Friday, June 18, 2021

निर्भया गैंगरेप केस : पटियाला हाउस कोर्ट ने नया डेथ वारंट जारी करने से किया इनकार , कोर्ट ने कहा – फांसी देना अनैतिक होगा ।

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडी

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडीकोरोना काल मे फर्जी अस्पतालों की आई बाढ़ (((अंगद राय की कलम से)))

महराजगंज के नगर पंचायत आनंद नगर में गैस सिलेंडर फटा, छः लोग जख्मी

Maharajganj: महाराजगंज जिले की नगर पंचायत आनंद नगर के धानी ढाला पर जमीर अहमद के मकान में सुबह 6:30 बजे खाना...

69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण के नियमों का बड़े पैमाने पर अव्हेलना को लेकर आज़ाद समाज पार्टी के जिलाध्यक्ष ने एसडीएम को सौंपा...

Maharajganj: 69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण के नियमों की बड़े पैमाने पर अवहेलना की गयी है जिसमें OBC वर्ग...

तेज रफ्तार कार से ऑटो की भिड़ंत, घायलों को पहुंचाया गया अस्पताल।

फरेंदा (महराजगंज): जनपद में हर रोज हो रहे सड़क हादसे चिंता का बड़ा सबब बनते जा रहे हैं। फरेंदा कस्बे के उत्तरी...

दूसरों की मदद करने से जो खुशी मिलती है वही असली आनंद :- पवन सिंह

कुछ करने से अगर खुशी की अनुभूति होती है तो उससे बढ़कर आनंद किसी में नहीं है। आनंद को शब्दों में व्यक्त...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया गैंगरेप और हत्या मामले के दोषियों को फांसी देने के लिए नयी तारीख की मांग करने वाली तिहाड़ जेल अधिकारियों की याचिका शुक्रवार को खारिज कर दी । अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश धमेंद्र राणा ने दिल्ली हाईकोर्ट के पांच फरवरी के उस आदेश पर गौर किया , जिसमें चारों दोषियों को एक सप्ताह के भीतर कानूनी उपचार का उपयोग करने की अनुमति दी गई थी । कोर्ट ने कहा , ‘ जब दोषियों को कानून जीवित रहने की इजाजत देता है , तब उन्हें फांसी पर चढ़ाना पाप है । हाईकोर्ट ने पांच फरवरी को न्याय के हित में दोषियों को इस आदेश के एक सप्ताह के अंदर अपने कानूनी उपचार का इस्तेमाल करने की इजाजत दी थी ।न्यायाधीश ने कहा, ‘ मैं दोषियों के वकील की इस दलील से सहमत हूं कि महज संदेह और अटकलबाजी के आधार पर मौत के वारट को तामील नहीं किया जा सकता है ।इस तरह , यह याचिका खारिज की जाती है । जब भी जरूरी हो तो सरकार उपयुक्त अर्जी देने के लिए स्वतंत्र है । कोर्ट तिहाड़ जेल प्रशासन की याचिका पर सुनवाई कर रही है जिसमें दोषियों के खिलाफ मौत का नया वारंट जारी करने की मांग की गई है ।

ये भी पढ़े :  आठ और ट्रेनों से सात हजार श्रमिकों की घर वापसी, आज लखनऊ पहुंचेगी श्रमिक ट्रेन
ये भी पढ़े :  दिव्य ज्योति जागृति संस्थान द्वारा चम्पा देवी पार्क में होगा 8 से 14 दिसंबर तक श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन...

वहीं सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में शुक्रवार को कहा कि वह दिल्ली हाईकोर्ट के एक फैसले को चुनौती देने वाली केंद्र की याचिका पर 11 फरवरी को सुनवाई करेगा । हाईकोर्ट ने चार दोषियों की फांसी पर रोक लगाने के खिलाफ दायर केंद्र की याचिका को खारिज कर दिया गया था । न्यायमूर्ति आर भानुमति की अगुवाई वाली पीठ ने सॉलीसीटर जनरल तुषार मेहता के । इस आग्रह को स्वीकार नहीं किया कि केंद्र की याचिका पर चारों दोषियों को नोटिस जारी की जाए ।

पीठ ने मेहता को बताया कि वह 11 फरवरी को उनको सुनेगी और विचार करेगी कि दोषियों को नोटिस जारी करने की जरूरत है या नहीं । इस पीठ में न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति ए. एस. बोपन्ना भी शामिल थे । सुनवाई की शुरुआत में मेहता ने अदालत को बताया कि मामले में राष्ट्र के धैर्य की परीक्षा ली जा रही है और पीठ को इस मुद्दे पर कानून बनाना होगा ।

ये भी पढ़े :  दिव्य ज्योति जागृति संस्थान द्वारा चम्पा देवी पार्क में होगा 8 से 14 दिसंबर तक श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन...

निचली अदालत ने डेथ वारंट पर लगाई थी रोक

निचली अदालत ने मामले में चारों दोषियों मुकेश कुमार सिंह ( 32 ) , पवन गुप्ता ( 25 ) , विनय कुमार शर्मा ( 26 ) और अक्षय कुमार ( 31 ) की फांसी पर अगले आदेशों तक 31 जनवरी कोरोक लगा दी थी । अपनी याचिका में तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने कहा कि राष्ट्रपति पहले ही तीन दोषियों की दया याचिकाओं को खारिज कर चुके है और इस समय चारों में से किसी का भी आवेदन किसी भी अदालत के समक्ष लंबित नहीं है । पवन ने अब तक सुधारात्मक याचिका दायर नहीं की है । पवन के पास दया याचिका दाखिल करने का भी विकल्प है ।

Surya Srivastsva (S.E.O.)

Gorakhpur Times Media

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडी

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडीकोरोना काल मे फर्जी अस्पतालों की आई बाढ़ (((अंगद राय की कलम से)))

दूसरों की मदद करने से जो खुशी मिलती है वही असली आनंद :- पवन सिंह

कुछ करने से अगर खुशी की अनुभूति होती है तो उससे बढ़कर आनंद किसी में नहीं है। आनंद को शब्दों में व्यक्त...

फिल्‍मी स्‍टायल में कुछ इस तरह लाल जोड़े में दुल्हन का रूप धारण कर प्रेमिका की शादी में पहुंच गया प्रेमी और खुल गयी...

भदोही. जिले में एक युवक ने प्रेमिका से मिलने का ऐसा प्लान बनाया कि मामला खुलने के बाद लोगों ने दांतो तले...
%d bloggers like this: