Friday, October 18, 2019
Gorakhpur

दो गावों को जोड़ने वाले सम्पर्क मार्ग की स्थिति दयनीय

गोपीगंज,भदोही। ग्राम सड़क विकास योजना के तहत वर्तमान सरकार द्वारा ग्राम विकास के पहिए को रफ्तार देने की कार्य योजना बनाई गई, पर इस योजना का संतोषजनक लाभ मिलता नजर नहीं आ रहा है। यही हाल माधोसिंह रेलवे स्टेशन से एकमात्र कोठारी व करेरुआ मार्ग को जोड़ने वाले खड़ण्जे की है।जिसकी हालत बद से बदतर है। यहा खडण्जा करेरुआ व कोठारी गांव से होकर माधोसिंह रेलवे स्टेशन तक जोड़ने वाला एकमात्र ऐसा गांव है जहां से होकर मुर्दों को अन्त्येष्टि के लिये भोगांव गंगा तट ले जाते हैं।इस गांव में एक मांझा है औराई थाना क्षेत्र कमाधोसिंह रेलवे स्टेशन व करेरुआ, कोठरा गांव को जोड़ता है। काफी जर्जर व अत्यन्त दयनीय हालत के कारण इस मार्ग पर आवागमन करने में ग्रामीणों को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ा है। यह मार्ग करेरुआ व कोठारी गांव से निकलकर माधोसिंह रेलवे स्टेशन पहुंचता है तो इस मार्ग पर कुछ विद्यालय भी होने के कारण छोटे बच्चों का आवागमन भी इसी मार्ग से होता है। मार्ग के दयनीय स्थिति के कारण आवागमन करने से यहां के ग्रामीणों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। खड़ंजा की हालत अत्यंत दयनीय हो गई है।जगह ज़गह इस मार्ग पर ईंटे ढेर सारी निकल गई है। और काफी गड्ढे भी हो गए हैं।इस मार्ग को देख कर यह अनुमान लगाना भी मुश्किल है कि कभी सड़क पर खंजर भी हुआ करता था। इस सड़क के खराब होने से लोगों को लंबा सफर तय करना पड़ता है। ग्रामीणों के अनुसार इस मार्ग के संबंध में कई बार अधिकारियों से शिकायत भी की गई लेकिन कोई भी लाभ ग्रामीणों को नहीं मिल पा रहा है।करेरुआ निवासी पंडित बब्बू का कहना है कि यदि ग्राम प्रधान द्वारा बीच-बीच मे टूटी सड़क को ही दुरुस्त करा दिया जाय तो लोगों को इस मार्ग पर आवागमन से होने वाली मुसीबतों से छुटकारा मिल सकता है।

Advertisements
%d bloggers like this: