Friday, June 18, 2021

नकलविहीन परीक्षा से विद्यार्थियों में शैक्षिक गुणवत्ता होती है मजबूत

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडी

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडीकोरोना काल मे फर्जी अस्पतालों की आई बाढ़ (((अंगद राय की कलम से)))

महराजगंज के नगर पंचायत आनंद नगर में गैस सिलेंडर फटा, छः लोग जख्मी

Maharajganj: महाराजगंज जिले की नगर पंचायत आनंद नगर के धानी ढाला पर जमीर अहमद के मकान में सुबह 6:30 बजे खाना...

69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण के नियमों का बड़े पैमाने पर अव्हेलना को लेकर आज़ाद समाज पार्टी के जिलाध्यक्ष ने एसडीएम को सौंपा...

Maharajganj: 69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण के नियमों की बड़े पैमाने पर अवहेलना की गयी है जिसमें OBC वर्ग...

तेज रफ्तार कार से ऑटो की भिड़ंत, घायलों को पहुंचाया गया अस्पताल।

फरेंदा (महराजगंज): जनपद में हर रोज हो रहे सड़क हादसे चिंता का बड़ा सबब बनते जा रहे हैं। फरेंदा कस्बे के उत्तरी...

दूसरों की मदद करने से जो खुशी मिलती है वही असली आनंद :- पवन सिंह

कुछ करने से अगर खुशी की अनुभूति होती है तो उससे बढ़कर आनंद किसी में नहीं है। आनंद को शब्दों में व्यक्त...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

भदोही

ज्ञानपुर। शिक्षा प्राप्त करने के लिए बने स्कूल/कालेज को शिक्षा का मन्दिर कहा जाता है। शैक्षिक गुणवत्ता और उन्नयन के लिए प्रत्येक कक्षा की परीक्षा होना जरूरी होता है। परीक्षाओं में अनुचित साधनों के प्रयोग पर नियन्त्रण करके परीक्षा की शुचिता, पवित्रता पारदर्शिता व शान्तिपूर्ण सम्पन्न कराना बड़ा महत्वपूर्ण कार्य है। उत्तर प्रदेश में हाई स्कूल एवं इण्टरमीडिएट की परीक्षा में लाखों की संख्या में विद्यार्थी परीक्षा देते हैं। परीक्षा को नकलविहीन सम्पन्न कराना प्रदेश सरकार की बड़ी उपलब्धि है। नकलविहीन परीक्षा होने से विद्यार्थियों में शैक्षिक गुणवत्ता के साथ, स्वस्थ प्रतिस्पर्धा की भावना भी बलवती हुयी है। प्रदेश सरकार ने नकल विरोधी अधिनियम को कड़ाई से लागू किया है। माध्यमिक शिक्षा परिषद् उत्तर प्रदेश, प्रयागराज की बोर्ड परीक्षा के सम्पादन एवं अन्य कार्यों के लिए आनलाइन केन्द्र निर्धारण, आनलाइन पंजीकरण, आनलाइन मान्यता एवं आनलाइन डुप्लीकेट अंकपत्र/प्रमाण पत्र उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गयी है। इस व्यवस्था से परीक्षा की पारदर्शिता बनी रही। वर्ष 2017 में 11414 परीक्षा केन्द्र बनाये गये थे, जबकि 2018 में 06 लाख परीक्षार्थी बढ़ने के बावजूद आनलाइन केन्द्र निर्धारण व्यवस्था लागूू करने के कारण केवल 8549 परीक्षा केन्द्र बने। इससे केन्द्र निर्धारण प्रक्रिया पारदर्शी व तार्किक बनी। प्रदेश सरकार की इस व्यवस्था से केन्द्रों के धारण क्षमता का पूर्ण उपयोग किया गया तथा निरीक्षण एवं पर्यवेक्षण वित्तीय व्यय-भार में कमी आयी और नकल पर प्रभावी अंकुश लगा है। परीक्षा की शुचिता बनाये रखने के लिए प्रदेश सरकार ने नकल की समस्याओं को कम करने के लिए वायस रिकार्डर युक्त सीसीटीवी कैमरों, क्रमांकित उत्तर पुस्तिकाओं की व्यवस्था की गयी तथा कक्षा-9 व 11 के विद्यार्थियों का आधार लिंक आनलाइन अग्रिम पंजीकरण कराया गया। इससे वर्ष 2019 में वाह्य प्रदेशों से व्यक्तिगत परीक्षार्थी के रूप में पंजीकरण कराने वाले छात्र/छात्राओं की संख्या 2019 में मात्र 6,595 रह गयी, जबकि 2017 मंे यह संख्या 1,50,209 थी।
नकल के सभी आयामों यथा-सामूहिक नकल, साल्वर के माध्यम से परीक्षा, डुप्लीकेट काॅपी इत्यादि पर एक साथ अंकुश के परिणामस्वरूप वर्ष 2018 में 12.26 लाख परीक्षार्थियों द्वारा परीक्षा छोड़ी गयी। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के कुशल नेतृत्व में विद्यार्थियों के व्यापक ज्ञान एवं शैक्षिक गुणवत्ता तथा उन्नयन हेतु सत्र 2018-19 से एन0सी0ई0आर0टी0, नई दिल्ली द्वारा निर्धारित हाई-स्कूल स्तर पर 03 विषय- गणित, विज्ञान, सामाजिक विज्ञान तथा इण्टरमीडिएट स्तर पर 09 विषय- भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान, गणित, इतिहास, भूगोल, अर्थशास्त्र, नागरिक शस्त्र, समाजशास्त्र की पाठ्य पुस्तकों को प्रदेश में अंगीकृत किया गया है।
प्रदेश के सभी विद्यार्थियों को एन0सी0ई0आर0टी0 के समान गुणवत्ता की पाठ्य-पुस्तकें लगभग 66 प्रतिशत कम मूल्य पर मुद्रित कराकर उपलब्ध करायी गयी हैं। इसी प्रकार विद्यार्थियों के व्यक्तित्व एवं कौशल विकास हेतु व्यावसायिक शिक्षा के अन्तर्गत आटोमोबाइल, रिटेल, सिक्योरिटी, आई0टी0 माध्यमिक शिक्षा परिषद् उत्तर प्रदेश, प्रयागराज के पाठ्यक्रम में शामिल किया गया है।

ये भी पढ़े :  गोरखपुर के इस होमगार्ड को सलाम हाथ फ्रेक्चर के बावजूद संभाल रहा ट्रैफिक
ये भी पढ़े :  कल गोरखपुर आ रहे सीएम योगी नए साल में देंगे तोहफे....

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडी

दूसरों की मदद करने से जो खुशी मिलती है वही असली आनंद :- पवन सिंह

कुछ करने से अगर खुशी की अनुभूति होती है तो उससे बढ़कर आनंद किसी में नहीं है। आनंद को शब्दों में व्यक्त...

शहीद नवीन सिंह के परिवार को पवन सिंह ने दिया सहयोग।

जम्मू कश्मीर में शहीद हुए गोरखपुर निवासी...
%d bloggers like this: