shocked to know that @mybmc giving legitimacy to organisation like Popular Front of India (PFI), allegedly known for anti-national & anti-social activities.
Hon CM @OfficeofUT ji do you agree to this?
If not, will you take strong action?
Sharing few links, See what is PFI? pic.twitter.com/KLcZoupBPh

— Devendra Fadnavis (@Dev_Fadnavis) June 2, 2020

मुसलमान कोरोना मरीजों की मौत होने के बाद उन्हें दफनाने के लिए BMC ने PFI की स्पेशल टास्क फोर्स को लगाया है। यानी, एक तरह से BMC ने इस तरह की एक बड़ी जिम्मेदारी उस PFI के कंधे पर डाल दी है, जिस पर दिल्ली दंगो सहित, CAA विरोधी दंगो जैसे तरह-तरह के आरोप लगते रहे हैं।

ये भी पढ़े :  'जिन लोगों ने मुझे वोट नहीं दिया, उनको मैंने रुला न दिया तो मेरा नाम अर्चना चिटनीस नहीं'....

दिल्ली में हुए हिंदू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस कट्टरपंथी इस्लामी संगठनों जैसे पॉपुलर फ्रंट ऑफ़ इंडिया (PFI), जामिया कोऑर्डिनेशन कमेटी (JCC) पिंजरा तोड़ और ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (AISA) से जुड़ी ‘स्टूडेंट एक्टिविस्ट्स’ की भी भूमिका थी। दिल्ली पुलिस की विशेष शाखा इस मामले के संबंध में गिरफ्तार किए गए 9 लोगों के व्हाट्सएप चैट, भाषणों और कथित तौर पर पीएफआई और विदेशों से प्राप्त धन की जाँच की थी।

ये भी पढ़े :  ‘आगरा में पिछले 48 घंटे में 28 मरे’: प्रियंका ने योगी सरकार को बदनाम करने के लिए फैलाया झूठ, प्रशासन ने खोली पोल

दो PFI कार्यकर्ताओं को कोरोना वायरस के संबंध में देश में प्रधानमंत्री व गृहमंत्री के ख़िलाफ़ नफरत भरे मैसेज फैलाने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया था।

शेष Opp India पर…

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

कृषि बिल: संसद के बाद अब सड़क पर चलेगी लड़ाई, कांग्रेस नवंबर तक करेगी प्रदर्शन…

कृषि बिल के विरोध में कांग्रेस बड़े अभियान की तैयारी कर रही है. कांग्रेस अपने आंदोलन को संसद से सड़क तक ले...

आमिर हुसैन के नेतृत्व सपा कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन, एसडीएम को ज्ञापन सौंपा…

महाराजगंज। कोरोना काल में हुए भ्रष्टाचार तथा पुलिसिया उत्पीड़न व किसान बिल के विरोध में आज जनपद...

सपा की बैठक में जनसमस्याओं को लेकर राज्यपाल को ज्ञापन भेजने का निर्णय…

महाराजगंज: समाजवादी पार्टी जनपद महाराजगंज की एक महत्वपूर्ण बैठक नवनियुक्त जिला अध्यक्ष आमिर हुसैन की अध्यक्षता में की गई बैठक में राष्ट्रीय...
%d bloggers like this: